सर्वाधिक पढ़ी गईं

IDFC First बैंक ला रहा ‘सेफपे’, ऐप में रहेगा डेबिट कार्ड; फोन वेव करने पर हो जाएगा पेमेंट

ग्राहकों को कार्ड न तो फिजिकली अपने साथ रखना होगा और न ही उसे खरीदारी के समय मर्चेंट (दुकानदार) को सौंपना होगा.

Updated: Sep 24, 2020 9:18 PM
IDFC FIRST Bank SafePay facility, you can pay via debit card by simply waving smartphone against a NFC-enabled POS terminalयह एक कॉन्टैक्टलेस डेबिट कार्ड आधारित पेमेंट सुविधा है.

IDFC फर्स्ट बैंक ‘सेफपे’ (Safepay) सुविधा लॉन्च करने वाला है. यह एक कॉन्टैक्टलेस डेबिट कार्ड आधारित पेमेंट सुविधा है. इस डिजिटल सुविधा में IDFC फर्स्ट बैंक के मोबाइल ऐप में डेबिट कार्ड एड रहेगा. ग्राहक बिना संपर्क किए ही नियर फील्ड कम्युनिकेशन (NFC) इनेबल्ड प्वॉइंट ऑफ सेल (POS) टर्मिनल पर अपने स्मार्टफोन को वेव कर (घुमाकर) भुगतान कर सकते हैं. ग्राहकों को कार्ड न तो फिजिकली अपने साथ रखना होगा और न ही उसे खरीदारी के समय मर्चेंट (दुकानदार) को सौंपना होगा.

इससे न सिर्फ लेन-देन की प्रक्रिया संपर्क रहित होती है बल्कि तेज, सुरक्षित और सरल भी होती है. सेफपे के जरिए 2,000 रुपये प्रति लेन-देन तक का भुगतान किया जा सकता है और इसकी दैनिक सीमा 20,000 रुपये तक की है. इसके जरिए रोजमर्रा की खरीदारी को सरल बनाया जा सकता है. बैंक ने बयान में कहा कि यह इस तरह की पहली ऐसी तकनीक है, जिसे एक इंटीग्रेटेड मोबाइल बैंकिंग ऐप में उपलब्ध कराया जा रहा है. सेफपे के फीचर्स का सफल परीक्षण किया गया है और इसे वीजा द्वारा मान्यता दी गई है. अगले एक सप्ताह में यह बैंक के मोबाइल ऐप के जरिए ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगी.

कैसे उठाएं फायदा

सेफपे को चालू करने के लिए ग्राहकों को एक बार अपने IDFC फर्स्ट बैंक डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के साथ लिंक करना होगा. एक्टिव होने के बाद, ग्राहक मर्चेंट के NFC इनेबल्ड POS टर्मिनल पर अपना फोन अनलॉक करने के बाद घुमा (Wave) कर भुगतान कर सकते हैं. इसके जरिए, एन्क्रिप्टेड कार्ड की जानकारी टर्मिनल पर वायरलेस तरीके से प्रसारित की जाती है. डेबिट कार्ड को जरूरत पड़ने पर ऐप से डिलीट भी किया जा सकता है. भुगतान करने के लिए NFC इनेबल्ड स्मार्टफोन को अनलॉक करने के 30 सेकंड के भीतर ही POS टर्मिनल पर घुमाना होगा. यह सुविधा भारत में रहने वाले बचत खाताधारकों के लिए उपलब्ध है, जिनके पास OS 5 और इसके बाद के NFC सक्षम एंड्रॉयड डिवाइस पर वीजा कार्ड और IDFC फर्स्ट मोबाइल ऐप है.

नौकरी की शुरुआत में ही करें रिटायरमेंट प्लानिंग; पैसे को मिलेगी कम्पाउंडिंग पावर, आराम से गुजरेगी लाइफ

COVID19 ने डिजिटल पेमेंट को दिया बढ़ावा

DFC फर्स्ट बैंक की खुदरा देनदारी के प्रमुख अमित कुमार ने कहा, “वायरलेस दुनिया में लोग भुगतान का तरीका बदलना चाहते हैं. महामारी ने डिजिटल पेमेंट को अपनाने की रफ्तार बढ़ा दी है. डिजिटल दुनिया में हमें NFC तकनीक की भूमिका विशेष रूप से महत्वपूर्ण होती नजर आ रही है. सेफपे के जरिए भुगतान का अनुभव बेहतर और प्रतिरोधहीन बनता है. कार्डधारक के लिए कार्ड को भौतिक रूप से अपने पास रखने की जरूरत खत्म हो जाती है और अंतत: कार्ड गुम होने की चिंता भी खत्म हो जाती है. ग्राहक चंद पलों में भुगतान कर स्टोर्स से निकल सकते हैं.”

वीजा के इंडिया और दक्षिण एशियाई प्रॉडक्ट प्रमुख अरविंद रोन्टा ने कहा, “जैसा कि ग्राहक डिजिटल भुगतान को वरीयता दे रहे हैं, वैसे ही भुगतान प्रदातों को भी उनकी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए, चाहे वह भौतिक कार्ड के माध्यम से हो या फिर स्मार्टफोन से. इस तरह की जरूरतों को पूरा करने के लिए, हमें खुशी है कि हम आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के ग्राहकों के लिए टैप-टू-पे लेनदेन शुरू कर रहे हैं.”

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. IDFC First बैंक ला रहा ‘सेफपे’, ऐप में रहेगा डेबिट कार्ड; फोन वेव करने पर हो जाएगा पेमेंट

Go to Top