सर्वाधिक पढ़ी गईं

New Income Tax Website: टैक्सपेयर्स को नई वेबसाइट में परेशानी; खर्च हो रहा ज्यादा डेटा, लॉन्च का समय भी ठीक नहीं

New Income Tax E-Filing Website: टैक्सपेयर्स को इनकम टैक्स के नए ई-फाइलिंग पोर्टल में परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है.

June 10, 2021 5:56 PM
New Income Tax Website causing problems for taxpayers consuming more data and its bad time to launchटैक्सपेयर्स को इनकम टैक्स के नए ई-फाइलिंग पोर्टल में परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है. (Representational Image)

New Income Tax E-Filing Website: इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने के लिए, अमित (बदला हुआ नाम) ने 9 जून 2021 को ई-फाइलिंग वेबसाइट खोली. यूआरएल टाइप करने की कोशिश करते समय, ब्राउजर में पुरानी इनकम टैक्स वेबसाइट का एड्रेस ऑटो मोड से खुद आ गया. नई ई-फाइलिंग वेबसाइट पर रि-डायरेक्ट करने की जगह, पुरानी वेबसाइट का होमपेज खुला. हालांकि, “Login Here” को क्लिक करने पर, स्क्रीन पर मैसेज आया कि कृप्या नए ई-फाइलिंग पोर्टल ‘incometax.gov.in’ पर जाएं.

इसलिए, उन्होंने ध्यान से नई ई-फाइलिंग वेबसाइट का यूआरएल टाइप किया. न्यूज वेबसाइट को लेकर उत्सुक होकर, उन्होंने होम पेज पर जाकर नए फीचर्स को देखा. और पोर्टल के इस्तेमाल के बारे में वीडियो देखा.

हालांकि, जब उन्होंने कुछ समय लेकर, लॉग इन करने की कोशिश की, तो लॉग इन पेज नहीं खुला. वह अपने मोबाइल के वाईफाई होटस्पॉट का इस्तेमाल कर रहे थे, जिसमें 1.5GB प्रति दिन का कोटा होता है, जिससे वह अपनी वर्क फॉर होम की जरूरत को पूरा और सोशल मीडिया वेबसाइट्स का इस्तेमाल कर पाते हैं. अमित को मैसेज मिला कि उनके 1.5GB डेटा का हाई स्पीड कोटा खत्म हो गया है. यह डेटा नए ई-फाइलिंग वेबसाइट को खोलने के कुछ मिनटों में ही खत्म हो गया. वह न केवल लॉगइन करके अपना आईटीआर नहीं फाइल कर पाया, बल्कि इससे उनके वर्क फॉम होम पर भी असर पड़ा.

वेबसाइट पर भार बढ़ने से दिक्कतों में होगा इजाफा

CharteredClub.com के सीईओ और फाउंडर सीए करन बत्रा ने कहा कि इस पीक सीजन में इतनी हेवी साइट को लाइव करना, जिसमें बहुत सारे बग और गलतियां हों, टैक्सपेयर्स को यह अच्छा नहीं लगेगा. उन्होंने आगे कहा कि मई से अक्टूबर पीक सीजन है, जब इनकम टैक्स वेबसाइट पर बहुत भार होता है और नवंबर से अप्रैल तक, इनकम टैक्स वेबसाइट पर कम ट्रैफिक रहता है. इसके बाद उन्होंने बताया कि बहुत से लोग अभी इन कारणों की वजह से रिटर्न फाइल करना चाहते हैं- 1. टैक्स के देर से भुगतान करने पर ब्याज से बचने के लिए, 2. कुछ लोग होम लोन लेना चाहते हैं, जिसके लिए आईटीआर की जरूरत होती है.

वेबसाइट के लॉन्च के समय को लेकर बत्रा ने कहा कि उन्हें लगता है कि इसे गलत समय पर अपडेट किया गया है. यह पीक सीजन है और बहुत से करदाताओं को मुश्किलें होंगी. अगर उन्होंने इसे नॉन-पीक समय पर किया होता, तो वे आसानी से टेस्टिंग कर सकते थे और कई ट्यूटोरियल भी जारी कर सकते थे. उन्होंने आगे कहा कि निजी इनकम टैक्स सॉफ्टवेयर भी काम करना बंद हो गए हैं क्योंकि वे एक बार इनकम टैक्स वेबसाइट के पूरी तरह अपडेट होने पर सॉफ्टवेयर अपडेट करने की प्रक्रिया शुरू करेंगे.

Deposit Schemes: बाजार के उतार-चढ़ाव देख होती है घबराहट? निवेश के ये 12 तरीके दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

नियोक्ताओं द्वारा फॉर्म 16 जारी करने की डेडलाइन के 15 जुलाई 2021 तक बढ़ने के बाद, सैलरी वाले कर्मचारियों द्वारा रिटर्न फाइलिंग ने अभी रफ्तार नहीं पकड़ी है. इसके साथ ज्यादातर करदाता आखिरी तारीख से बिल्कुल पहले अपना आईटीआर जमा करते हैं, इसलिए ई-फाइलिंग वेबसाइट पर अधिकतम भार फाइलिंग रिटर्न की आखिरी तारीख से बिल्कुल पहले आता है. आखिरी तारीख के करीब भार से पुरानी वेबसाइट भी डाउन हो जाती थी, जिससे डेट को आगे बढ़ाना पड़ता था.

इसलिए, नई ई-फाइलिंग वेबसाइट की ऐसी स्थिति भार आने से पहले ऐसी है, तो 30 सितंबर 2021 की आखिरी तारीख के करीब टैक्सपेयर्स को बहुत ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

(Story: Amitava Chakrabarty)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. New Income Tax Website: टैक्सपेयर्स को नई वेबसाइट में परेशानी; खर्च हो रहा ज्यादा डेटा, लॉन्च का समय भी ठीक नहीं

Go to Top