सर्वाधिक पढ़ी गईं

EPF अकाउंट में अपनी डेट ऑफ एग्जिट करनी है अपडेट, इन आसान स्टेप्स को करें फॉलो

अगर आप भी अपने PF खाते में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया बेहद आसान होने के साथ-साथ ऑनलाइन है.

May 18, 2021 3:14 PM
how to update your date of exit in EPF account follow these easy stepsअगर आप भी अपने PF खाते में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया बेहद आसान होने के साथ-साथ ऑनलाइन है.

How to update date of exit in EPF account: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने मेंबर इंप्लॉइज को सुविधा देता है कि वे एक जगह से नौकरी छोड़ने की तारीख EPFO सिस्टम में खुद दर्ज कर सकते हैं. पहले इसके लिए कर्मचारी को एंप्लॉयर पर निर्भर रहना होता था. केवल एप्लॉयर के पास ही कर्मचारी के कंपनी ज्वॉइन करने और छोड़ने की तारीख डालने या अपडेट करने का अधिकार था. किसी वजह से एंप्लॉयर की ओर से इंप्लॉई की डेट ऑफ एग्जिट अपडेट नहीं होने के चलते EPF (Employee Provident Fund) से ​फंड निकालना या ट्रांसफर करना अटक जाता था.

लेकिन अब EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करने का अधिकार कर्मचारी को दिए जाने से गई नई सुविधा के चलते फंड से पैसे निकालने या ट्रांसफर करना और आसान हो गया है. अगर आप भी अपने PF खाते में डेट ऑफ एग्जिट दर्ज करना चाहते हैं तो इसकी प्रक्रिया बेहद आसान होने के साथ-साथ ऑनलाइन है.

स्टेप-बाई-स्टेप प्रॉसेस

  • सबसे पहले https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाएं.
  • यहां UAN, पासवर्ड और कैप्चा कोड डालकर लॉग इन करें. याद रहे आपका UAN एक्टिव होना चाहिए.
  • अब नए खुले पेज पर ऊपर दिए गए सेक्शन में ‘मैनेज’ टैब पर क्लिक करें. इसके बाद ‘मार्क एग्जिट’ चुनें.
  • अब आपके सामने ‘सिलेक्ट इंप्लॉयमेंट’ ड्रॉपडाउन आएगा. इसमें पुराना PF अकाउंट नंबर चुनें जो आपके UAN से लिंक हो.
  • इसके बाद उस अकाउंट और नौकरी से जुड़ी डिटेल शो होंगी. अब इसमें नौकरी छोड़ने की तारीख और कारण डालें. नौकरी छोड़ने के कारणों में रिटायरमेंट, शॉर्ट सर्विस जैसे विकल्प रहेंगे.
  • इसके बाद ‘रिक्वेस्ट OTP’ पर क्लिक करें. यह आपके आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर आएगा.
  • अब निर्धारित स्पेस में OTP डालें.
  • फिर चेक बॉक्स को सिलेक्ट करें.
  • आखिर में, अपडेट और उसके बाद ओके पर क्लिक करना होगा. अब आपकी डेट ऑफ एग्जिट सब्मिट हो गई है.

Emergency Fund: कोरोना जैसे संकट के लिए बनाएं इमरजेंसी फंड, ताकि जरूरत पर रुपये-पैसे की ना हो टेंशन

ये बातें रखें याद

याद रखें कि EPFO सिस्टम में डेट ऑफ एग्जिट अपडेट होने के बाद इसे बदला नहीं जा सकता. यह भी ध्यान रखें कि अगर आपने हाल ही में नौकरी छोड़ी है तो एग्जिट डेट दर्ज करने के लिए आपको 2 महीने का इंतजार करना होगा क्योंकि यह PF में एंप्लॉयर के आखिरी कॉन्ट्रीब्यूशन के 2 महीने बाद ही अपडेट हो सकेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. EPF अकाउंट में अपनी डेट ऑफ एग्जिट करनी है अपडेट, इन आसान स्टेप्स को करें फॉलो
Tags:EPFO

Go to Top