मुख्य समाचार:

भारत की बजाय विदेश में भी खरीद सकते हैं प्रॉपर्टी, अमेरिका, इंग्लैंड में अच्छे ऑप्शन

जानकारों का मानना है कि भारतीयों को फिर चाहे वो रेसिडेंट हो या नॉन रेसिडेंट, प्रॉपर्टी में निवेश करने की खासी दिलचस्पी रहती है.

February 14, 2019 11:01 AM
investment in foreign real estate sector like us uk is better than investing in indian real estate like delhi mumbaiReal Estate : पिछले 5 सालों में भारतीय रियल स्टेट सेक्टर में सुस्ती.

Real Estate: अगर आप घर खरीदने की सोच रहे हैं और सिर्फ इसलिए नहीं ले पा रहे हैं क्योंकि इंडिया में अभी प्रॉपर्टी के रेट महंगे हैं या मार्केट कंडीशन अच्छी नहीं है तो चिंता मत कीजिए, आप विदेश में भी प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं. आज के समय में भारत के मुकाबले विदेशों यहां तक की अमेरिका और इंग्लैंड जैसे देशों में भी अच्छे विकल्प मौजूद हैं

विदेश में रहने की इच्छा रखने वालों के लिए अच्छा ऑप्शन

सच है कि विदेश में प्रॉपर्टी लेना कोई बच्चों का खेल नहीं. काफी सोच विचार करना पड़ता है, साथ ही अलग देश की अलग कंडीशन होती है. उन्हें भी पूरा करना पड़ता है. लेकिन ये उन लोगों के लिए सही है जो आने वाले समय में विदेश में बसना चाहते है, या किसी का परिवार या रिश्तेदार पहले से ही विदेश में रह रहा है, या फिर विदेश में कोई बिजनेस हो या आगे करना चाहते हों. ऐसे लोग विदेश में कोई रहने के लिए या निवेश के तौर पर प्रॉपर्टी खरीद सकते है.

इंडस्ट्री के जानकारों का मानना है कि भारतीयों को फिर चाहे वो रेसिडेंट हो या नॉन रेसिडेंट, प्रॉपर्टी में निवेश करने की खासी दिलचस्पी रहती है. हालांकि पिछले 20 सालों में भारतीय रियल स्टेट काफी बढ़ा है लेकिन पिछले 5 सालों में भारतीय बाजार में बहुत अच्छी बढ़ोतरी देखने को नहीं मिली. इसके अलावा रुपये के गिरते दाम और GST की वजह से भी निवेशकों को भारतीय रियल स्टेट सेक्टर आक​र्षित नहीं कर सका. .

प्रॉपर्टी की सही समय पर डिलीवरी ना करना बड़ी मुश्किल

नितेश पंजाबी, एसोसिएट डायरेक्टर, कैपिटल मार्केट और इंवेस्टमेंट सर्विजेस, कोलियर्स इंटरनेशनल इंडिया का कहना है कि “कुछ डेवलपर्स समय पर प्रॉपर्टी की डिलीवरी नहीं कर रहे हैं, इसकी वजह से भी निवेशकों के मन में झिझक आई है. जबकि अमेरिका और इंग्लैंड जैसे देशों के मार्केट भारत के मुकाबले थाड़े स्टेबल है”.

विदेश में निवेश करने से आप खुद को रुपये की गिरती कीमतों से भी बचा सकते हैं. इसके भारत की तुलना में विदेश की बोरोइंग कॉस्ट भी रेंट से मिलने वाली कमाई के लगभग बराबर ही है. इन कारणों से भी विदेश में निवेश करना आज की तारीख में अच्छा ऑप्शन है.

Real Estate : निवेश से पहले जानकारी जरुरी

प्रशांत ठाकुर, हैड रिसर्चर, ANAROCK प्रॉपर्टी का कहना है कि विदेश जैसे न्यू यॉर्क, लंडन या सैन्ट्रल सिंगापुर में प्रॉपर्टी का दाम सेंट्रल दिल्ली या साउथ मुंबई की अच्छी प्रॉपर्टी के बराबर ही हैं. इन प्रॉपर्टी का दाम 15 से 25 करोड़ के आसपास है. वहीं हाल हीं में दुबई में लॉन्च हुए प्रोजेक्ट की कीमत भी बैंगलौर, पूणे, मुंबई या नवी मुंबई में 2 से 3 रुपये करोड़ में मिलने वाली प्रॉपर्टी के बराबर है.

ANAROCK प्रॉपर्टी कंसलटेन्ट्स की रिपोर्ट में कहा गया कि सभी बातों को ध्यान में रखते हुए एक व्यक्ति मेन शहर से दूर भी घर या कॉम्पेक्ट प्रोपर्टी जिसमें ऑफिस और घर दोनों होते हैं, खरीद सकते है. हालांकि निवेश करने से पहले मार्केट की जानकारी होनी चाहिए. मार्केट की जानकारी ना होने से बुरे नतीजे सामने आ सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. भारत की बजाय विदेश में भी खरीद सकते हैं प्रॉपर्टी, अमेरिका, इंग्लैंड में अच्छे ऑप्शन

Go to Top