मुख्य समाचार:

LIC टर्म इंश्योरेंस: अमूल्य जीवन से कैसे अलग है Jeevan Amar, जानें नए प्लान में क्या है खास

जीवन बीमा निगम (LIC) ने हाल ही में नया और सस्ता टर्म प्लान जीवन अमर लॉन्च किया है.

August 26, 2019 7:45 AM
How better is LIC’s Jeevan Amar compared to just withdrawn Amulya JeevanImage: Reuters

जीवन बीमा निगम (LIC) ने हाल ही में नया और सस्ता टर्म प्लान जीवन अमर (Jeevan Amar) लॉन्च किया है. इसके जरिए LIC ने अमूल्य जीवन योजना को रिप्लेस किया है. जीवन अमर प्लान का प्रीमियम अमूल्य जीवन से कम है. साथ में जीवन अमर में प्रीमियम पेमेंट्स और डेथ क्लेम लेने दोनों मामलों में फीचर्स और फ्लेक्सिबिलिटी भी अमूल्य जीवन से ज्यादा हैं. इस रिपोर्ट में हमने अमूल्य जीवन और जीवन अमर की कुछ विशेषताओं का कंपैरिजन किया है….

टर्म की मैक्सिमम अवधि: अमूल्य जीवन के तहत अधिकतम 35 साल तक के लिए लाइफ कवर मिलता था, लेकिन जीवन अमर के तहत यह कवर 40 साल तक के लिए मिलता है.

मैक्सिमम एंट्री एज: अमूल्य जीवन प्लान को लेने के लिए मैक्सिमम एंट्री एज 60 साल थी, लेकिन जीवन अमर को लेने के लिए 65 साल तक के लोग भी अप्लाई कर सकते हैं.

मैक्सिमम मैच्योरिटी एज: अमूल्य जीवन प्लान के तहत पॉलिसीधारक को मैक्सिमम 70 साल की उम्र तक लाइफ कवर मिलता था. जीवन अमर में 80 साल की उम्र तक लाइफ कवर का फायदा लिया जा सकता है.

दुर्घटना लाभ राइडर: अमूल्य जीवन में दुर्घटना लाभ राइडर का प्रावधान नहीं था, लेकिन जीवन अमर के तहत, आवेदक पॉलिसी की शुरुआत में या प्रीमियम भुगतान अवधि (पीपीटी) के दौरान किसी भी समय दोहरे दुर्घटना लाभ (डीएबी) का विकल्प चुन सकता है. बशर्ते पीपीटी कम से कम पांच साल होनी चाहिए. इस राइडर के तहत कवर केवल प्रीमियम भुगतान अवधि के दौरान या पॉलिसी वर्षगांठ तक उपलब्ध होगा. यह फायदा सिंगल प्रीमियम विकल्प के तहत उपलब्ध नहीं है. इस राइडर के तहत डीएबी की सीमा 1 करोड़ रुपये है.

चेक से करते हैं लेन-देन, तो जान लें अकाउंट पेई और बियरर चेक का अंतर

सम एश्योर्ड का स्तर: अमूल्य जीवन के तहत, सम एश्योर्ड (SA) की राशि पॉलिसी अवधि के दौरान फिक्स्ड रहती थी. लेकिन जीवन अमर के मामले में, आवेदकों के पास लेवल SA या बढ़ता SA चुनने का विकल्प होता है. लेवल SA के तहत SA की राशि पॉलिसी अवधि के दौरान समान रहती है, जबकि बढ़ते SA के तहत SA की राशि पहले 5 पॉलिसी वर्षों के लिए समान रहती है और फिर 15वें पॉलिसी वर्ष या पॉलिसी के अंत तक हर साल 10 प्रतिशत बढ़ जाती है. बढ़ा हुए SA, मूल SA के दोगुने से अधिक नहीं हो सकता है.

प्रीमियम भुगतान का तरीका: अमूल्य जीवन के तहत प्रीमियम का भुगतान करने के दो तरीके थे— वार्षिक और अर्ध-वार्षिक. जीवन अमर में प्रीमियम का भुगतान करने के लिए वार्षिक और अर्ध-वार्षिक मोड के साथ सिंगल प्रीमियम, लिमिटेड प्रीमियम या रेगुलर प्रीमियम का भी विकल्प है.

ग्रेस पीरियड: अमूल्य जीवन में बिना किसी ब्याज के प्रीमियम का भुगतान करने के लिए ग्रेस पीरियड 15 दिन था. जीवन अमर में यह बढ़ाकर 30 दिन कर दिया गया है.

रिवाइवल पीरियड: अमूल्य जीवन पॉलिसी में लैप्स हो चुकी पॉलिसी को रिवाइव करने के लिए मैक्सिमम 2 साल तक का समय मिलता था. जीवन अमर के तहत यह रिवाइवल पीरियड 5 साल का है.

SBI ने बदल दिए FD रेट्स, जानिए आपको कितना होगा नफा-नुकसान

सरेंडर वैल्यू: अमूल्य जीवन प्लान के तहत कोई सरेंडर वैल्यू नहीं थी. जीवन अमर के तहत सरेंडर वैल्यू का भुगतान सिंगल प्रीमियम और लिमिटेड प्रीमियम प्लान्स के मामले में किया जाएगा. यह नियमों और शर्तों पर निर्धारित करेगा.

मौत के दावे का भुगतान: अमूल्य जीवन के तहत मौत के दावों का भुगतान केवल एकमुश्त राशि में किया जाता था. जीवन अमर के मामले में, यह भुगतान एकमुश्त राशि के साथ किश्तों में, आंशिक रूप से एकमुश्त और आंशिक रूप से किश्तों में पाने का विकल्प चुना जा सकता है.

Story: Amitava Chakrabarty

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. LIC टर्म इंश्योरेंस: अमूल्य जीवन से कैसे अलग है Jeevan Amar, जानें नए प्लान में क्या है खास

Go to Top