मुख्य समाचार:
  1. Bitcoin: बिटक्वॉइन ने सिर्फ 5 साल में 1 लाख को बना दिया 15 लाख, 1150% दिया रिटर्न

Bitcoin: बिटक्वॉइन ने सिर्फ 5 साल में 1 लाख को बना दिया 15 लाख, 1150% दिया रिटर्न

Bitcoin: बिटक्वॉइन ने निवेशकों को किया मालामाल

April 24, 2019 11:14 AM
Bitcoin, बिटक्वॉइन, Virtual Currency, Bitcoin Return, Investors, निवेशक, Bitcoin ValueBitcoin: बिटक्वॉइन ने निवेशकों को किया मालामाल

Bitcoin Return: वर्चुअल करंसी बिटक्वॉइन में रैली जारी है. मंगलवार के ट्रेड में बिटक्वॉइन करीब 4.5 फीसदी बढ़कर 5600 डॉलर के पार निकल गया और 5627 डॉलर का हाई टच किया. यह बिटक्वॉइन के लिए 6 महीने का हाई है. बिटक्वॉइन की बात करें तो यह ऐसा निवेश है, जिसने कई निवेशकों को अमीर बना दिया है. 5 साल पहले यानी अप्रैल 2014 में इसकी वैल्यू करीब 450 डॉलर थी. यानी सिर्फ 5 साल में इसने 1150 फीसदी का रिटर्न दिया है. सोचिए कि अगर 5 साल पहले इसमें भारतीय करंसी से 1 लाख रुपये निवेश किया होता तो उसकी आज कितनी वेल्यू होती.

Bitcoin: 5 साल में कितनी बढ़ी वैल्यू

अप्रैल 2014 में डॉलर व रुपये की एक्सचेंज वैल्यू 60.63 रुपये प्रति डॉलर थी. ऐसे में अगर 1700 डॉलर तब निवेश करते तो यह भारतीय करंसी से करीब 1 लाख रुपये होता. वहीं, अब 1 बिटक्वॉइन 5627 डॉलर का हो गया है. ऐसे में 1700 डॉलर का निवेश बढ़कर करीब 21258 डॉलर होगा. जिसकी रुपये में वैल्यू करीब 14.8 लाख रुपये होगी. अप्रैल 2019 में डॉलर व रुपये की एक्सचेंज वैल्यू 69.50 रुपये प्रति डॉलर होगी.

लांच के बाद से कितना रिटर्न

2008 में जब बिटक्वॉइन लांच हुआ था तो इसकी वैल्यू 8 डॉलर थी. इस लिहाज से करीब 11 साल में बिटक्वॉइन ने 70,000 फीसदी से ज्यादा या 700 गुना रिटर्न दिया है.

दिसंबर 2017 में 19666 डॉलर पहुंचा था भाव

बिटक्वॉइन में पिछले दिनों किस तरह से तेली आई थी, इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि दिसंबर 2017 में इसकी कीमत 19666 डॉलर के करीब पहुंच गई थी. हालांकि उसके बाद से इसकी कीमतों में गिरावट आई है.

क्या है बिटक्वॉइन?

बिटक्वॉइन एक तरह की क्रिप्टोकरेंसी है. यह एक तरह की डिजिटल करेंसी है, जो क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर संचालित और बनाई जाती है. इस तरह पैसों के लेन-देन के लिए आपको बैंकों तक जाने की जरूरत नहीं है. अगर आपके पास बिटक्वॉइन है, तो इसकी कीमत और वैल्यू उसी तरह मानी जाएगी जैसे ईटीएफ में कारोबार करते समय सोने की होती है. आप बिटक्वॉइन के जरिए ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं और इसे निवेश के रूप में भी रख सकते हैं.

RBI कर चुका है आगाह

बिटक्वॉइन और ऐसी दूसरी वर्चुअल करंसी को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया आगाह कर चुका है. रिजर्व बैंक के अनुसार इस तरह की करंसी में ट्रेड करने के लिए किसी भी कंपनी को न तो लाइसेंस दिया गया है और न ही अधिकृत किया गया है.

आरबीआई का कहना है कि वर्चुअल करंसी में ट्रेडिंग को मान्यता नहीं दी गई है. फिर भी यहां इनमें ट्रेडिंग हो रही है, ऐसे में यह रिस्की है. बता दें कि दुनियाभर के तमाम देशों में बिटक्वॉइन और दूसरी वर्चुअल कंरसी में ट्रेडिंग बढ़ रहा है, लेकिन भारत में इसे मान्यता नहीं है. बर्चुअल करंसी में ट्रेडिंग को रेग्युलराइज्ड किए जाने की बात हो रही है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop