मुख्य समाचार:

Income Tax Return: TDS डिपॉजिट और स्टेटमेंट फाइल करते समय न हो गलती, इन बातों का रखें ध्यान

डिडक्टर को TDS डिपॉजिट और स्टेटमेंट फाइल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

Published: July 30, 2020 12:11 PM
income tax return be careful while filing TDS deposit and statement keep these things in mindडिडक्टर को TDS डिपॉजिट और स्टेटमेंट फाइल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

Income Tax Return: मोदी सरकार ने कोरोना संकट के बीच टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत दी है. वित्तवर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तारीख और 2 महीने यानी 30 सितंबर तक बढ़ा दी गई है. पहले यह डेडलाइन 31 जुलाई तक रखी गई थी. डिडक्टर को TDS डिपॉजिट और स्टेटमेंट फाइल करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. इनकम टैक्स विभाग ने ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी है.

इन बातों का रखें ध्यान

  • TDS को डिपॉजिट और स्टेटमेंट को तय तारीख से पहले फाइल करें जिससे आखिरी समय पर होने वाली रूकावट से बचा जा सके. इसके साथ ही इससे देरी से ब्याज के भुगतान और लेट फाइलिंग फीस से भी बच सकते हैं.
  • चालान को जमा करते समय TAN और आकलन वर्ष (AY) को दो बार चेक कर लें.
  • इसके साथ व्यक्ति के सही पैन/ आधार की जानकारी दें. TDS स्टेटमेंट में सही CIN/ BIN को भी देखें. फाइल की गई TDS स्टेटमेंट का सही रसीद नंबर डालने का ध्यान रखें. फॉर्म 24Q के ANNEXURE II में सही डेटा दें.

फॉर्म 16 (TDS सर्टिफिकेट) जारी करने से संबंधित:

  • फॉर्म 16 को केवल TRACES पोर्टल से ही डाउनलोड और जनरेट करें.
  • वित्त वर्ष 2019-20 के लिए फॉर्म 16 को 15 अगस्त 2020 या उससे पहले जारी किया जाना चाहिए.
  • अगर कर्मचारी के एक वित्तीय वर्ष के दौरान कई नियोक्ता हैं, तो हर नियोक्ता नौकरी की अवधि के लिए फॉर्म 16 का अलग पार्ट ए जारी करेगा. फॉर्म 16 के पार्ट बी को दोनों नियोक्ता या केल वर्तमान कर्मचारी की सहमति के मुताबिक कर सकते हैं.
  • TDS स्टेटमेंट को तैयार करने के लिए TIN-NSDL की वेबसाइट से लेटेस्ट क्वाटरली TDS स्टेटमेंट यूटिलिटी (RPU & FVU) को डाउनलोड कर लें.

ITR Filling Deadline Extended: अब 30 सितंबर तक भर सकेंगे इनकम टैक्स रिटर्न, CBDT ने तीसरी बार बढ़ाई तारीख

कुछ टैक्सपेयर्स के डाटा में कमियां

CBDT ने हाल में बताया था कि अबतक की रिटर्न फाइलिंग से मिले डेटा का विश्लेषण करने से कुछ ऐसे टैक्सपेयर्स की जानकारी मिली है, जिन्होंने काफी अधिक लेनदेन किया है, लेकिन उन्होंने असेसमेंट ईयर 2019-20 (वित्त वर्ष 2018-19 के संदर्भ में) के लिए रिटर्न दाखिल नहीं किया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Income Tax Return: TDS डिपॉजिट और स्टेटमेंट फाइल करते समय न हो गलती, इन बातों का रखें ध्यान

Go to Top