सर्वाधिक पढ़ी गईं

Income Tax: टैक्स बचाने के लिए निवेश में न करें जल्दबाजी, बचें इन 5 गलतियों से

अंतिम समय में जल्दीबाजी में वित्तीय फैसले लेने से कुछ गलतियां हो जाती हैं जिससे वित्तीय लक्ष्य को पाने में कुछ नुकसान होता है.

March 18, 2021 7:49 AM
Last-minute tax savings in march taxpayers Five mistakes to avoidटैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश सोच-समझकर करना चाहिए.

वित्त वर्ष 2020-21 खत्म होने में अब महज कुछ ही दिन बचे हैं. ऐसे में जिन करदाताओं ने अभी तक टैक्स सेविंग के अपने लक्ष्य को पूरा नहीं किया है, वे एग्रेसिव तरीके से सभी निवेश विकल्पों को देख रहे हैं जिससे अधिकतम टैक्स डिडक्शन का फायदा लिया जा सके. वैसे तो टैक्स सेविंग पूरे साल जारी रहने वाली प्रक्रिया है क्योंकि अंतिम समय में जल्दीबाजी में कुछ गलतियां हो जाती हैं जिससे वित्तीय लक्ष्य को पाने में कुछ नुकसान होता है. हालांकि कुछ लोग साल भर इसके लिए समय नहीं निकाल पाते हैं तो अंतिम समय में टैक्स सेविंग विकल्पों पर गौर करते हैं. ऐसे में कुछ गलतियां ऐसी हैं जिस पर गौर करना चाहिए ताकि आपके वित्तीय लक्ष्य पर नकारात्मक प्रभाव न पड़े.

इन गलतियों पर दें ध्यान

  • जरूरत से अधिक निवेश: चालू वित्त वर्ष में अपनी टैक्स देनदारी को कम करने के लिए टैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट्स में कितना निवेश करना चाहिए, इसकी जानकारी जरूरी है. चालू वित्त वर्ष में अपनी कुल आय का अनुमान लगाएं और उसके मुताबिक टैक्स सेविंग इंवेस्टमेंट्स का आकलन करें. जरूरत से अधिक निवेश करने पर किसी आपात स्थिति के लिए वित्तीय संकट पैदा हो सकता है.
  • इंश्योरेंस-कम-इंवेस्टेमेंट प्रॉडक्ट्स: मार्च के महीने में अधिकतर लोग टैक्स बचाने के लिए ट्रेडिशनल इंश्योरेंस प्लान्स और इंडोमेंट पॉलिसीज जैसी इंश्योरेंस-कम-इंवेस्टमेंट प्रॉडक्ट्स में निवेश करते हैं. हालांकि इन पर शुद्ध निवेश विकल्पों ईएलएसएस, पीपीएफ इत्यादि की तुलना में आमतौर पर कम रिटर्न मिलता है. इसके अलावा इन पर प्लेन वनीला टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी की तुलना में कम लाइफर कवर भी मिलता है और प्रीमियम भी अधिक चुकाना पड़ता है. ट्रेडिशनल इंश्योरेंस लांग टर्म इंवेस्टमेंट है और इसमें शुरुआती वर्षों पर सरेंडर करने पर बहुत नुकसान उठाना पड़ सकता है. ऐसे में बेहतर होगा कि रिटर्न एक्सपेक्टेशंश, लिक्विडिटी जरूरतों और रिस्क उठाने की क्षमता के मुताबिक ईएलएसएस, वीपीएफ और अन्य स्माल सेविंग्स स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं. इसके अलावा इंश्योरेंस की जरूरतों के लिए एक टर्म प्लान या हेल्थ इंश्योरेंस प्लान ले सकते हैं.
  • कर्ज लेकर निवेश करना: अपनी क्षमता से अधिक टैक्स सेविंग निवेश के लिए कर्ज लेना समझदारी नहीं है. इससे आपको बिना जरूरत कर्ज के भुगतान की चिंता खड़ी हो जाएगी. टैक्सपेयर्स को टैक्स सेविंग और लिक्विडिटी की जरूरतों के बीच बैलेंस बनाकर निवेश के बारे में सोचना चाहिए. कर्ज लेकर निवेश ऐसे समय में ही करना सही है जब लिक्विडिटी की समस्या कुछ समय के लिए हो जैसे कि सैलरी आने में 10-15 दिनों की देरी हो. पर्सनल लोन या क्रेडिट कार्ड के जरिए विदड्रॉल कर निवेश करना समझदारी नहीं है. अगर बहुत जरूरी है तो किसी दोस्त या संबंधी से कर्ज ले सकते हैं या एफडी के अगेंस्ट ओवरड्राफ्ट सुविधा का फायदा उठा सकते हैं. इसके अलावा अगर कोई निवेश परिपक्व हो गया हो तो उससे मिले फंड को टैक्स सेविंग स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं.
  • शॉर्ट टर्म के मुताबिक टैक्स सेविंग स्कीम में निवेश: टैक्स सेविंग स्कीम में निवेश के लिए अपने वित्तीय लक्ष्य से समझौता नहीं करना चाहिए. ऐसा टैक्स सेविंग प्रॉडक्ट चुनिए जो लांग टर्म मे वित्तीय लक्ष्य को पाने में मदद करे. कभी भी शॉर्ट टर्म फाइनेंसियल गोल्स के मुताबिक टैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश न करें क्योंकि सभी टैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट्स में 3-15 साल तक का लॉक-इन पीरियड होता है. इस लॉक-इन पीरियड बीतने के पहले इसे लिक्विडेट नहीं कर सकते हैं.
  • टैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट्स को डाइवर्सिफाई न करना: अधिकतर लोग अंतिम समय में अपने पूरे फंड को किसी एक एसेट क्लास में ही निवेश कर देते हैं. ऐसी गलती करने से बचना चाहिए क्योंकि एक से अधिक एसेट क्लास में निवेश करने से रिस्क कम करने में मदद मिलती है. कई एसेट क्लास में निवेश करने के साथ एक ही एसेट क्लास की अलग-अलग स्कीम्स में भी निवेश कर सकते हैं. उदाहरण के लिए अपने फंड को सिर्फ ईएलएसएस में निवेश करने की बजाय ईएलएसएस के साथ-साथ एनपीएस, टैक्स सेविंग एफडी, पीपीएफ, गोल्ड इत्यादि में भी निवेश कर सकते हैं.
    (Article:  Adhil Shetty, CEO, BankBazaar.com)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Income Tax: टैक्स बचाने के लिए निवेश में न करें जल्दबाजी, बचें इन 5 गलतियों से

Go to Top