NPS: सरकारी कर्मचारियों के लिए मौका! 2000 रु मंथली निवेश से बन जाएगा 50 लाख का रिटायरमेंट फंड

क्या आपको पता है NPS में 2000 रुपये देने से रिटायरमेंट के बाद 50 लाख का कॉर्पस मिलेगा.

nps investment rules
PFRDA issues guidelines from time to time to regulate the securities held in the name of the NPS Trust and managed by Pension Funds as per Regulation 15 of the PFRDA (Pension Fund) Regulations, 2015. Representational Image

केंद्र सरकार के अंतर्गत कार्यरत कर्मचारी साल 2004 के बाद से NPS के अंदर आते हैं. कुछ राज्य सरकारों ने अपने यहां कर्मचारियों के लिए NPS को लागू किया है. लेकिन क्या आपको पता है NPS में 2000 रुपये देने से रिटायरमेंट के बाद 50 लाख का कॉर्पस यानी फंड मिलेगा. पुरानी पेंशन स्कीम से अलग, इसमें कर्मचारी और जहां वो काम करता है, दोनों का योगदान रहता है. दोनों को जोड़कर ही कर्मचारी को रिटायरमेंट के समय पेंशन कॉर्पस मिलता है. ये पैसा समय से पहले नौकरी छोड़ने पर या व्यक्ति की मृत्यु के समय भी मिलता है.

कर्मचारी और सरकार समान राशि देते हैं

सरकारी कर्मचारियों के केस में सरकार उतनी ही राशि अकाउंट में देती है, जितनी कर्मचारी देता है. उदाहरण के लिए अगर कोई कर्मचारी NPS में 2000 रुपये प्रति महीने का योगदान करता है, तो क्या सरकार भी बिल्कुल समान राशि यानी 2000 रुपये ही देती है. क्या आप जानना चाहेंगे कि इतनी राशि के निवेश करने से रिटायरमेंट के बाद व्यक्ति को पेंशन में कितने पैसे मिलेंगे?

Mandar Karlekar, असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट, NSDL e-Governance Infrastructure Limited के मुताबिक, अगर कोई सरकारी कर्मचारी 30 साल की उम्र में NPS में 2000 रुपये का योगदान देना शुरू करता है. तो उसके अकाउंट में हर महीने जमा होने वाली राशि 4000 रुपये होगी, जिसमें सरकार का योगदान भी जुड़ा है. इसमें 8 फीसदी रिटर्न जोड़कर, 30 साल बाद कॉर्पस 50 लाख रुपये से ज्यादा का होगा, जब तक व्यक्ति रिटायरमेंट की उम्र यानी 60 साल तक पहुंच जाएगा. इस हिसाब से व्यक्ति को 26,000 रुपए प्रति महीने की पेंशन मिलेगी.

बड़े से बड़े कर्ज से भी जल्द मिलेगा झुटकारा, खुद से कर लें ये 5 वादे

पेंशन फंड को संभालती हैं तीन कंपनियां

Karlekar ने बताया कि सरकार ने तीन पेंशन फंड मैनेजर को नियुक्त किया है. ये SBI Pension Funds Pvt Ltd, UTI Retirement Solutions और LIC Pension Fund. ये सरकारी कर्मचारियों के पेंशन फंड को मैनेज करती हैं. ये ही सरकारी कर्मचारियों के योगदान का निवेश करती हैं. एक NPS फंड में आने वाली एक महीने की राशि इन्हीं तीनों फंड मैनेजर में बंटती है. इनको ये निर्देश दिया गया है कि उनके निवेश में 85 फीसदी फिक्सड इनकम सिक्योरिटी का होना चाहिए. इसमें सरकारी सिक्योरिटी, कॉरपोरेट बॉन्ड आदि शामिल हैं और ये ज्यादा से ज्यादा 15 फीसदी ही इक्विटी और उससे जुड़े निवेश में डाल सकते हैं.

Karlekar ने यह भी बताया कि किसी रिटायर हो चुके कर्मचारी की कुल पेशन उसके NPS कॉर्पस के साइज पर आधारित होगी. इसके अलावा यह जो पेंशन प्लान व्यक्ति रिटायरमेंट के समय चुनेगा, उस पर भी निर्भर करेगी. जितना ज्यादा कॉर्पस, उतनी ज्यादा पेंशन!

 

Story: Rajeev Kumar

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News