सर्वाधिक पढ़ी गईं

अपने शेयर एक डीमैट एकाउंट से दूसरे एकाउंट में ट्रांसफर करना चाहते हैं? जानिए क्या है इसका आसान तरीका

शेयरों को एक डीमैट खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर करना बहुत आसान है और इसे ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से किया जा सकता है.

August 25, 2021 9:38 AM
know about how to transfer shares from one demat account to another in detailsस्टॉक्स में निवेश करने वाले निवेशकों के पास डीमैट खाते होते हैं जिसके जरिए शेयरों की खरीद-बिक्री होती है.

डीमैट खाते के जरिए शेयरों की खरीद-बिक्री होती है. हालांकि कई बार ऐसा होता है कि निवेशकों के पास एक से अधिक डीमैट खाते होते हैं तो एक खाते से दूसरे खाते में शेयरों को ट्रांसफर करना पड़ता है. शेयरों को एक डीमैट खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर करना बहुत आसान है और इसे ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से किया जा सकता है. हालांकि अपनी सुविधा के मुताबिक सभी शेयरों को एक खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर करने की बजाय कुछ शेयर्स भी ट्रांसफर कर सकते हैं. ट्रांसफर करने पर शेयरों की खरीद तिथि में कोई बदलाव नहीं होगा.

No Claim Bonus in Health Insurance: कम प्रीमियम में ही बढ़ जाएगा हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज, ‘नो क्लेम बोनस’ के हैं बड़े फायदे

इन चार कारणों से शेयर ट्रांसफर की जरूरत

  • आपके पास एक से अधिक डीमैट खाते हैं और आप अपने सभी शेयरों को एक ही खाते में देखना चाहते हैं.
  • आप अपने शेयरों को अलग-अलग खाते में अपनी जरूरत के मुताबिक रखना चाहते हैं जैसे कि लांग टर्म प्लान के लिए जो शेयर आपके पास हैं, उन्हें अलग खाते में रखना चाहते हैं और बाकी शेयरों के लिए अलग खाता.
  • ब्रोकरेज राशि के चलते अपने वर्तमान ब्रोकर को बदल रहे हैं ताकि आपका ट्रेडिंग अमाउंट बढ़ सके.
  • फुल सर्विस ब्रोकर के पास स्विच हो रहे हैं जहां हर दिन कुछ टिप्स मिलते हों और अधिक रिपोर्ट्स मिलती हों.

क्लोजर-कम-ट्रांसफर

इस प्रक्रिया के तहत आप आपने वर्तमान खाते को बंद कर अपनी पूरी होल्डिंग्स को नए ब्रोकर के जरिए खोले गए डीमैट खाते में ट्रांसफर करते हैं. इसके लिए आपको खाता बंद करने के फॉर्म के साथ-साथ नए ब्रोकर का क्लाइंट मास्टर रिपोर्ट (सीएमआर) भी अपने वर्तमान ब्रोकर के पास जमा करना होगा. यहां यह ध्यान रहे कि अगर कोई शेयर लॉक-इन है तो सीडीएसएल और एनएसडीएल डिपॉजिटरीज के बीच आपस में शेयरों का ट्रांसफर नहीं हो सकेगा. इसके अलावा दोनों खाते एक ही शख्स के नाम पर होना चाहिए या अगर संयुक्त खाता है तो दोनों खाते में प्राइमरी होल्डर समान होना चाहिए.

Investment Tips : शेयर बाजार की दौड़ में शामिल होने से पहले इन 5 बातों को जरूर समझ लें नए निवेशक, नहीं तो होगा नुकसान

ऑफलाइन ट्रांसफर

शेयरों को ऑफलाइन ट्रांसफर करने के लिए अपने वर्तमान ब्रोकर के पास डीआईएस (डिलीवरी इंस्ट्रक्शन स्लिप) जमा करना होता है. इसके अलावा इस फॉर्म के साथ नए ब्रोकर के पास से मिले सीएमआर की भी कॉपी जमा करनी होती है. अगर वर्तमान ब्रोकर एनएसडीएल है तो इंटर डिपॉजिटरी स्लिप का प्रयोग करना होगा और अगर यह सीडीएसएल है तो इंट्रा-डिपॉजिटरी स्लिप का प्रयोग करना होगा. इस स्लिप में दोनों ब्रोकर की आईडी, ट्रांसफर किए जाने वाले शेयरों का आईएसआईएन नंबर, ट्रांसफर मोड (बाइ डिफॉल्ट इंटर-डिपॉजिटरी ट्रांसफर) इत्यादि जानकारियां भरनी होती हैं. ध्यान रहे कि इसके तहत सिर्फ फ्रीहोल्डिंग्स को ट्रांसफर किया जा सकता है और अगर खाता बंद कर रहे हैं तो ट्रांसफर चार्ज नहीं लगेगा यानी कि अगर दोनों खाते चालू रख रहे हैं तो शेयर ट्रांसफर के लिए कुछ चार्ज लग सकता है.

ऑनलाइन तरीके से

  • अगर शेयर सीडीएसएल के साथ हैं तो इसके ‘Easiest’ फीचर के जरिए शेयरों को ऑनलाइन ट्रांसफर कर सकते हैं. इसके लिए सीडीएसएल की वेबसाइट पर जाकर आपको रजिस्टर करना होगा.
  • ‘रजिस्टर ऑनलाइन’ लिंक पर क्लिक करें.
  • ‘Easiest’ विकल्प चुनें.
  • सभी मांगी गई जानकारियां भरें.
  • इस का प्रिंट आउट लेकर डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (डीपी) को दें.
  • डीपी इसे सेंट्रल डिपॉजिटरी के पास भेज देगा जो आपकी भरी हुई जानकारियों को प्रमाणित करेगा.
  • कुछ दिनों के भीतर आपको ई-मेल पर लॉन इन क्रिडेंशियल्स मिल जाएगा.
  • अब आप लॉग इन कर अपने शेयरों को ट्रांसफर कर सकते हैं.
    (इनपुट: कोटक सिक्योरिटीज और जीरोधा)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. अपने शेयर एक डीमैट एकाउंट से दूसरे एकाउंट में ट्रांसफर करना चाहते हैं? जानिए क्या है इसका आसान तरीका

Go to Top