मुख्य समाचार:
  1. ऑनलाइन ITR भरना बहुत ही आसान, आइए जानते हैं Step by Step पूरी प्रॉसेस

ऑनलाइन ITR भरना बहुत ही आसान, आइए जानते हैं Step by Step पूरी प्रॉसेस

पहले आइटीआर भरने में आयकरदाताओं को बड़ी मेहनत करनी पड़ती थी लेकिन अब इसे भरना और भी आसान क्योंकि अब आप ऑनलाइन भी आइटीआर भर सकते हैं.

June 8, 2019 8:41 AM
itr, e filing, e filing itr, how to file itr online, itr efiling process, आइटीआर, आइटीआर इ-फाइलिंग, ऑनलाइन आइटीआरआयकर रिटर्न (ITR) भरने के लिए आपके पास 31 जुलाई तक का समय है.

आयकर रिटर्न (ITR) भरने के लिए आपके पास 31 जुलाई तक का समय है. पहले इसे भरने में आयकरदाताओं को बड़ी मेहनत करनी पड़ती थी लेकिन अब आईटीआर भरना और भी आसान क्योंकि इसे आप ऑनलाइन भी भर सकते हैं. वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए आईटीआर भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2019 है. जो लोग टैक्स चुकाते हैं, उन्हें तो आइटीआर भरना ही पड़ता है क्योंकि यह अनिवार्य है लेकिन जो लोग टैक्स के दायरे से बाहर हैं, उन्हें भी आईटीआर भरना चाहिए. आइए स्टेप बाइ स्टेप ऑनलाइन आईटीआर भरने की पूरी प्रॉसेस समझते हैं.

वित्त वर्ष 2018-19 में अगर आपकी आय 2.5 लाख रुपये (60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए 3 लाख रुपये) है तो आपको आईटीआर भरना ही पड़ेगा. इसके अलावा अगर आपका टैक्स डिडक्शन ऐट सोर्स (TDS) अधिक कट गया है तो आपको रिफंड पाने के लिए आइटीआर भरना चाहिए. इन दोनों श्रेणियों के लोगों को आइटीआर भरना तो आवश्यक है लेकिन अगर आप इन दोनों ही श्रेणियों में नहीं आते हैं तो भी आइटीआर भरने की आदत अच्छी है और आप इससे कई फायदे उठा सकते हैं.

आइटीआर भरने के फायदे

ITR E-Filing Process

  • इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट के डाउनलोड सेक्शन पर जाएं और आपको जिस श्रेणी का फॉर्म भरना है, उसे डाउनलोड करें. इसे भरकर रख लें. फॉर्म चुनते समय सावधानी बरतें. इंडिविजुअल, पेंशन से आय, प्रॉप्रटी इनकम या अन्य स्रोतों से इनकम के मामले में ITR-1, पूंजीगत लाभ के मामले में ITR-2 और कारोबारियों व पेशेवरों के लिए ITR-3,4,4S फॉर्म है. एक से अधिक घर हैं और उनसे आपको कोई कैपिटल गेन नहीं हुआ है तो ITR-2A फॉर्म डाउनलोड करें.
  • इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जाकर अपना खाता बनाएं. अकाउंट बनाने के लिए आपको पैन नंबर, डेट ऑफ बर्थ, नाम और आवासीय स्थिति जैसी व्यक्तिगत जानकारियां सबमिट करनी होंगी.
  • आपने जो फॉर्म वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड किया है और भरा है, उसे अपलोड कर सबमिट करें.
  • ऑनलाइन टैक्स रिटर्न भरते समय पैन, आधार नंबर और बैंक स्टेटमेंट, आय से जुड़े दस्तावेज जैसे कि फॉर्म 16 और फॉर्म 16A, फॉर्म 26AS, टीडीएस सर्टिफिकेट, पिछले साल का आइटीआर रख लें. होम लोन और इंश्योरेंस से जुड़े दस्तावेज भी अपने पास रखें. यहां आप एचआरए एलआइसी प्रीमियम और सेक्शन 80सी के तहत ऐसे सभी छूट का दावा कर सकते हैं जो अभी तक आपने नहीं किया है. हालांकि मेडिकल रिइंबर्समेंट्स और एलटीए का क्लेम नहीं हो पाएगा.
  • टैक्स रिटर्न भरते समय आपका टैक्स कैलकुलेट होगा. अगर आपको लगता है कि कुछ टैक्स और जमा करना है तो सबसे पहले इसे पेमेंट करें और फिर आइटीआर भरें. अगर इसे पेमेंट नहीं किया तो हर महीने 1 फीसदी की दर से ब्याज चुकाना पड़ सकता है.
  • ऑनलाइन आइटीआर भरने के बाद आपको आयकर विभाग से 15 अंकों का एक्नॉलेजमेंट नंबर मिलेगा. इसे संभाल कर रख लें.
  • टैक्स रिटर्न फाइल होने के बाद आप एक पेज का एक्नॉलेजमेंट बेंगलूरु स्थित आइटी विभाग को भेज सकते हैं या इ-फाइलिंग करने के 120 दिनों के भीतर टैक्स रिटर्न को ऑनलाइन ही वेरिफाई कर सकते हैं. यह महत्त्वपूर्ण है क्योंकि जो रिटर्न वेरिफाई नहीं होते हैं, उन्हें टैक्स डिपार्टमेंट प्रॉसेस नहीं करता है.
  • आप अपने आइटीआर के स्टेटस पैन नंबर और एक्नॉलेजमेंट नंबर के जरिए ऑनलाइन ट्रैक कर सकते हैं.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop