सर्वाधिक पढ़ी गईं

Income Tax Return: नए आईटी पोर्टल के जरिए भरने जा रहे हैं आयकर रिटर्न, तो सिलसिलेवार ढंग से समझ लीजिए पूरा प्रोसेस, जानिए इस पोर्टल की खूबियां

रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू करने से पहले अपने मुख्य दस्तावेज - पिछले साल के रिटर्न, बैंक अकाउंट का डिटेल, फॉर्म -16 और फॉर्म 26AS को संभाल कर रख लें क्योंकि आपको आईटीआर फाइल करते समय इन डिटेल्स की जरूरत होगी.

Updated: Nov 17, 2021 9:40 PM
How to file income tax return on the new e-filing portal and its key featuresआयकर रिटर्न (ITR) दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 दिसंबर, 2021 है.

Income Tax Return: आयकर रिटर्न (ITR) दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 दिसंबर, 2021 है, यानी टैक्सपेयर्स के पास इसके लिए लगभग डेढ़ महीने का समय और है. जानकारों का कहना है कि जितनी जल्दी हो सके, अपना आईटीआर फाइल कर लेना चाहिए. आयकर विभाग ने टैक्सपेयर्स से जल्द से जल्द ITR (Income Tax Return) भरने का आग्रह किया है. सरकार ने टैक्सपेयर्स की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए नया आयकर पोर्टल लॉन्च किया है. नए टैक्स पोर्टल में टैक्सपेयर्स को ये सुविधाएं दी गई है.

नए आईटी पोर्टल के फीचर

  • टैक्सपेयर पोर्टल में पैन के अलावा आधार कार्ड के ज़रिए भी लॉगिन कर सकते हैं.
  • पासवर्ड को रीसेट करना अब आसान हो गया है. आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर ओटीपी आता है.
  • स्टेटिक पासवर्ड जनरेट करने की सुविधा – यह सुविधा उन लोगों के लिए उपयोगी है, जिनका इंटरनेट कनेक्शन कमजोर है या जिनका मोबाइल फोन तक पहुंच नहीं है. ऐसे टैक्सपेयर्स को ओटीपी या ईवीसी प्राप्त करने में मुश्किल होती है. ऐसे लोग स्टेटिक पासवर्ड जनरेट कर सकते हैं और वेरिफिकेशन के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • करदाताओं को किसी भी फ़िशिंग वेबसाइट में लॉग इन करने से बचने में मदद करने के लिए सुविधा दी गई है. टैक्सपेयर्स को लॉग इन करते समय “Your Profile” सेक्शन के तहत एक “Secure Access Message” के रूप में कार्य करने के लिए एक पर्सनलाइज्ड मैसेज जोड़ने की सुविधा दी गई है.
  • एक कंप्रेहेंसिव डैशबोर्ड दिया गया है, जिसमें करदाताओं को लंबित कार्रवाइयों, दायर की गई शिकायतों की स्थिति, ईयर-वाइज टैक्स रिटर्न, जमा किए गए टैक्स आदि की पहचान करने की सुविधा दी गई है. ये सुविधाएं पहले अलग-अलग टैब में उपलब्ध थीं, वहीं इसे एक ही डैशबोर्ड के तहत व्यवस्थित करने से नेविगेट करने में आसानी होगी.
  • “Your Profile” टैब को और ज्यादा विस्तृत बना दिया गया है और इसमें सिटीजनशिप एडिट का विकल्प शामिल है. यह उन करदाताओं (विशेषकर भारत के प्रवासी नागरिकों) के लिए मददगार है, जिन्हें पैन डेटाबेस में नागरिकता परिवर्तन को अपडेट करने के लिए टैक्स ऑफिसर को लेटर लिखना पड़ता था.
  • करदाताओं के पास अपने चार्टर्ड एकाउंटेंट को जोड़ने का विकल्प है. करदाताओं द्वारा उन्हें एक्सेस देने के बाद वे डिटेल्स देखने और करदाता की ओर से जरूरी कार्रवाई जैसे कि शिकायत दर्ज करना, फॉर्म 15CB दाखिल करना आदि में सक्षम होंगे. करदाता किसी अन्य व्यक्ति को अपनी ओर से कार्य करने के लिए अधिकृत कर सकता है, अगर करदाता निश्चित कारणों से खुद काम करने में सक्षम नहीं है.

ITR Filing: आज ही फाइल कर लें आईटीआर, 31 दिसंबर का न करें इंतजार, नहीं तो जेब पर पड़ जाएगा भारी

टैक्स रिटर्न दाखिल करने का प्रोसेस

पहले की तरह, आयकर रिटर्न दाखिल करने की सुविधा ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से उपलब्ध है. करदाता जिनके पास भरने के लिए कई डेटा प्वाइंट्स हैं, उन्हें ऑफ़लाइन मोड के ज़रिए फाइल करना चाहिए. क्योंकि इसमें एक सेशन के लिए टाइमआउट पीरियड 40 मिनट है. ध्यान दें कि प्रक्रिया शुरू करने से पहले अपने मुख्य दस्तावेज – पिछले साल के रिटर्न, बैंक अकाउंट का डिटेल, फॉर्म -16 और फॉर्म 26AS को संभाल कर रख लें क्योंकि आपको आईटीआर फाइल करते समय इन डिटेल्स की जरूरत होगी. ऑनलाइन मोड के ज़रिए आईटीआर फाइल करने और सबमिट करने का पूरा प्रोसेस यहां सिलसिलेवार तरीके से बताया गया है.

  • पोर्टल (https://www.incometax.gov.in/iec/foportal) में लॉग इन करें. अगर आपने पहले से रजिस्ट्रेशन नहीं किया है तो खुद को रजिस्टर करें. आपका पैन आपकी यूजर आईडी की तरह काम करेगा.
  • लॉग इन करने के बाद e-File > Income Tax Returns > File Income Tax Return पर जाएं.
  • “Assessment Year”, “Filing type”, “Status” जैसा एप्लिकेबल हो, सेलेक्ट करें.
  • अगर आप आईटीआर टाइप को लेकर कन्फर्म हैं तो Continue पर टैप करें. अगर कन्फर्म नहीं है तो आप आईटीआर खोजने में मदद के लिए “proceed” पर क्लिक कर सकते हैं.
  • एक बार जब आप आईटीआर को सेलेक्ट कर लेते हैं, तो फाइल करने के लिए कारण चुनें और आईटीआर के एप्लिकेबल फील्ड्स को भरें और पेमेंट करें.
  • Preview पर क्लिक करें और रिटर्न सबमिट करें.
  • वेरिफिकेशन के लिए Proceed पर क्लिक करें.
  • वेरिफिकेशन मोड को सेलेक्ट करें.
  • आईटीआर के वेरिफिकेशन के लिए EVC/OTP दर्ज करें या वेरिफिकेशन के लिए हस्ताक्षरित ITR V, सीपीसी को भेजें.

ऑफलाइन फाइलिंग के लिए, JSON यूटिलिटी को डाउनलोड करना होगा, क्योंकि एक्सेल/जावा यूटिलिटी को बंद कर दिया गया है.

(सरस्वती कस्तूरीरंगन, पार्टनर, डेलॉइट इंडिया; विजय भरेच, सीनियर मैनेजर, और प्रियंका भुटाडा, डेलॉइट हास्किन्स एंड सेल्स एलएलपी के डिप्टी मैनेजर)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Income Tax Return: नए आईटी पोर्टल के जरिए भरने जा रहे हैं आयकर रिटर्न, तो सिलसिलेवार ढंग से समझ लीजिए पूरा प्रोसेस, जानिए इस पोर्टल की खूबियां

Go to Top