सर्वाधिक पढ़ी गईं

मुथूट फाइनेंस NCD: 5 साल के निवेश पर मिल रहा है 7.75% ब्याज, 5 जनवरी तक निवेश का मौका

Muthoot Finance NCD: फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के 1000 करोड़ की NCD में 5 जनवरी तक निवेश कर सकते हैं.

December 17, 2020 3:09 PM
Muthoot Finance NCDMuthoot Finance NCD: फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के 1000 करोड़ की NCD में 5 जनवरी तक निवेश कर सकते हैं.

Muthoot Finance NCD: अगर आप फिक्स्ड इन​कम इन्वेस्टमेंट का कोई बेहतर विकल्प खोज रहे हैं, आपके पास अभी बाजार में एक अच्छा विकल्प है. फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड ने अपने नॉन कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) का अपना 24वां पब्लिक इश्यू 11 दिसंबर को लांच किया है. इसमें 5 जवरी तक निवेश किया जा सकता है. इस एनसीडी के जरिए बाजार से 1000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इसके पहले अक्टूबर में कंपनी अपना एनसीडी ले आई थी, जिससे 2000 करोड़ रुपये जुटाए थे. अगर आप भी एनसीडी में पैसे लगाने की सोच रहे हैं तो पहले कुछ बातें जान लेना जरूरी है.

7.75 फीसदी तक ब्याज

एनसीडी में 38 महीने से लेकर 60 महीने तक यानी 5 साल के लिए निवेश के विकल्प हैं.
निवेशक के पास मासिक और सालाना ब्याज लेने का भी विकल्प है. इस एनसीडी में 6.75 फीसदी से 7.75 फीसदी तक ब्याज ​मिल रहा है. अमूमन ज्यादातर बैंक 5 साल की एफडी पर 5.75 फीसदी से 6.25 फीसदी ही ब्याज दे रहे हैं. ऐसे में इस एनसीडी में बैंक एफडी से करीब 2 फीसदी ज्यादा ब्याज मिल रहा है.

निवेश की लिमिट

एक एनसीडी की कीमत 1000 रुपये है. निवेशकों को कम से कम 10 एनसीडी में निवेश करना होगा. यानी निवेशकों को कम से कम 10 हजार रुपये निवेश करना होगा.

क्रेडिट रेटिंग

CRISIL: AA/Positive
ICRA: AA/Stable

रेटिंग से साफ ​है कि यह निवेश के कई दूसरे विकल्पों के मुकाबले सेफ विकल्प है.

अक्टूबर में आया था 2000 करोड़ का एनसीडी

इसके पहले फाइनेंस कंपनी मुथूट फाइनेंस लिमिटेड अक्टूबर में नॉन कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) का 23वां पब्लिक इश्यू लाई थी, जिससे 2000 करोड़ रुपये जुटाए थे. तब एनसीडी में 38 महीने से लेकर 60 महीने तक यानी 5 साल के लिए निवेश के 6 विकल्प थे, जिनमें 8 फीसदी तक सालाना ब्याज मिला था. ​कंपनी अबतक अपनी 23 पब्लिक एनसीडी ने 18,000 करोड़ रुपये जुटा चुकी है.

क्या है NCD?

अगर आप रेग्युलर इनकम चाहते हैं तो नॉन-कंवर्टिबल डिबेंचर (NCD) बेहतर विकल्प है, इसे रेग्युलर इनकम को ध्यान में रखकर ही लाया जाता है. NCD किसी कंपनी की ओर से जारी किए गए एक तरह के बॉन्ड होते हैं. इन पर ब्याज दरें तय होती हैं, जो कंवर्टिबल डिबेंचर के मुकाबले ज्यादा होती हैं. ये सिक्योर्ड या अनसिक्योर्ड हो सकते हैं. सिक्योर्ड का मतलब गारंटी की जरूरत से है, वहीं अनसिक्योर्ड में गारंटी की जरूरत नहीं होती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. मुथूट फाइनेंस NCD: 5 साल के निवेश पर मिल रहा है 7.75% ब्याज, 5 जनवरी तक निवेश का मौका

Go to Top