पोस्ट ऑफिस NSC, RD, KVP: ज्यादा रिटर्न के लिए जल्द लॉक करें ब्याज, 2 दिन बाद हो सकता है नुकसान

Post Office Small Savings: अगर आप भी स्माल सेविंग्स में निवेश करने की सोच रहे हैं तो जल्दी करें.

LTC scheme
In case of employees who are due to retire before December 31, 2020, the original bill/voucher must be submitted and settled before the date of superannuation, the DoE said.

Post Office Small Savings: रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने इस साल अबतक रेपो रेट में 115 बेसिस प्वॉइंट की कटौती की है. आगे भी ब्याज दरें के नरम ही बने रहने की उम्मीद है. फिलहाल इसी क्रम में अलग अलग बैंक भी अपनी जमा दरों में कमी कर रहे हैं. एक ओर जहां फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरें घट रही हैं, स्माल सेविंग्स स्कीम एफडी की तुलना में आकर्षक हुए हैं. इसका उदाहरण इसी से समझ सकते हैं कि देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई की एफडी और पोस्ट आफिॅस की टाइम डिपॉजिट स्कीम की ब्याज दरों में 130 बेसिस प्वॉइंट का अंतर है. ऐसे में अगर आप भी स्माल सेविंग्स में निवेश करने की सोच रहे हैं तो जल्दी करें. इस महीने चूक गए तो आपको नुकसान हो सकता है.

हर 3 माह पर ब्याज दरों की समीक्षा

असल में पोस्ट ऑफिस की ब्याज दरों की समीक्षा हर 3 माह पर होती है. जिसके बाद हर नई तिमाही के पहले ही दिन इसे लागू किया जाता है. असल में आरबीआई द्वारा हाल ही में जिस तरह से ब्याज दरें घटाई हैं और बांड यील्ड निचले स्तरों पर है, दिसंबर तिमाही में स्माल सेविंग्स की ब्याज दरों में कमी की जा सकती है. ऐसा होता है तो नए निवेशकों का नुकसान हो सकता है. इसलिए बेहतर है कि पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाओं में अभी ब्याज लॉक कर दें. क्योंकि ज्यादातर योजनाएं ऐसा हैं कि एक बार ब्याज लॉक होने के बाद उसमें कोई बदलाव भी आए तो निवेशकों का नुकसान नहीं होता है. यानी एक बार आपने स्कीम चुन ली तो उसकी ब्याज दरें आगे घटे या बढ़े, कोई असर नहीं होता.

PPF, NSC, RD, KVP, SSY पर अभी कितना ब्याज?

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट

1 साल पर ब्याज: 5.5%
2 साल पर ब्याज: 5.5%
3 साल पर ब्याज: 5.5​%
5 साल पर ब्याज: 6.7 %

रिकरिंग डिपॉजिट: 5.8 फीसदी

मंथली इनकम स्कीम: 6.8 फीसदी

PPF: 7.1 फीसदी

NSC: 6.8 फीसदी

KVP: 6.9 फीसदी

SSY: 7.6 फीसदी

सीनियर सिटीजंस स्कीम: 7.4 फीसदी

नोट : पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) और सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर सरकार की बदलती रहती है, और यह उसी अनुसार लागू मानी जाती है. लेकिन टाइम डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट, पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना, राष्ट्रिय बचत सर्टिफिकेट (एनएससी) और किसान पत्र (केवीपी) में निवेश करेंगे, तो उस समय मिलने वाली ब्याज दर पूरी योजना अवधि में मिलती रहेगी.

जून तिमाही के लिए घटा था ब्याज

अप्रैल में 5 साल की टाइम डिपॉजिट पर ब्याज 7.7 फीसदी से घटकर 6.7 फीसदी हो गया. आरडी पर 1.4 फीसदी ब्याज घटकर 5.8 फीसदी रह गया. पीपीएफ की दर 7.9 फीसदी से घटाकर 7.1 फीसदी की गई थी. सीनियर सिटीजंस सेविंग्‍स स्‍कीम की दर 8.6 फीसदी से घटकर 7.4 फीसदी रह गई थी. नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट (एनएससी) की दरें 7.9 फीसदी से कम होकर 6.8 फीसदी और सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट स्‍कीम की 8.4 फीसदी से घटकर 6.9 फीसदी रह गई थीं. सीनियर सिटीजंस स्कीम पर ब्याज दर 1.2 फीसदी घटकर 7.4 फीसदी रह गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News