सर्वाधिक पढ़ी गईं

Top SIP Fund: एसआईपी में निवेश से इंवेस्टर्स हुए मालामाल, इन फंड से निवेशकों को मिला 30% से अधिक रिटर्न

Top SIP Fund: एसआईपी की कुछ ऐसी स्कीम हैं जिसने निवेशकों को पांच साल में 30 फीसदी से अधिक का रिटर्न दिया है.

September 15, 2021 9:32 AM
know here about Top SIP Fund gives investors around 30 percent return in five yearsएकमुश्त निवेश की बजाय एसआईपी में निवेश करना बेहतर है. (Image- Pixabay)

Top SIP Fund: लंबे समय के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए एसआईपी निवेश का बहुत अच्छा तरीका है. यह ऐसे निवेशकों के लिए कारगर साबित होता है जिन्हें मार्केट के उतार-चढ़ाव से डर लगता है. एसआईपी में निवेश का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें एकमुश्त निवेश की बजाय नियमित तौर पर एक निश्चित रकम जमा कर शानदार रिटर्न हासिल कर सकते हैं. एसआईपी के जरिए न सिर्फ लांग टर्म बल्कि मीडियम टर्म के लक्ष्यों को भी हासिल किया जा सकता है. कुछ ऐसी स्कीम हैं जिसने निवेशकों को पांच साल में 30 फीसदी से अधिक का रिटर्न दिया है.

तगड़ा रिटर्न देने वाली टॉप SIP Funds

फंड नाम                                              -5 साल में मिला रिटर्न
रिलायंस स्माल कैप फंड                           –           35.82%
एसबीआई स्माल कैप फंड                        –           34.74%
आदित्य बिरला सन लाइफ प्योर वैल्यू फंड   –           30.80%
यूटीआई ट्रांसफॉर्मेशन एंड लॉजिस्टिक्स फंड-           30.16%
मिरे एसेट एमर्जिंग ब्लूचिप                         –           29.80%
(सोर्स: पॉलिसीबाजारडॉटकॉम)

कैसे काम करती है एसआईपी

एसआईपी म्यूचुअल फंड में निवेशक एक निश्चित समय अंतराल मासिक, साप्ताहिक या तिमाही आधार पर एक निश्चित राशि का निवेश कर सकते हैं. इसे शुरू करने के लिए निवेशकों को एक एसआईपी फॉर्म भरना होता है और बैंक को नियमित अंतराल पर राशि के निवेश के लिए मैंडेट देना होता है जिससे नियमित अंतराल पर अपने आप तय राशि खाते से फंड में निवेश हो जाती है. जिस वक्त राशि खाते से काटी जाती है, उस समय जो एनएवी (नेट एसेट वैल्यू) होती है, उसके आधार पर आपको यूनिट्स मिलते हैं यानी कि अगर मार्केट नीचे हैं तो अधिक यूनिट्स मिलेंगे.

Cost Inflation Index क्या है? जानिए, आप पर टैक्स का बोझ कैसे कम कर सकता है यह इंडेक्स

एकमुश्त की बजाय नियमित अंतराल पर निवेश बेहतर

एकमुश्त निवेश की बजाय एसआईपी में निवेश करना बेहतर है क्योंकि एकमुश्त राशि निवेश करने पर उस समय जो एनएवी होगी, उसके हिसाब से यूनिट्स एलॉट होते हैं. इसके विपरीत एसआईपी में निवेश के समय जो एनएवी होती है, उसके मुताबिक यूनिट्स एलॉट होते हैं यानी कि जब मार्केट में गिरावट हो तो अधिक यूनिट्स मिलते हैं और जब मार्केट ऊंचाई पर होते हैं तो कम यूनिट्स मिलते हैं. एक लंबे समय में आपके पास एकमुश्त निवेश की बजाय अधिक यूनिट्स होने की संभावना अधिक रहती है और इस प्रकार अधिक रिटर्न पाने की संभावना बढ़ जाती है. इस प्रकार एसआईपी में निवेश को लेकर मार्केट के उतार-चढ़ाव को लेकर अधिक चिंता नहीं करनी पड़ती है.
(नोट: यह रिपोर्ट फंड के पिछले प्रदर्शन के आधार पर दी गई है और महज जानकारी के लिए है. निवेश से जुड़ा कोई भी फैसला करने से पहले अपने सलाहकार से जरूर संपर्क कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Top SIP Fund: एसआईपी में निवेश से इंवेस्टर्स हुए मालामाल, इन फंड से निवेशकों को मिला 30% से अधिक रिटर्न

Go to Top