Real Estate Investment Trust
मुख्य समाचार:
  1. Embassy REIT IPO: निवेश के लिए कैसे करें अप्लाई, पैसा लगाना कितना बेहतर

Embassy REIT IPO: निवेश के लिए कैसे करें अप्लाई, पैसा लगाना कितना बेहतर

Real Estate Investment Trust : 3 अप्रैल को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बीएसई में एम्बेसी के यूनिट्स के लिस्ट होने की उम्मीद है.

March 18, 2019 5:59 PM
india first reit ipo embassy open for subscription on stock exchangeIPO में निवेश करना डिस्काउंट ब्रोक्रेज के मुकाबले सर्विस ब्रोकर से ज्यादा आसान है.

Real Estate Investment Trust : एम्बेसी रियल एस्टेट इंवेस्टमेंट आईपीओ ( Embassy REIT IPO) आज से यानी 18 मार्च से निवेश के लिए खुल गया है. इस IPO में 20 मार्च तक आवेदन किया जा सकता है. ये देश का पहला रीयल एस्टेट इंवेस्टमेंट ट्रस्ट होगा जो इंडियन स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड होगा. कोई भी कंपनी, खुलते समय या ग्रोथ के लिए इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) के जरिए से पैसा जुटाती है. इस पैसे को कारोबार में लगाया जाता है और होने वाले फायदे को कंपनियों के शेयर होल्डर्स बांट दिया जाता है. Embassy REIT IPO के प्रोसपेक्टस को सेबी की बेवसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है.

3 अप्रैल को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बीएसई में यूनिट्स के लिस्ट होने की उम्मीद है. फेयरवेल्थ ग्रुप के प्रकाश पांडे बताते हैं कि मोडिरेट रिस्क प्रोफाइल वाले निवेशक REIT में निवेश कर सकते हैं क्योंकि REIT ने पहले भी अच्छा डिविडेंड दिया.

RIET म्यूचुअल फंड स्कीम से मिलते जुलते हैं क्योंकि इन दोनों में ही निवेशक फंड इकट्ठा करते हैं. हालांकि इन दोनों का स्ट्रक्चर और ऑपरेशन एक-दूसरे से बहुत अलग है. REIT एक ट्रस्ट है, जिसमें प्रोपर्टीज में निवेश किया जाता है. इसके स्ट्रक्चर में तीन मुख्य सदस्य शामिल होते हैं – स्पॉनसर, ट्रस्टी और मैनेजर. RIET को सेबी रेगुलेट करता है.

Mutual Fund: कम जोखिम और बेहतर रिटर्न, म्यूचुअल फंड में कैसे शुरू करें निवेश

RIET के फायदे

जो लोग बैलेस्ड फंड पसंद करते हैं और अलग-अलग जगह पैसा निवेश करते हैं. उनके लिए REIT एक अच्छा विकल्प है. प्रोपर्टी के निवेश लिक्विडिटी कम होती है. जबकि REIT में लिक्विडिटी की समस्या नहीं है. जो लोग लंबे समय के लिए निवेश करना चाहते हैं ये उनके लिए अच्छा ऑप्शन है. ये रिटेल और इंस्टिट्यूशनल दोनों ही निवेशकों के लिए अच्छा ऑप्शन है.

RIET में निवेश करने की प्रक्रिया

REIT में निवेश करने के लिए डीमेट अकाउंट की जरुरत है. किसी भी ब्रोकरेज प्लैटफॉर्म जैसे ICICI डायरेक्ट, एक्सिस डायरेक्ट आदि जो कि सर्विस ब्रोकर कहे जाते हैं, के माध्यम से निवेश किया जा सकता है. IPO में निवेश करना डिस्काउंट ब्रोक्रेज के मुकाबले सर्विस ब्रोकर से ज्यादा आसान है.

निवेश करने पर कितना मिलेगा रिटर्न ?

रियल एस्टेट में नकदी कम होती है, और माना जाता है कि यहां इंवेस्ट करने के लिए बहुत ज्यादा रकम की जरुरत होती है. REIT में रियल एस्टेट में निवेश करने के बावजूद लिक्विडिटी भी है. साथ ही बहुत ज्यादा पैसे की भी जरुरत नहीं पड़ती. प्रकाश पांडे कहते हैं कि REIT में निवेश से 8 से 10 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है. REIT से मिलने वाला ब्याज उसकी लीज पर दी गई प्रोपर्टी के रेंट पर भी निर्भर करेगा. दास गुप्ता का कहना है कि अच्छे से मैनेज की गई में 13 से 14 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है”. प्रोपर्टी के खरीद-बेच का भी इस पर असर पड़ेगा. REIT में निवेश कम से कम 3 साल के लिए निवेश करना चाहिए.

Go to Top