सर्वाधिक पढ़ी गईं

National Girl Child Day: अपनी बच्ची के भविष्य को आर्थिक रूप से करें सुरक्षित, फंड तैयार करने में ये विकल्प करेंगे मदद

National Girl Child Day 2021: आज के दौर में बच्चियों को वित्तीय रूप से सशक्त करना भी जरूरी है ताकि उनके ​भविष्य में आने वाले खर्चों के लिए पर्याप्त फंड रहे.

Updated: Jan 24, 2021 7:04 PM
National Girl Child Day, best savings schemes for girl child, how to save for girl child, fd, rd, ppf, sukanya Samriddhi yojana, mutual funds

National Girl Child Day: आज देश में नेशनल गर्ल चाइल्ड डे (राष्ट्रीय बालिका दिवस) मनाया जा रहा है. इस दिन की शुरुआत 2008 में हुई थी. नेशनल गर्ल चाइल्ड डे का प्रमुख उद्देश्य बच्चियों को अलग अलग माध्यमों से सशक्त करना है, जिससे उनका भविष्य बेहतर हो सके. आज के दौर में बच्चियों को वित्तीय रूप से सशक्त करना भी जरूरी है ताकि उनके ​भविष्य में आने वाले खर्चों के लिए पर्याप्त फंड रहे. बेटी के भविष्य को आर्थिक रूप से संवारने के लिए देश में कई वि​कल्प मौजूद हैं. आइए जानते हैं कुछ सिक्योर व सबसे ज्यादा पॉपुलर विकल्पों के बारे में…

FD या RD

भारत में फिक्स्ड डिपॉजिट, बचत के लिए एक सुरक्षित, आसान व पॉपुलर विकल्प माना जाता है. आप अपनी बच्ची के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) शुरू कर सकते हैं. इस पर सेविंग्स अकांउट से अधिक ब्याज रहता है. अगर एकमुश्त रकम जमा कर बचत नहीं कर सकते हैं तो रिकरिंग डिपॉजिट (RD) करा सकते हैं. RD की खास बात यह है कि इसमें आप हर माह अमाउंट डाल सकते हैं. आप अलग-अलग बैंकों के FD और RD रेट्स की तुलना कर अपनी सहूलियत के मुताबिक बैंक और अकाउंट चुन सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना

साल 2015 में शुरू हुई सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में खाता पोस्ट ऑफिस के अलावा बैंकों में भी खुलवाया जा सकता है. SSY में माता-पिता या कानूनी अभिभावक 10 वर्ष तक की आयु की बच्ची के नाम पर खाता खोल सकते हैं. एक बच्ची के नाम पर एक ही खाता खुलेगा. SSY अकाउंट को मिनिमम 250 रुपये से शुरू कर सकते हैं. इसमें एक वित्त वर्ष में न्यूनतम जमा 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तय की गई है. ब्याज दर की बात करें तो इस वक्त पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर सालाना 7.6 फीसदी का ब्याज मिल रहा है.

सुकन्या समृद्धि स्कीम में अधिकतम 15 साल तक निवेश किया जा सकता है. अकाउंट को लड़की के 21 साल का होने के बाद ही बंद किया जा सकता है. हालांकि बच्‍ची के 18 साल की होने पर उसकी शादी होने पर नॉर्मल प्रीमैच्‍योर क्‍लोजर की अनुमति है. 18 साल की उम्र के बाद बच्‍ची SSY अकाउंट से आंशिक तौर पर कैश निकासी कर सकती है. निकासी की सीमा पिछला वित्त वर्ष खत्‍म होने पर अकाउंट में मौजूद बैलेंस का 50 फीसदी तक है.

PPF

PPF (Public Provident Fund) अकाउंट को मिनिमम 500 रुपये से शुरू किया जा सकता है. PPF अकाउंट पोस्‍ट ऑफिस या बैंक में खुलवाया जा सकता है. अभी पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट पर मौजूदा सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. अकाउंट में एक वित्त वर्ष में मिनिमम 500 रुपये और मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये जमा करना जरूरी है. अगर अकाउंट में मिनिमम सालाना अमाउंट डिपॉजिट न किया गया तो अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है और फिर पिछला बकाया, 50 रुपये का चार्ज और एक इंस्टॉलमेंट भरने के बाद ही फिर से एक्टिव होता है. पोस्‍ट ऑफिस PPF पर नॉमिनेशन सुविधा, माइनर के नाम पर दूसरा PPF अकाउंट खुलवाने की सुविधा उपलब्ध है. पोस्‍ट ऑफिस PPF का मैच्‍योरिटी पीरियड 15 साल है और इससे पहले क्‍लोजर नहीं किया जा सकता.

टाटा कैपिटल का स्पेशल लोन ऑफर, घर बैठे करें अप्लाई; कम EMI समेत कई बेनेफिट्स

SIP के जरिए म्युचुअल फंड

आप अपनी बच्ची के लिए फंड इकट्ठा करने के लिए म्युचुअल फंड को भी देख सकते हैं. इसमें निवेश के लिए सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) मोड का चुनाव कर सकते हैं. SIP की मदद से म्युचुअल फंड में हर माह एक फिक्स्ड अमाउंट डाला जा सकता है. बेटी के लिए चाहे जितने साल म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं. SIP के जरिए अपनी सहूलियत और जोखिम उठाने की क्षमता के आधार पर इक्विटी या डेट म्युचुअल फंड का चुनाव कर सकते हैं. लेकिन ध्यान रहे कि म्युचुअल फंड में निवेश से पहले इसके बारे में पूरी तरह जान लें. चाहें तो किसी फाइनेंशियल एडवायजर की सलाह ले सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. National Girl Child Day: अपनी बच्ची के भविष्य को आर्थिक रूप से करें सुरक्षित, फंड तैयार करने में ये विकल्प करेंगे मदद

Go to Top