scorecardresearch

Mutual Funds: दुनियाभर के बाजारों में गिरावट, इंटरनेशनल फंड्स का बिगड़ा रिटर्न, निवेशक क्या करें?

1 साल का रिटर्न चार्ट उठाकर देखें तो इक्का दुक्का इंटरनेशनल फंड ही ऐसे मिलेंगे, जिनमें रिटर्न डबल डिजिट में रहा है. ज्यादातर में रिटर्न लोअर सिंगल डिजिट में या निगेटिव है.

दुनियाभर के बाजारों में गिरावट से इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड्स का रिटर्न बिगड़ा है. (reuters)

International Mutual Funds: दुनियाभर के बाजारों में गिरावट से इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड्स में पैसा लगाने वाले निवेशकों का नुकसान हो रहा है. बीते 1 साल का रिटर्न चार्ट उठाकर देखें तो इक्का दुक्का फंड ही ऐसे मिलेंगे, जिनमें रिटर्न डबल डिजिट में रहा है. ज्यादातर फंड में एक साल का रिटर्न लोअर सिंगल डिजिट में या निगेटिव है. इनमें वे फंड भी शामिल हैं, जिनमें लंबी अवधि के दौरान हाई रिटर्न देने का ट्रैक रिकॉर्ड रहा है. अब सवाल उठता है कि जिन निवेशकों ने इनमें पैसा लगा रखा है, उन्हें क्या करना चाहिए. या नए निवेशकों को इंटरनेशनल फंड में क्या करना चाहिए.

पैसा लगा चुके हैं तो क्या करें

BPN फिनकैप के डायरेक्टर एके निगम का कहना है कि अभी इक्विटी बाजारों में अनिश्चितता का माहौल है और एक देश के बाजार का इंपैक्ट दूसरे देश के बाजारों पर पड़ रहा है. कई ग्लोबल शेयरों में गिरावट के चलते इंटरनेशनल फंड के हालिया रिटर्न खराब हुए हैं. लेकिन यह बाजार इसी तरह से हमेशा नहीं रहेगा. बाजार में पहले से ही बड़ा करेक्शन आ चुका है और अब धीरे धीरे वैल्युएशन वाजिब हो रहा है. इसलिए जिन निवेशकों का पैसा इंटरनेशनल फंड में लगा है, उन्हें घबराकर निर्णय लेने की जरूरत नहीं है. बल्कि बाजार में जब भी गिरावट आए, अब SIP टॉप अप कराने की जरूरत है. एकमुश्त निवेश है तो एडिशनल परचेज कर सकते हें. कम भाव पर निवेश से ज्यादा यूनिट मिलेगी. जब बाजार में आगे तेजी आएगी तो बढ़ी यूनिट का फायदा मिलेगा.

IPO में चूक गए थे! फिर बने निवेश के मौके, नए लिस्ट होने वाले ये शेयर दे सकते हैं 107% तक रिटर्न

नए निवेशक हैं तो क्या करें

निगम का कहना है कि नए निवेशकों को अपने रिस्क प्रोफाइल पर फंड चुनने की सलाह है. क्योंकि अभी सभी प्रमुख बाजारों की हालत एक जैसी ही है. अलग अलग बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के सेंटीमेंट एक दूसरे को प्रभावित कर रहे हैं. महंगाई और रेट हराइक साइकिल का समाना ज्यादातर बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को करना पड़ रहा है. लेकिन यहां एक सलाह है कि नए निवेशक SIP या STP के जरिए ही बाजार में थोड़ा थोड़ा पैसा लगाएं. एकमुश्त पैसा लगाकर फंसने की जरूरत नहीं है. बाजार में जब स्थिरता आए तभी एकमुश्त निवेश की सोचें.

लंबी अवधि और शॉर्ट टर्म रिटर्न

DSP World Mining Fund

1 साल का रिटर्न: 6 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 19 फीसदी

Motilal Oswal NASDAQ 100 ETF

1 साल का रिटर्न: -4.78 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 20 फीसदी

DSP US Flexible Equity Fund

1 साल का रिटर्न: -0.28 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 16 फीसदी

ICICI Pru US Bluechip Equity Fund

1 साल का रिटर्न: -3.37 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 16 फीसदी

Edelweiss US Value Equity Off-shore Fund

1 साल का रिटर्न: 3 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 12.5 फीसदी

Nippon India US Equity Opportunities Fund

1 साल का रिटर्न: -8.59 फीसदी
5 साल का रिटर्न: 15.36 फीसदी

(Disclaimer: इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड में निवेश को लेकर विचार एक्सपर्ट के द्वारा दिए गए हैं. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Investment Saving News

TRENDING NOW

Business News