मुख्य समाचार:
  1. How To Get Pension: प्राइवेट नौकरी वालों को भी मिलेगी पेंशन, सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा

How To Get Pension: प्राइवेट नौकरी वालों को भी मिलेगी पेंशन, सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा

प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों के लिए रिटायरमेंट के बाद पेंशन या भविष्य की प्लानिंग आमतौर पर सबसे बड़ा कंसर्न होता है.

December 7, 2018 11:57 AM
How to Open NPS Account, Pension Scheme, Private Sector, नेशनल पेंशन सिस्टम, NPS Benefit, Rules & Conditions, National Pension System, Future Planning, Government Schemeप्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों के लिए रिटायरमेंट के बाद पेंशन या भविष्य की प्लानिंग आमतौर पर सबसे बड़ा कंसर्न होता है.

How to Open NPS Account: प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों के लिए रिटायरमेंट के बाद पेंशन या भविष्य की प्लानिंग आमतौर पर सबसे बड़ा कंसर्न होता है. लेकिन अगर आप प्राइवेट सेक्टर में हैं तो भी रिटायरमेंट के बाद अच्छा खासा पेंशन पाने के हकदार बन सकते हैं, बस आपको सरकार के खास स्कीम नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) का फायदा उठाना होगा. सरकार की स्कीम नेशनल पेंशन सिस्टम से कोई भी नौकरी करने वाला भारतीय नागरिक जुड़ सकता है, खहे वह सरकारी नौकरी में हो या प्राइवेट में. जानते हें इस स्कीम की खासियत…..

क्या है NPS

नेशनल पेंशन सिस्टम यानी एनपीएस सरकार की एक रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है. केन्द्र सरकार ने इसे 1 जनवरी 2004 को शुरू किया था. इस तारीख के बाद ज्वॉइन करने वाले सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए यह योजना अनिवार्य है. हालांकि 2009 के बाद से इस योजना को प्राइवेट सेक्टर में काम करने वालों के लिए भी खोल दिया गया.

प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाला कोई भी शख्स अपनी मर्जी से इस योजना में शामिल हो सकता है. वहीं, रिटायरमेंट के बाद कर्मचारी एनपीएस का एक हिस्सा निकाल सकते हैं और बची हुई रकम से रिटायरमेंट के बाद रेग्युलर इनकम के लिए एन्युटी ले सकते हैं.

किस उम्र वाले हो सकते हैं शामिल

कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 18 से 60 साल के बीच है, इस योजना में शामिल हो सकता है. इस स्कीम में शामिल होने के लिए नो योर कस्टमर (केवाईसी) नियमों का पालन करना जरूरी है.

कैसे खुलेगा अकाउंट?

सरकार ने नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में योजना के लिए सरकारी और निजी बैंकों को प्वॉइंट आॅफ प्रेजेंस बनाया है. आप किसी भी नजदीकी बैंक ब्रांच में जाकर अकाउंट खुलवा सकते हैं. इसके लिए आपको बर्थ सर्टिफिकेट, 10वीं की डिग्री, एड्रेस प्रूफ और आई कार्ड की जरूरत होती है. रजिस्ट्रेशन फॉर्म बैंक से मिल जाता है.

60 हजार रु पेंशन पाने के लिए क्या करें

#अगर योजना में आप 25 की उम्र से जुड़ते हैं तो 60 की उम्र तक यानी 35 साल तक आपको हर महीने 5000 रुपए स्कीम के तहत जमा करना होगा.
#आपके द्वारा किया गया कुल निवेश 21 लाख रुपए होगा.
#नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में कुल निवेश पर अगर अनुमानित रिटर्न 8 फीसदी मान लें तो तो कुल कॉर्पस 1.15 करोड़ रुपए होगा.
#इसमें से 80 फीसदी रकम से एन्युटी खरीदते हैं तो वह वैल्यू करीब 93 लाख रुपए होगी.
#लम्प सम वैल्यू भी 23 लाख रुपए के करीब होगी.
#एन्युटी रेट 8 फीसदी हो तो 60 की उम्र के बाद हर महीने 61 हजार रुपये के करीब पेंशन बनेगी. साथ ही अलग से 23 लाख रुपए का फंड भी.

(नोट: नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में योजना में कम से कम 40 फीसदी रकम का एन्युटी खरीदना जरूरी होता है. ज्यादा पेंशन के लिए एन्युटी की रकम बढ़ा सकते हैं. यहां हमने यहां आॅनलाइन SBI पेंशन फंड कैलकुलेटर और National Pension System कैलकुलेटर पर 80 फीसदी रकम से एन्युटी खरीदने पर कैलकुलेशन किया है.)

किसे मिलता है निवेश का जिम्मा

आपके द्वारा नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में जमा किए गए पैसे को निवेश करने का जिम्मा PFRDA द्वारा रजिस्टर्ड पेंशन फंड मैनेजर्स को दिया जाता है. अभी 8 फंड मैनेजर योजना से जुड़े हैं जो आपके पैसे को इक्विटी, गवर्नमेंट सिक्युरिटीज और नॉन गवर्नमेंट सिक्युरिटीज के अलावा फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं. सब्सक्राइबर्स इनमें से चुनाव कर सकते हैं या बदलाव कर सकते हैं.

2 तरह के होते हैं अकाउंट

स्कीम के तहत 2 तरह के टियर1 और टियर2 अकाउंट होते हैं. टियर1 अकाउंट खुलवाना जरूरी है, जबकि टियर2 अकाउंट कोई भी टियर1 अकाउंट खुलवाने वाला शुरू कर सकता है. टियर1 अकाउंट से 60 साल की उम्र के पहले पूरा फंड नहीं निकाला जा सकता है. जबकि टियर2 अकाउंट में अपनी मर्जी से निवेश कर सकते हैं या फंड निकाल सकते हैं.

Go to Top