सर्वाधिक पढ़ी गईं

निवेश के लिए फंड है, लेकिन मार्केट वैल्यूएशन ऊंचा लग रहा है? सिस्टमैटिक ट्रांसफर प्लान (STP) दूर कर सकता है आपकी चिंता

Investment Tips | STP: एसटीपी एक ऐसी एसआईपी है जो एक म्यूचुअल फंड से दूसरे म्यूचुअल फंड में की जाती है.

July 30, 2021 11:38 AM
know best investment options at record market high systematic transfer plan stp better option to investment in equity fundअगर आपके पास एकमुश्त फंड है तो उसे एसटीपी के जरिए निवेश करना बेहतर होगा.

Investment Tips | STP: स्टॉक्स में तेजी के चलते कई निवेशक ऐसे होते हैं जो बाजार से दूर रहना बेहतर समझते हैं. कई ऐसे स्टॉक्स हैं जो 52 हफ्ते की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गए हैं, ऐसे में निवेशकों को अपनी पूंजी के निवेश को लेकर उलझन है. इनमें निवेश पर मुनाफावसूली का डर बना रहता है. ऐसे निवेशकों के लिए सिस्टमैटिक ट्रांसफर प्लान (STP) बेहतर विकल्प है. इसके तहत निवेश की कई पूंजी को डेट फंड से इक्विटी फंड में निवेश किया जाता है.

एसटीपी एक तरह से सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) की ही तरह है जिसमें नियमित तौर पर फिक्स्ड डेट पर निश्चित राशि बैंक खाते से म्यूचुअल फंड में निवेश हो जाती है. एसटीपी एक ऐसी एसआईपी है जो एक म्यूचुअल फंड से दूसरे म्यूचुअल फंड में की जाती है.

Alert! कल तक निपटा लें यह काम, नहीं तो बंद हो जाएगा डीमैट-ट्रेडिंग खाता, 1 अगस्त से बदल जाएंगी ये चीजें

ऐसे समझें STP को

  • अगर आपके पास 1 लाख रुपये हैं और आप इसे बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो इसे पहले डेट फंड में निवेश करना होगा. इसके लिए डेट फंड की अल्ट्रॉ शॉर्ट टर्म, लो ड्यूरेशन व लिक्विड फंड बेहतर विकल्प हैं.
  • यह प्लान लेते समय ही तय करना होता है कि कितनी रकम हर महीने इक्विटी में निवेश की जाएगी. जैसे कि आपने तय कर लिया है कि हर महीने 5 हजार रुपये इक्विटी फंड में निवेश होगा.
  • एक महीने के बाद आपके डेट फंड में 95 हजार रुपये रह जाएंगे और शेष 5 हजार रुपयों इक्विटी फंड में निवेश हो जाएंगे. इसी तरह हर महीने डेट फंड से पैसे कटते जाएंगे और इक्विटी फंड में निवेश बढ़ता जाएगा.
  • धीरे-धीरे 20 महीनों में आपका पूरा पैसा इक्विटी फंड में चला जाएगा.
  • इन 20 महीनों के दौरान डेट फंड में पड़ी हुई रकम से एक फिक्स्ड इनकम होती रहेगी.

FD: शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव से रहना है दूर, तो इन बैंकों में एफडी पर पाएं 7% से अधिक ब्याज

एसटीपी में निवेश के ये हैं फायदे

  • एक फंड हाउस (एएमसी) के दो म्यूचुअल फंड के बीच एसटीपी किया जा सकता है.
  • एसटीपी का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसमें मार्केट टाइमिंग रिस्क कम हो जाता है.
  • एकमुश्त राशि को एसआईपी में निवेश करने की बजाय एसटीपी में निवेश करना बेहतर है क्योंकि एकमुश्त राशि को हमेशा कम से कम प्राइस पर निवेश करना बेहतर माना जाता है और वर्तमान भाव भविष्य के भाव के मुकाबले कम या अधिक है, इसका आकलन असंभव है.
  • एसटीपी में पैसा इक्विटी फंड में ट्रांसफर होने से पहले तक लिक्विड या शॉर्ट टर्म फंड में तक पड़ा रहता है. लिक्विड या शॉर्ट टर्म फंड में जो पूंजी होती है, उस पर रिटर्न भी मिलता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. निवेश के लिए फंड है, लेकिन मार्केट वैल्यूएशन ऊंचा लग रहा है? सिस्टमैटिक ट्रांसफर प्लान (STP) दूर कर सकता है आपकी चिंता

Go to Top