मुख्य समाचार:
  1. 50 हजार मंथली इनकम के लिए शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, सिर्फ 4.25 लाख होगा खर्च

50 हजार मंथली इनकम के लिए शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, सिर्फ 4.25 लाख होगा खर्च

Mudra Scheme: मुद्रा स्कीम के जरिए चुनें बेस्ट बिजनेस प्लान

March 27, 2019 4:17 PM
Start Business, Mudra Scheme, मुद्रा स्कीम, बिजनेस प्लान, Note Book Business, Copy Manufacturing, Note Book Manufacturing, Mudra LoanMudra स्कीम के जरिए चुनें बेस्ट बिजनेस प्लान

Mudra Scheme: अगर आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो सबसे पहले ध्यान में क्या होना चाहिए. यह जरूरी कि बिजनेस ऐसे प्रोडक्ट का शुरू किया जाए, जिसकी डिमांड मार्केट में हर समय बनी रहे. हम ऐसे ही एक बिजनेस के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिसे शुरू करने के लिए यह बेहतर समय है. नए सत्र के साथ ही कॉपी या नोटबुक की डिमांड तेज हो जाती है. आप इन प्रोडक्ट को बनाने की फैक्ट्री खुद खोल सकते हैं. इसमें सरकार की मुद्रा स्कीम से मदद मिल जाएगी. इसके लिए सरकार ने प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी बनाई है. जिसके अनुसार आपको खुद के पास से 4.25 लाख रुपये खर्च करना होगा. वहीं मंथली सभी खर्च काटने के बाद 50 हजार रुपये मंथली मुनाफा भी हो सकता है.

कितना चाहिए स्पेस : 500 वर्गफुट

वर्किंग कैपिटल: 12 लाख रुपए
( वर्किंग कैपिटल में रॉ मैटेरियल, लेबर चार्ज, पैकिंग, टेलिफोन बिल, बिजली का बिल, रेंट आदि शामिल है.)

मशीनरी पर खर्च: 3.94 लाख रुपए

इलेक्ट्रिफिकेशन पर खर्च: 35 हजार रुपए

फर्नीचर पर खर्च: 45400 रुपए

कुल खर्च: 16.88 लाख रुपये

खुद के पास से कितना खर्च : 4.23 लाख

वर्किंग कैपिटल लोन: 9 लाख रुपए

टर्म लोन: 3.65 लाख रुपए

कितना प्रोडक्ट सेल होगा

सरकार ने एस्टीमेट तैयार किया है, उस हिसाब से इतने खर्च में एक एस्टीमेट के अनुसार मैन्युफैक्चरर हर 3 महीने के दौरान 50 हजार नोटबुक, 10 हजार रिकॉर्ड बुक और 10 हजार नोट पैड सेल कर सकता है.

इनकम का ब्रेक-अप (रुपये में सालाना)

#कास्ट ऑफ प्रोडक्शन: 46.77 लाख सालाना
#टर्नओवर: 59 लाख सालाना
#अन्य खर्च: करीब 4.85 लाख सालाना
#नेट ऑपरेटिंग प्रॉफिट: 7.68 लाख सालाना
#टैक्स व अन्य खर्च निकालने के बाद नेट प्रॉफिट: 7 लाख
#मंथली प्रॉफिट: 50 हजार से ज्यादा

Mudra Scheme: कैसे मिलेगा लोन?

मुद्रा योजना के तहत लोन के लिए आपको सरकारी या बैंक की शाखा में आवेदन देना होगा. अगर आप खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आपको मकान के मालिकाना हक़ या किराये के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे. बैंक मैनेजर वेरिफिकेशन के बाद लोन मंजूर करता है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop