मुख्य समाचार:
  1. ITR Filing: ITR फाइल करने के 5 बड़े फायदे, भविष्य में आएंगे काम

ITR Filing: ITR फाइल करने के 5 बड़े फायदे, भविष्य में आएंगे काम

ITR Filing: भले ही आप टैक्स के दायरे से बाहर हैं फिर भी आइटीआर भरना चाहिए.

June 25, 2019 6:54 PM
income tax return filing 5 benefits of itr filing without tax liabilityआइटीआर भरने से आपके द्वारा चुकाए गए अधिक टैक्स का रिफंड मिलता है.

वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 2.5 लाख रुपये तक की आय टैक्स फ्री है. बहुत से लोग सोचते हैं कि अगर टैक्स नहीं चुकाना है तो इनकम टैक्स रिटर्न ( ITR) भरकर क्या फायदा. लेकिन भले ही आप टैक्स के दायरे से बाहर हैं फिर भी आइटीआर भरना चाहिए. आइटीआर भरने से आपके द्वारा चुकाए गए अधिक टैक्स का रिफंड ही नहीं मिलता, बल्कि इसके अलावा भी कई फायदे हैं. किसी एनुअल इयर में आइटीआर पिछले वित्त वर्ष का भरा जाता है. जैसे कि एनुअल इयर 2019-20 में वित्त वर्ष 2018-19 का आइटीआर भरना होगा. जानते हैं कि आइटीआर भरना क्यों एक अच्छी आदत है चाहे आप टैक्स के दायरे में आते हों या नहीं.

पेनल्टी से बचें

वित्त वर्ष 2017-18 से, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन लोगों पर धारा 234F के तहत 10,000 रुपये का जुर्माना लगाता है जो टैक्स के दायरे में आने के बाद भी अपना आईटीआर दाखिल नहीं करते हैं. समय पर ITR फाइल करना पेनल्टी से बचाता है. अगर आपकी सालाना इनकम 5 लाख रुपये से ज्यादा नहीं है तब भी आपको टैक्स रिटर्न दाखिल करनी चाहिए.

ITR रसीद एक जरूरी डॉक्यूमेंट

अपनी आईटीआर रिसिप्ट को संभालकर रखें क्योंकि वो आपकी इनकम और टैक्स के भुगतान का सबूत है. इस रिसिप्ट में फॉर्म 16 की तुलना में बहुत अधिक जानकारी होती है. इसमें आपकी टोटल इनकम और अन्य आय की जानकारी रहती है.

बैंक लोन मिलना आसान

जब आप बड़े होम लोन या कार लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो ज्यादातर बैंक और एनबीएफसी आपसे पिछले 3 वर्षों की आईटीआर रिसिप्ट की मांग करते हैं. लेंडर्स ITR रिसिप्ट को सबसे विश्वसनीय इनकम प्रूफ मानते हैं. यदि आप भविष्य में होम या कार लोन लेने की योजना बना रहे हैं, तो आपको नियमित रूप से आईटीआर फाइल करना चाहिए.

वीजा मिलना आसान

अमेरिका, UK, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया जैसे विकसित देशों की एम्बेसी, वीजा देने के लिए पिछले वर्षों की आईटीआर रसीदें मांगती हैं. यह उन्हें आपकी इनकम का अंदाजा लगाने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आप अपनी ट्रिप पर होने वाले खर्चों का ध्यान रख सकें.

पिछले साल के लॉस सेट ऑफ करें

आईटीआर फाइल होने तक आप इस साल के लॉस को अगले वित्त वर्ष के लिए कैरी फॉरवर्ड नहीं कर सकते हैं. इनकम टैक्स लॉ के अनुसार, अगर आईटीआर तय तारीख के अंदर के फाइल नहीं किया है तो आप इस साल के नुकसान को अगले साल के फायदों से नहीं घटा पाएंगे. आगे चलकर नुकसान ना उठाना पड़े इसलिए समय पर आईटीआर दाखिल करना जरूरी है.

By: Archit Gupta, Founder & CEO, ClearTax

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop