मुख्य समाचार:

घर खरीदने के लिये इस सरकारी स्कीम में मिल रही है 2.35 लाख की सब्सिडी; बचे हैं सिर्फ 180 दिन

शहर में खुद का घर लेना है और चाहते हैं कि लागत का बोझ कम रहे तो प्रधानमंत्री आवास योजना यानी PMAY (शहरी) का फायदा ले सकते हैं.

October 13, 2019 7:28 AM

Modi govt scheme: Get Rs 2.3 lakh subsidy for home, only 180 days left!

अगर शहर में खुद का घर लेना है और चाहते हैं कि लागत का बोझ कम रहे तो प्रधानमंत्री आवास योजना यानी PMAY (शहरी) का फायदा ले सकते हैं. PMAY (शहरी) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम योजना ‘सभी के लिए घर’ मिशन का हिस्सा है. PMAY (शहरी) में क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (CLSS) का प्रावधान है. इसके तहत योग्य व्यक्ति को लोन के ब्याज में सब्सिडी मिलती है.

क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम को पहले 31 मार्च 2019 तक बढ़ाया गया था लेकिन बाद में इसे 31 मार्च 2020 तक बढ़ा दिया गया. यानी अब CLSS खत्म होने में केवल 180 दिन/6 माह बचे हैं. ऐसे में अगर PMAY (शहरी) के तहत घर खरीदना चाहते हैं तो यह सही वक्त साबित हो सकता है.

सब्सिडी के लिए इनकम की दो कैटेगरी

PMAY (शहरी) के तहत CLSS के लिए मिडिल इनकम ग्रुप MIG को दो इनकम सेगमेंट में बांटा गया है. पहला MIG I यानी वे लोग, जिनकी सालाना आय 600001 से 12 लाख रुपये के बीच है. दूसरा है MIG II, जिसके तहत 1200001 से 18 लाख रुपये तक की सालाना आय वाले लोग आते हैं. सब्सिडी की मैक्सिमम एडवांस राशि MIG I कैटेगरी के लिए 235068 रुपये और MIG II कैटेगरी के लिए 230156 रुपये है.

गुड न्यूज! 6 सरकारी बैंक सस्ता कर चुके हैं कर्ज, 0.25% तक की हुई कटौती

कैसे काम करती है PMAY

MIG-I कैटेगरी में योग्य व्यक्ति के लिए 9 लाख रुपये तक के लोन अमाउंट पर ब्याज में 4 फीसदी सब्सिडी दी जाएगी. यानी अगर लोन पर बैंक की रेगुलर इंट्रेस्ट रेट 12 फीसदी है तो PMAY (शहरी) के तहत CLSS के चलते इस लोन अमाउंट के लिए व्यक्ति को 8 फीसदी की दर से ब्याज का भुगतान करना होगा. इसी तरह MIG-II कैटेगरी में आने वाले व्यक्ति को 12 लाख रुपये तक के लोन अमाउंट पर 3 फीसदी ब्याज सब्सिडी मिलेगी. व्यक्ति चाहे तो उल्लिखित अमाउंट से ज्यादा का भी लोन बैंक से ले सकता है लेकिन ब्याज सब्सिडी क्रमश: 9 लाख और 12 लाख रुपये पर ही उपलब्ध होगी. PMAY के तहत सब्सिडी कैलकुलेशन के हिसाब से निकली ब्याज सब्सिडी लोन अमाउंट पर एडवांस के तौर पर व्यक्ति को दे दी जाएगी. इससे कर्ज लेने वाले की ईएमआई कम रहती है और ब्याज लागत पर भी बचत होती है.

इसे एक उदाहरण से समझें. मान लीजिए MIG II कैटेगरी का कोई व्यक्ति 36 लाख रुपये का होम लोन लेना चाहता है. तो PMAY की CLSS के तहत उसे 12 लाख रुपये लोन अमाउंट पर 3 फीसदी ब्याज सब्सिडी मिलेगी. बाकी के 24 लाख रुपये लोन अमाउंट पर व्यक्ति को बैंक द्वारा निर्धारित रेगुलर ब्याज दर के हिसाब से ब्याज चुकाना होगा.

PMAY NPV कैलकुलेशन

PMAY इंट्रेस्ट सब्सिडी कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर ब्याज सब्सिडी अमाउंट निकालने के लिए नेट प्रजेंट वैल्यू (NPV) कैलकुलेशन के लिए डिस्काउंटेड रेट को 20 साल की मैक्सिमम लोन अवधि या लोन की वा​स्तविक अवधि, जो भी कम हो पर 9 फीसदी माना जाता है.

Story: Sunil Dhawan

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. घर खरीदने के लिये इस सरकारी स्कीम में मिल रही है 2.35 लाख की सब्सिडी; बचे हैं सिर्फ 180 दिन

Go to Top