सर्वाधिक पढ़ी गईं

PNB ने मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वालों से 2020-21 में वसूले 170 करोड़, RTI के जरिए मिली जानकारी से हुआ खुलासा

पंजाब नेशनल बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान अपने बैंक खातों में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वालों से 286.24 करोड़ रुपये वसूल किए थे.

Updated: Sep 20, 2021 8:10 PM
PNB earned 170 crores in 2020-21 from those who did not maintain minimum balancePNB ने मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वालों से 170 करोड़ रुपये वसूले हैं.

सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वाले ग्राहकों से 170 करोड़ रुपये वसूले हैं. सूचना के अधिकार (RTI) के तहत मांगी गई जानकारी पर बैंक ने यह सूचना दी. ये आंकड़े बीते वित्त वर्ष 2020-21 के हैं. वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान यह आंकड़ा 286.24 करोड़ रुपये था. बैंक किसी वित्त वर्ष में इस तरह का शुल्क तिमाही आधार पर वसूलता है.

वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में बैंक ने क्वाटर्ली एवरेज बैलेंस (QAB) के रूप में 35.46 करोड़ रुपये वसूले. बीते वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक ने इस तरह का कोई शुल्क नहीं लगाया. इसी तरह, तीसरी तिमाही में बैंक ने 48.11 करोड़ रुपये और चौथी तिमाही 86.11 करोड़ रुपये वसूले हैं.

ATM शुल्क के तौर पर वसूला गया 74.28 करोड़ रुपये

मध्य प्रदेश के सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने RTI के तहत बैंक से इस बारे में जानकारी मांगी थी. इसके अलावा बैंक ने बीते वित्त वर्ष में ATM शुल्क के रूप में 74.28 करोड़ रुपये जुटाए जबकि 2019-20 में बैंक ने इस शुल्क से 114.08 करोड़ रुपये की राशि जुटाई थी.

बीते वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सरकार के निर्देश के बाद बैंक ने एटीएम शुल्क में छूट दी थी. एक अन्य सवाल के जवाब में बैंक ने बताया कि 30 जून, 2021 तक उसके 4,27,59,597 खाते निष्क्रिय थे. वहीं 13,37,48,857 खाते सक्रिय थे.

HDFC ग्राहकों के लिए खुशखबरी, त्योहारी सीजन से पहले Paytm के साथ मिलकर जारी करेगा क्रेडिट कार्ड की नई रेंज

मिनिमम बैलेंस को लेकर बड़ी रकम वसूले जाने की होती रही है आलोचना

अपने बैंक खातों में मिनिमम बैलेंस नहीं रख पाने वालों से बड़ी रकम वसूले जाने की काफी आलोचना होती है. इसके लिए यह दलील दी जाती है कि जो लोग बैंक में मिनिमम बैलेंस नहीं रख पाते उनमें बड़ी तादाद आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की होती है. देश लगातार कई वर्षों से धीमी विकास दर की समस्या से जूझ रहा है. वित्त वर्ष 2020-21 में तो देश की जीडीपी विकास दर निगेटिव रही है. जिसके चलते न सिर्फ बेरोजगारी बढ़ी है, बल्कि जिन्हें रोजगार मिला हुआ है, उनकी भी आमदनी में गिरावट दर्ज की गई है.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. PNB ने मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वालों से 2020-21 में वसूले 170 करोड़, RTI के जरिए मिली जानकारी से हुआ खुलासा

Go to Top