सर्वाधिक पढ़ी गईं

डाकघर MIS: कैसे तय होती है हर महीने खाते में आने वाली रकम, अधिकतम कितना मिलेगा लाभ

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (POMIS) सरकारी स्माल सेविंग्स स्कीम है, जो निवेशकों को हर महीने एक तय रकम कमाई का मौका देती है.

June 20, 2020 9:15 AM
POMIS, Post Office Monthly Income Sceme, how post office monthly income scheme work, how to open account in Post Office, know about POMIS every thing, small savings scheme, regular income through post office, पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, स्माल सेविंग्स स्कीमपोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (POMIS) सरकारी स्माल सेविंग्स स्कीम है, जो निवेशकों को हर महीने एक तय रकम कमाई का मौका देती है.

पोस्ट ऑफिस (डाकघर) मंथली इनकम स्कीम (POMIS) सरकारी स्माल सेविंग्स स्कीम है, जो निवेशकों को हर महीने एक तय रकम कमाई का मौका देती है. इस स्कीम के तहत अकाउंट में सिंगह या ज्वॉइंट अकाउंट के तहत एक मुश्त रकम जमा की जाती है. उस रकम के हिसाब से आपके खाते में हर महीने पैसा आता रहता है. स्कीम 5 साल की है, जिसे आगे भी 5—5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है. डाकघर की स्कीम होने के नाते यह पूरी तरह से रिस्क फ्री होती है और यहां आपने 100 फीसदी निवेश पर सरकार सुरक्षा की गारंटी लेती है. जानते हैं पोस्ट ऑफिस MIS स्कीम के तहत कैसे तय होती है मंथली खाते में आने वाली रकम. कितना अधिकतम ले सकते हैं इसका लाभ.

योग्यता

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में कोई भी भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है.
अगर 10 साल से ज्यादा उम्र है तो मादनर के नाम भी अभिभावक की देख रेख में यह खाता खुल सकता है.

किन्हें करना चाहिए इस स्कीम में निवेश

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम उन निवेशकों के लिए बेहतर योजना है जो ​हर महीने फिक्स्ड इनम चाहते हैं, वह भी बेहद सुरक्षित तरह से. इसके अलावा अगर रिटायरमेंट के बाद एक मुश्त रकम मिलती है तो उस रकम को सुरक्षित रखते हुए उसके जरिए हर महीने तय रकम की कमाई की जा सकती है. अगर इंस्टालमेंट की बजाए एक मुश्त निवेश कर रेगुलर रिटर्न चाहते हें तो यह अच्छा विकल्प है.

अधिकतम कितना कर सकते हैं निवेश

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में सिंगल और ज्वॉइंट दोनों तरह के अकाउंट खोलने की सुविधा है. सिंगल अ​काउंट के जरिए अधिकतम 4.5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है. वहीं ज्वॉइंट अकाउंट है तो अधिकतम 9 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. ज्वॉइंट अकाउंट में अधिकतम 3 एडल्ट भी हो सकते हैं. लेकिन अधिकतम 9 लाख की ही लिमिट ​है.

ब्याज दर

अप्रैल से जून तिमाही के लिए सरकार ने पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम के लिए 6​.6​ फीसदी सालाना ब्याज दर तय की है.

कैसे तय होती है मंथली खाते में आने वाली रकम?

मान लीजिए कि आने ज्वॉइंट अकाउंट के जरिए पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में 9 लाख रुपये जमा किए हैं.
6.6 फीसदी सालाना ब्याज दर के हिसाब से इस रकम पर कुल ब्याज 59400 रुपये होगा.
इस रकम को साल के 12 महीनों में बांट दिया जाएगा.
इस लिहाज से हर महीने का ब्याज करीब 4950 रुपये होगा.
वहीं, अगर सिंगल अकाउंट के जरिए 450000 लाख रुपये जमा करते हैं तो मंथली आने वाला ब्याज 2475 रुपये होगा.

कैसे खोलें खाता?

  • इसके लिए आपके पास डाकघर में बचत खाता होना जरूरी है.
  • इसके लिए आपके पास आईडी प्रूफ के लिए आधार कार्ड या पासपोर्ट या वोटर कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस आदि होना जरूरी है.
  • इसके लिए 2 पासपोर्ट साइज के फोटोग्राफ होने जरूरी है.
  • एड्रेस प्रूफ के लिए सरकार द्वारा जारी आईडी कार्ड या यूटिलिटी बिल होने चाहिए.
  • ये डॉक्युमेंट तैयार हैं तो डाकघर में जाकर सबसे पहले पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम का फॉर्म भरना होगा. इसे आनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं.
  • ये फॉर्म सही सही भरकर और सभी जरूरी डॉक्युमेंट जमा कर आप आसान से यह खाता खोल सकते हैं.
  • फॉर्म भरने के साथ ही नॉमिनी का नाम भी देना होगा.
  • यह खाता खोलने के लिए शुरू में 1000 रुपये कैश या चेक के जरिए जमा करना होगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. डाकघर MIS: कैसे तय होती है हर महीने खाते में आने वाली रकम, अधिकतम कितना मिलेगा लाभ

Go to Top