मुख्य समाचार:
  1. Income Tax के ये 8 नियम एक अप्रैल से बदल जाएंगे, आपको क्या फायदा मिलेगा

Income Tax के ये 8 नियम एक अप्रैल से बदल जाएंगे, आपको क्या फायदा मिलेगा

वित्तीय वर्ष 2018-19 में वेतन और पेंशन क्लास के लोगों को 40 हजार रुपये स्टैण्डर्ड डिडक्शन का लाभ मिलेगा.

February 23, 2018 11:54 AM
income tax save, save income tax, budget 2018, arun jaitley, ltcg tax, nps, pmvvy, save medical taxचुनिंदा बीमारियों में हुए इलाज खर्च पर 1,00,000 रुपए तक टैक्स छूट मिलेगा. मौजूदा वक्त में 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 80,000 रुपये और 60 से अधिक उम्र के लोगों को 60,000 रुपए की छूट इस मद में दी जाती थी. (Reuters)

अरुण जेटली ने 1 फरवरी को आम बजट 2018 संसद में पेश किया था. बजट में कई बदलाव किए गए हैं. अगर आप नौकरीपेशा हैं तो आपको नए वित्तीय वर्ष 2018-19 के नियम जानने जरुरी हैं.

स्टैण्डर्ड डिडक्शन

वित्तीय वर्ष 2018 में वेतन और पेंशन क्लास के लोगों को 40 हजार रुपये स्टैण्डर्ड डिडक्शन का लाभ मिलेगा. इसके लागू होने के बाद मेडिकल री-इम्बर्समेंट (15000 रुपये) और ट्रांसपोर्ट अलाउंस (19200 रुपए) हट जाएंगे.

EPFO का झटका: ब्‍याज दरें घटाकर 8.55 प्रतिशत की

इनकम टैक्स पर बढ़ेगा सेस

बजट 2018 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इनकम टैक्स पर लगने वाले एजुकेशन और हेल्थ सेस को 3 फीसदी से बढ़ाकर 4 फीसदी कर दिया. आसान भाषा में इसका मतलब यह है कि आपके कुल इनकम टैक्स पर अब 1 फीसदी ज्यादा सेस देना होगा.

LTCG टैक्स फिर से लागू

शेयर बाजार या इक्विटी लिंक्‍ड म्यूच्यूअल फंड में निवेश पर एक साल में अगर 1 लाख रुपए से ज्यादा की कमाई होती है तो इस पर 10 फीसदी LTCG (लॉग टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स) लगेगा. 31 जनवरी 2018 तक हुए मुनाफे टैक्स मुक्त रहेंगे.

टैक्स बचाने वाली इन धाराओं के बारे में नहीं जानते होंगे आप, ऐसे बचा सकते हैं पैसे

NPS निकासी पर टैक्स छूट

NPC (नेशनल पेंशन सिस्टम) में जमा पैसे निकालने का लाभ अब उन्हें भी मिलेगा जो कर्मचारी नहीं हैं. मौजूदा वक्त में NPS में योगदान देने वाले कर्मचारी को ही अकाउंट बंद होने या NPS से निकलते वक्त उन्हें देय कुल रकम के 40 फीसदी राशि टैक्स छूट मिलती है.

हेल्थ इंश्योरेंस पर टैक्स छूट

अब साल भर से ज्यादा के हेल्थ पॉलिसी के प्रीमियम पर उतने साल की छूट मिलेगी जितने साल के लिए पॉलिसी ली गई है. इसे ऐसे समझें, दो साल के इंश्योरेंस कवर के लिए 40,000 रुपये देने पर इंश्योरेंस कंपनी अगर 10 फीसदी छूट दे रही है तो आप दोनों साल 20-20 हजार रुपये का टैक्स डिडक्शन क्लेम कर सकते हैं.

बैंक अगर डूब जाए या दिवालिया हो जाए तो आपके जमा पैसों का क्या होगा?

PMVVY पर मिलेगी टैक्स छूट

PMVVY (प्रधानमंत्री वय वंदना योजना) के तहत निवेश की सीमा को 7.5 लाख से बढ़ाकर 15 लाख रुपये कर दिया गया है. इस योजना के तहत जमा राशि पर 8 फीसदी का निश्चित ब्याज मिलता है. इस योजना का विस्तार 2020 तक कर दिया गया है.

बुजुर्गों को मिलेगी ज्यादा छूट

बुजुर्ग लोगों को बैंक और पोस्ट ऑफिस में जमा रकम से मिले 50 हजार रुपये तक के ब्याज को टैक्स फ्री कर दिया गया है. मौजूदा वक्त में इनकम टैक्स ऐक्ट के सेक्शन 80TTA के तहत किसी व्यक्ति को ब्याज से हुए 10,000 रुपये तक के लाभ पर टैक्स छूट मिलती रही है.

इलाज खर्च पर टैक्स छूट की सीमा बढ़ी

चुनिंदा बीमारियों में हुए इलाज खर्च पर 1,00,000 रुपए तक टैक्स छूट मिलेगा. मौजूदा वक्त में 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 80,000 रुपये और 60 से अधिक उम्र के लोगों को 60,000 रुपए की छूट इस मद में दी जाती थी.

अटल पेंशन योजना: पांच ख़ास बातें जो आपको जानना जरुरी है

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop