मुख्य समाचार:

NPS आज से पूरी तरह हुआ टैक्सफ्री, सरकार का अंशदान भी बढ़ा; जानिए आपको कैसे होगा फायदा

1 अप्रैल से नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) निवेशकों के लिए और बेहतर साबित होगा. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि 1 अप्रैल के बाद से यह पूरी तरह टैक्सफ्री हो जाएगा.

April 1, 2019 7:46 AM
nps, nps scheme, nps more attractive, nps eee, eee, tax free nps, nps taxfree, nps governement contribution, nps 1 april, nps benefit, एनपीएस बेनेफिट, एनपीएस, एनपीएस के फायदेडेट सिक्योरिटीज में निवेश बढ़ाने को मंजूरी

1 अप्रैल से नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) निवेशकों के लिए और बेहतर साबित होगा. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि 1 अप्रैल के बाद से यह पूरी तरह टैक्स फ्री हो जाएगा. केंद्र सरकार ने एनपीएस को पीपीएफ की तरह एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट-एग्जेंप्ट (EEE) का दर्जा देने की मंजूरी दे दी है. EEE दर्जे का अर्थ है कि उस सेविंग्स में लगाया जाने वाला पैसा, उससे आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला अमाउंट तीनों पर टैक्स नहीं लगता है. अभी तक यह यह बेनिफिट केवल PPF में था. इसके अलावा केंद्र सरकार ने एनपीएस में अपना योगदान 10 फीसदी से बढ़ाकर 14 फीसदी से कर दिया है. हालांकि कर्मचारियों का न्यूनतम योगदान 10 फीसदी ही रहेगा.

यह भी पढ़ें- GPF Vs EPF Vs PPF Vs NPS

NPS की पूरी राशि टैक्स फ्री

एनपीएस को EEE दर्जे में शामिल किए जाने के बाद उसमें निवेश की गई राशि के साथ ब्याज भी 1 अप्रैल से टैक्सफ्री हो जाएगा. अभी NPS के तहत कर्मचारी रिटायरमेंट के वक्त कुल जमा कोष में से 60 फीसदी राशि निकालने का पात्र है. शेष 40 फीसदी राशि पेंशन योजना में चली जाती है. अभी तक NPS के अंशधारक को योजना में जमा राशि में से रिटायरमेंट के समय 60 फीसदी राशि की निकासी में से 40 फीसदी कर मुक्त थी, जबकि शेष 20 फीसदी पर कर लिया जाता है. लेकिन अब यह पूरी राशि टैक्स फ्री होगी.

यह भी पढ़ें- नेशनल पेंशन सिस्टम में कैसे करें निवेश

डेट सिक्योरिटीज में निवेश बढ़ाने को मंजूरी

टैक्स छूट और सरकार के अंशदान बढ़ाने के अलावा एक और फैसले से एनपीएस आकर्षक हो गया है. पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने कुछ एनपीएस स्कीमों के तहत डेट सिक्योरिटीज में अधिक निवेश को मंजूरी दे दिया है. यह नियम 1 अप्रैल से लागू होगा.

इसके तहत एनपीएस-नेशनल गवर्नमेंट स्कीम (सीजी), स्टेट गवर्नमेंट स्कीम (एसजी), कॉरपोरेट सेंट्रल गवर्नमेंट (सीजी) स्कीम, लाइट स्कीम्स ऑफ एनपीएस और अटल पेंशन योजना के तहत किए गए निवेश का 55 फीसदी हिस्सा अब गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में निवेश किया जा सकेगा. पहले यह 50 फीसदी था. इसी तरह शॉर्ट टर्म डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश की सीमा 5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दी गई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. NPS आज से पूरी तरह हुआ टैक्सफ्री, सरकार का अंशदान भी बढ़ा; जानिए आपको कैसे होगा फायदा

Go to Top