PPF Investment: पीपीएफ में निवेश का अपनाएं ये तरीका, आराम से बन जाएंगे करोड़पति | The Financial Express

करोड़पति स्कीम: 22 साल में 5% घटा PPF पर ब्याज, फिर भी कमाल की है ये स्कीम, क्या है वजह

22 साल के दौरान पीपीएफ के सालाना ब्याज दरों में 5 फीसदी से कमी आ चुकी है. उसके बाद भी ये स्कीम बड़े काम की है.

करोड़पति स्कीम: 22 साल में 5% घटा PPF पर ब्याज, फिर भी कमाल की है ये स्कीम, क्या है वजह
PPF खासतौर से लांग टर्म निवेश की प्लानिंग करने वालों के लिए बेहद पॉपुलर विकल्प है. (File)

Post Office PPF Calculator: पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) खासतौर से लांग टर्म निवेश की प्लानिंग करने वालों के लिए बेहद पॉपुलर विकल्प है. 15 साल मेच्योरिटी पीरियड होने के चलते यह लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा देती है. वहीं इस सरकारी स्कीम में निवेश करने पर रिटर्न की गारंटी मिलती है. बच्चों की पढ़ाई, शादी ब्याह से लेकर रिटायरमेंट के लिए बहुत से लोग इस स्माल सेविंग्स स्कीम में पैसा लगाते हैं. लेकिन पिछले कुछ सालों के रिटर्न पर नजर डालें तो यह अब पहले जैसा आकर्षक नहीं रह गया है. 22 साल के दौरान पीपीएफ के सालाना ब्याज दरों में 5 फीसदी से कमी आ चुकी है. उसके बाद भी ये स्कीम बड़े काम की है. अनुशासित होकर निवेश करें तो इससे करोड़पति बनना आसान है. वहीं रेपो रेट में लगातार इजाफे के बाद मौजूदा ब्याज दरों में भी आगे बढ़ोतरी हो सकती है.

Short Term Stock Tips: 1 महीने के लिए करना है निवेश, मिल सकता है 8%-16% रिटर्न, इन 4 शेयरों पर लगाएं दांव

1 जनवरी 2000 से 8 अगस्त 2022: 22 साल में 5% घटा ब्याज

जनवरी 2000 में ब्याज दर: 12%
15 जनवरी 2000 से 28 फरवरी 2001: 11% (-1%)
1 मार्च 2001 से 28 फरवरी 2002: 9.50% (-1.5)
1 मार्च 2002 से 28 फरवरी 2003: 9.00% (-0.5)
1 मार्च 2003 से 30 नवंबर 2011: 8.00% (-1%)
1 दिसंबर 2011 से 31 दिसंबर 2012: 8.60% (0.6%)
1 अप्रैल 2012 से 31 मार्च 2013: 8.80% (0.2%)
1 अप्रैल 2013 से 31 मार्च 2014: 8.70% (-0.1%)
1 अप्रैल 2014 से 31 मार्च 2015: 8.70% (0%)
1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2016: 8.70% (0%)
1 अप्रैल 2016 से 30 जून 2016: 8.10% (-0.6%)
1 जुलाई 2016 से 30 सितंबर 2016: 8.10% (0%)
1 अक्टूबर 2016 से 31 दिसंबर 2016: 8.00% (-0.1%)
1 जनवरी 2017 से 31 मार्च 2017: 8.00% (0%)
1 अप्रैल 2017 से 30 जून 2017: 7.90% (-0.1%)
1 जुलाई 2017 से 30 सितंबर 2017: 7.80% (-0.1%)
1 अक्टूबर 2017 से 26 दिसंबर 2017: 7.80% (0%)
1 जनवरी 2018 से 31 मार्च 2018: 7.60% (-0.2%)
1 अप्रैल 2018 से 30 जून 2018: 7.60% (0%)
1 जुलाई 2018 से 30 सितंबर 2018: 7.60% (0%)
1 अक्टूबर 2018 से 31 दिसंबर 2018: 8.00% (0.4%)
1 जनवरी 2019 से 31 मार्च 2019: 8.00% (0%)
1 अप्रैल 2019 से 30 जून 2019: 8.00% (0%)
1 जुलाई 2019 से 30 सितंबर 2019: 7.90% (-0.1%)
1 अक्टूबर 2019 से 31 दिसंबर 2019: 7.90% (0%)
1 जनवरी 2020 से 31 मार्च 2020: 7.90% (0%)
1 अप्रैल 2020 से 8 अगस्त 2022: 7.10% (0.8%)

Home Loan EMI के साथ शुरू करें SIP, 20 साल बाद मिलेगा शानदार रिजल्ट, घर की पूरी कीमत हो जाएगी रिकवर

ऐसे बना सकते हैं 1 करोड़ का फंड

अधिकतम मंथली जमा: 12,500 रुपये (सालाना 1.50 लाख)
ब्याज दर: 7.1 फीसदी सालाना कंपांउंडिंग
15 साल बाद मैच्योरिटी पर रकम: 40,68,209 रुपये
25 साल बाद कुल रकम: 1.03 करोड़ रुपये (मैच्योरिटी के बाद 2 बार 5-5 साल के लिए एक्सटेंड)
कुल निवेश: 37,50,000
ब्याज का फायदा: 65,58,015 रुपये

स्कीम का क्या है फायदा

PPF की ब्याज दर 7.1 फीसदी सालाना है जो बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट की तुलना में अधिक है. लंबी अवधि की स्कीम होने के चलते इसमें कंपाउंडिंग का फायदा मिलेगा.

PPF स्कीम के तहत जमा राशि पर सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स बेनिफिट मिलता है. पीपीएफ खाते में एक साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं. पीपीएफ जमा पर मिलने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाला फंड टैक्स-फ्री है.

PPF अकाउंट होल्डर को खाता खोलने के एक वर्ष की समाप्ति के बाद अपनी जमा राशि पर लोन मिल सकता है. पीपीएफ जमा पर सॉवरेन गारंटी है. इसका मतलब यह है कि आपके पैसे सेफ रहेंगे, वहीं इसमें रिटर्न की गारंटी है.

नियम के तहत अगर पीपीएफ का खाताधारक कोई कर्ज डिफॉल्ट करता है तो उसके पीपीएफ अकाउंट में जमा रकम को किसी कोर्ट के आदेश या डिक्री के तहत कुर्क नहीं किया जा सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News