सर्वाधिक पढ़ी गईं

I-T Refund: इनकम टैक्स विभाग ने 15 लाख टैक्सपेयर्स को भेज दिए 24,792 करोड़, ऐसे चेक करें अपना स्टेटस

How to check IT refund status: आयकर विभाग ने कहा कि उसने चालू वित्त वर्ष में 17 मई तक 15 लाख से ज्यादा करदाताओं को 24,792 करोड़ रुपये का रिफंड जारी किया है.

May 19, 2021 10:12 PM
I-T Refund income tax department issues 24,792 crore to 15 lakh taxpayers how to check statusआयकर विभाग ने कहा कि उसने चालू वित्त वर्ष में 17 मई तक 15 लाख से ज्यादा करदाताओं को 24,792 करोड़ रुपये का रिफंड जारी किया है.

How to check IT refund status: आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि उसने चालू वित्त वर्ष में 17 मई तक 15 लाख से ज्यादा करदाताओं को 24,792 करोड़ रुपये का रिफंड जारी किया है. विभाग ने ट्वीट जारी कर कहा है कि इस राशि में व्यक्तिगत आयकर रिफंड की राशि 7,458 करोड़ रुपये है. जबकि कंपनी कर के तहत 17,334 करोड़ रुपये रिफंड किए गए हैं. विभाग ने कहा कि सीबीडीटी ने 1 अप्रैल 2021 से 17 मई 2021 की अवधि में 15 लाख से अधिक करदाताओं को 24,792 करोड़ रुपये का रिफंड जारी किए हैं.

विभाग ने कहा कि 14.98 लाख मामलों में 7,458 करोड़ रुपये का व्यक्तिगत आयकर रिफंड जारी किया गया है, जबकि 43,661 मामलों में 17,334 करोड़ रुपये का कंपनी कर रिफंड जारी किए गए हैं. आयकर विभाग ने हालांकि रिफंड के लिए वित्तीय वर्ष स्पष्ट नहीं किया. लेकिन माना जा रहा है कि यह रिफंड वित्त वर्ष 2019-20 के लिए दाखिल किए गए टैक्स रिटर्न के लिए है.

विभाग के मुताबिक, 31 मार्च को खत्म वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान उसने 2.38 करोड़ करदाताओं को 2.62 लाख करोड़ के रिफंड जारी किए हैं. वित्त वर्ष 2020-21 में जारी रिफंड वित्त वर्ष 2019-20 में जारी 1.83 लाख करोड़ रुपये के रिफंड के मुकाबले 43.2 फीसदी ज्यादा है.

आम हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से कैसे अलग है Critical Illness Policy? क्या हैं इसमें निवेश का फायदा?

ऐसे चेक करें रिफंड का स्टेटस

बता दें कि इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने और इसके वेरिफिकेशन के बाद जब इसे सब्मिट किया जाता है तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इसकी जांच-पड़ताल करना शुरू कर देता है. अगर आपका क्लेम स्वीकार हुआ तो इसके बाद रिफंड अमाउंट इंटरेस्ट के साथ सीधे आपके बैंक अकाउंट या चेक के द्वारा आपको लौटा दिया जाता है. हालांकि आईटीआर की प्रोसेसिंग में कुछ वक्त लगता है.

  • टैक्स डिपार्टमेंट वेबसाइट पर ‘डैशबोर्ड’ पर दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें. इसके बाद ‘व्यू रिटर्न एंड फॉर्म’ पर क्लिक करें. क्लिक करने के बाद इनकम टैक्स रिटर्न के पेज पर जाने के लिए, ‘इनकम टैक्स रिटर्न’ पर क्लिक करें. इनकम टैक्स रिटर्न के पेज पर जाने के बाद आपको नजर आएगा कि या तो आपकी ITR प्रोसेस्ड हो चुकी है या वेरिफाइड या वेरिफिकेशन के लिए पेंडिंग है.
  • अगर ये दिखाता है कि आपकी ITR अभी तक वेरिफाई नहीं हुई है तो अपने आधार की मदद से दोबारा वेरिफाई करने के लिए रिक्वेस्ट कर सकते हैं या फिर साइन की हुई ITR-V फॉर्म को इंडियन पोस्ट ऑफिस की आम पोस्ट या फिर स्पीड पोस्ट से इनकम टैक्स सीपीसी ऑफिस में भेज दें.
  • जब तक सक्सेसफुली वेरिफाइड लिखा नहीं आ जाए. तब तक आपको अपने रिफंड लौटने का इंतजार करना पड़ेगा.
  • अगर आपको आईटीआर नहीं प्रोसेस हुआ है तो टैक्सपेयर CPC या एसेसिंग अधिकारी को शिकायत याचिका दाखिल कर सकता है. इस याचिका की मदद से टैक्सपेयर्र टैक्स​ डिपार्टमेंट से यह अनुरोध कर सकता है कि उसके आईटीआर प्रोसेसिंग तेज की जाए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. I-T Refund: इनकम टैक्स विभाग ने 15 लाख टैक्सपेयर्स को भेज दिए 24,792 करोड़, ऐसे चेक करें अपना स्टेटस

Go to Top