सर्वाधिक पढ़ी गईं

बैंक बचत खाते में जमा पैसे को खा रही है महंगाई! इस फॉर्मूले से समझें हर साल कितना हो रहा नुकसान

आम तौर पर ज्यादातर लोग इमरजेंसी फंड के रूप में सेविंग अकाउंट में पैसे रखते हैं कि जब जरूरत हो उसे निकाल सकें.

April 23, 2020 11:41 AM
Bank Savings Account, emergency fund, real rate of return, liquidity, सेविंग अकाउंट, inflation, inflation rate, savings account, bank deposit, emergency fund, इमरजेंसी फंडआम तौर पर ज्यादातर लोग इमरजेंसी फंड के रूप में सेविंग अकाउंट में पैसे रखते हैं कि जब जरूरत हो उसे निकाल सकें.

पिछले 1 साल से ज्यादा समय में रिजर्व बैंक आफ इंडिया (RBI) बढ़ाने के लिए रेपो रेट में 2 फीसदी से ज्यादा कटौती कर चुका है. इसी क्रम में हाल ही में रेपो रेट में 75 बेसिस प्वॉइंट की कटौती हुई. आरबीआई के इस कदम के बाद बैंकों ने जहां कर्ज दरों को कम किया है, वहीं बैक जमा पर मिलने वाले ब्याज में लगातार कटौती की जा रही है. 2015 में जहां एफडी पर 8.25 फीसदी सालाना ब्याज मिलता था, वहीं अब यह 6 फीसदी के आस पास रह गया है. वहीं सेविंग्स अकाउंट पर भी ब्याज दर 2.75 फीसदी से 4 फीसदी के बीच रह गया है. ऐसे में अगर बढ़ती महंगाई के लिहाज से देखें तो बैंक के बचत खाते में पैसे रखकर सिर्फ नुकसान ही हो रहा है.

आम तौर पर ज्यादातर लोग इमरजेंसी फंड के रूप में सेविंग अकाउंट में पैसे रखते हैं कि जब जरूरत हो उसे निकाल सकें. बहुत से लोग ऐसे भी हैं, जो अपनी कुल इनकम या सैलरी को सेविंग्स अकाउंट में ही रहने देते हैं और घर खर्च के लिए उसी में से रकम निकालते रहते हैं. वे घर खर्च के बाद भी बचने वाले पैसों को सालों बचत खाते में जमा रहने देते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि सेविंग अकाउंट में पैसे रखकर महंगाई के लिहाज से आपको कितना नुकसान उठाना पड़ता है. महंगाई के लिहाज से देखें तो रिटर्न के मामले में बचत खाते में दोहरा नुकसान उठाना पड़ता है. एक तो रिटर्न बेहद कम, दूसरा महंगाई से एडजस्ट करें तो यह रिटर्न निगेटिव में चला जाता है.

बचते खाते पर कैसे हो रहा है नुकसान

यहां आप बचत खाते पर मिलने वाले सालाना ब्याज को महंगाई से एडजस्अ कर अपने नुकसान का अंदाजा लगा सकते हैं. इसका मतलब यह हुआ कि बैंक में पैसे रखने से आपको जो ब्याज के रूप में कमाई हो रही है, क्या वह बढ़ती महंगाई के लिहाज से पर्याप्त है. क्या आपकी खरीदने की क्षमता बैंक से मिलने वाले ब्याज से बढ़ रही है या महंगाई उसे घटा दे रही है. यहां आप एक फॉर्मूले से अपनी सेविंग्स पर मिलने वाले असल रिटर्न का कैलकुलेशन कर सकते हैं, फाइनेंस की भाषा में इसे रियल रेट आफ रिटर्न कहते हैं.

क्या है यह फॉर्मूला

रियल रेट ऑफ रिटर्न = [(1+नॉमिनल रेट)/ (1+महंगाई)] -1

अब यहां आप अलग अलग बैंक पर मिलने वाले ब्याज के हिसाब से इसे चेक कर सकते हैं.

स्टेट बैंक आफ इंडिया

बचत खाते पर ब्याज: 2.75 फीसदी
मौजूदा महंगाई दर (CPI): 5.91 फीसदी
रियल रेट आफ रिटर्न: [(1+2.75)/ (1+5.91)] -1 = -2.98

पंजाब नेशनल बैंक

बचत खाते पर ब्याज: 3.25 फीसदी
मौजूदा महंगाई दर (CPI): 5.91 फीसदी
रियल रेट आफ रिटर्न: [(1+3.25)/ (1+5.91)] -1 = -2.51

बैंक आफ बड़ौदा

बचत खाते पर ब्याज: 3.50 फीसदी
मौजूदा महंगाई दर (CPI): 5.91 फीसदी
रियल रेट आफ रिटर्न: [(1+3.50)/ (1+5.91)] -1 = -2.27

ICICI बैंक

बचते खाते पर ब्याज: 3.25 फीसदी
मौजूदा महंगाई दर : 5.91 फीसदी
रियल रेट आफ रिटर्न: [(1+3.25)/ (1+5.91)] -1 = -2.51

HDFC बैंक

बचते खाते पर ब्याज: 4 फीसदी
मौजूदा महंगाई दर : 5.91 फीसदी
रियल रेट आफ रिटर्न: [(1+4.00)/ (1+5.91)] -1 = -1.8

साफ है कि मौजूदा महंगाई दर के आधार पर देखें तो एसबीआई, पीएनबी, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और बेंक आफ बड़ौदा जैसे बड़े सरकारी और निजी बैंकों में सेविंग्स अकाउंट में जो पैसे आपने रखा है, महंगाई के लिहाज से उसका सालाना रिटर्न निगेटिव है. यानी इससे आपकी खरीदने की क्षमता भी प्रभावित हो रही है.

फिर क्या करना चाहिए

एक्सपर्ट का कहना है कि बचते खाते में सिर्फ इमरजेंसी के लिए फंड रखना ही बेहतरतुलना में बेहतर रिटर्न देने वाली सुरक्षित स्कीम में निवेश करना चाहिए. इसमें दूसरी स्माल सेविंग्स स्कीम मसलन एफडी, एनएससी, केवीपी,टाइम डिपॉजिट जैसी स्कीम हैं. वहीं डेट फंड कटेगिरी में भी 1 दिन से 6 महीने की मेच्योरिटी वाली स्कीम हैं, मसलन ओवरनाइट फंड, लिक्विड फंड, अल्ट्रा शॉर्ट टर्म फंड, शार्ट टर्म फंड. इनमें भी जरूरत पर लिक्विडिटी उपलब्ध हेाती है और रिटर्न भी बेहतर है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. बैंक बचत खाते में जमा पैसे को खा रही है महंगाई! इस फॉर्मूले से समझें हर साल कितना हो रहा नुकसान

Go to Top