मुख्य समाचार:

इक्विटी और डेट म्यूचुअल फंड से पैसे निकाल रहे हैं निवेशक! 3 महीने में 2.18 लाख करोड़ रु घट गया एसेट

डेट और इक्विटी सेगमेंट में निकासी दबाव की वजह से म्यूचुअल फंड कंपनियों के AUM में कमी आई.

Published: July 3, 2020 6:10 PM
Mutual fund, Mutual fund industry, Mutual fund industry AUM in june 2020 quarter, debt fund, equity fund, asset under managementफ्रैंकलिन टेंपलेटन मुद्दे से भी डेट स्कीम्स से निकासी बढ़ी.

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) उद्योग की एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 30 जून को समाप्त तिमाही में 8 फीसदी घटकर 25 लाख करोड़ रुपये रह गया. मुख्य रूप से इक्विटी और डेट कैटेगरी से निकासी की वजह से एयूएम में कमी आई है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों के अनुसार 45 कंपनियों वाले उद्योग का औसत एयूएम (एएयूएम) अप्रैल-जून की तिमाही में आठ प्रतिशत घटकर 24.82 लाख करोड़ रुपये रह गया, जो इससे पिछली तिमाही में 27 लाख करोड़ रुपये था. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में एयूएम 25.5 लाख करोड़ रुपये था.

सैमको सिक्योरिटीज के रैंकएमएफ प्रमुख ओंकेश्वर सिंह ने कहा कि तिमाही दर तिमाही आधार पर उद्योग के एयूएम में आठ प्रतिशत की गिरावट आई. इसकी प्रमुख वजह यह रही है कि म्यूचुअल फंड योजनाओं की ज्यादातर एसेट और कैटेगरी में शुद्ध निवेश का इनफ्लो घट गया. उन्होंने कहा कि जून तिमाही में निफ्टी 24 फीसदी चढ़ गया, लेकिन इसके बावजूद डेट और इक्विटी खंड में निकासी दबाव की वजह से म्यूचुअल फंड कंपनियों के एयूएम में कमी आई. फ्रैंकलिन टेंपलेटन मुद्दे से भी डेट स्कीम्स से निकासी बढ़ी.

ELSS या बैंक FD? फटाफट चेक करें 5 साल का रिटर्न, 31 जुलाई तक निवेश करेंगे तो दोहरा फायदा

टॉप- 5 कंपनियों का AUM भी गिरा

प्राइमइन्वेस्टर.इन की को-फाउंडर विद्या बाला ने कहा कि निवेश घटने के अलावा आर्थिक मोर्चे पर अनिश्चितता, नौकरियों पर संकट तथा वेतन कटौती की वजह से भी म्यूचअल फंड उद्योग की एसेट्स में कमी आई. शीर्ष पांचों म्यूचुअल फंड कंपनियों SBIMF, HDFCMF, ICICI प्रूडेंशियल एमएफ, आदित्य बिड़ला सनलाइफ एमएफ और निप्पन इंडिया एमएफ सभी के औसत एयूएम में गिरावट आई.

जून तिमाही के दौरान एसबीआई म्यूचुअल फंड 3,64,363 करोड़ रुपये के एसेट के साथ देश का सबसे बड़ा फंड हाउस बना हुआ है. हालांकि फंड हाउस का औसत एयूएम पिछली तिमाही में 3,73,536 करोड़ रुपये रहा था. इसी तरह, एचडीएफसी एमएफ 3,56,183 करोड़ रुपये के साथ दूसरी सबसे बड़ा फंड हाउस है. आईसीआईसीआई प्रु एमएफ 3,46,163 करोड़ के साथ तीसरे स्थान, आदित्य बिड़ला सनलाइफ एमएफ 2,14,592 करोड़ के साथ चौथे स्थान पर और निप्पान इंडिया एमएफ 1,80,061 करोड़ के एसेट के साथ पांचवे स्थान पर रहा.

Input : PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. इक्विटी और डेट म्यूचुअल फंड से पैसे निकाल रहे हैं निवेशक! 3 महीने में 2.18 लाख करोड़ रु घट गया एसेट

Go to Top