मुख्य समाचार:

आयुष्मान भारत: सं​गठित और असं​गठित क्षेत्र के कामगारों के लिए कैसे लाभकारी है ये स्कीम, क्या कोरोना संकट में भी मिलेगी मदद

आयुष्मान भारत-PMJAY का मकसद देश की आबादी में बॉटम 40 फीसदी में आने वाले गरीब, वंचित ग्रामीण परिवारों और शहरी श्रमिकों के परिवारों की चिन्हित कैटेगरी को स्वास्थ्य बीमा का लाभ देना है.

March 28, 2020 9:16 AM

How Ayushman Bharat-PMJAY scheme is beneficial for poor and Deprived, who may get benefit under ayushman bharat and how, Coronavirus test and treatment likely to be covered under ayushman bharat

Corona Crisis and Ayushman Bharat Yojana: आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat-PMJAY) दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है. इसे सितंबर 2018 में लॉन्च किया गया था. PM-JAY का मकसद देश की आबादी में बॉटम 40 फीसदी में आने वाले गरीब, वंचित ग्रामीण परिवारों और शहरी श्रमिकों के परिवारों की चिन्हित कैटेगरी को स्वास्थ्य बीमा का लाभ देना है. इसके तहत देश के 10.74 करोड़ गरीब और वंचित परिवारों यानी 50 करोड़ लोगों को सालाना 5 लाख रुपये प्रति परिवार का कवर द्वितीयक व तृतीयक केयर कंडीशंस के लिए मिलेगा.

अब इस स्वास्थ्य बीमा योजना के दायरे में कोरोना वायरस (Coronavirus) के टेस्ट और इलाज को लाने की भी तैयारी चल रही है. आयुष्मान भारत-PMJAY के क्रियान्वयन के लिए जिम्मेदार नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने तय किया है कि इस योजना के तहत सांस की बीमारी के टेस्ट व इलाज को भी शामिल किया जाए. इसके लिए अथॉरिटी ने अपने गवर्निंग बोर्ड से अनुमति मांगी है. अगर ऐसा हो जाता है तो आयुष्मान भारत के लाभार्थी कोरोना वायरस के टेस्ट कराने में सक्षम होंगे. पॉजिटिव निकलने पर मरीज निर्धारित प्राइवेट हॉस्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में फ्री में इलाज करा सकेंगे.

स्कीम के दायरे में कौन से परिवार

स्कीम के दायरे में आने वाले परिवार कौन से होंगे, इसके लिए 2011 की जनगणना को आधार बनाया गया है. इसके आंकड़ों पर जाएं तो 8.03 ग्रामीण परिवार और 2.33 करोड़ शहरी परिवार इस स्कीम के दायरे में आएंगे. आयुष्मान भारत PM-JAY में वे परिवार भी कवर होंगे, जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में कवर थे लेकिन 2011 की जनगणना में उनका डाटा नहीं है. यह योजना पूरी तरह सरकार द्वारा समर्थित है और इस पर आने वाली लागत को केन्द्र व राज्य सरकारें उठाएंगी.

सर्विसेज में 1393 प्रोसिजर शामिल

PM-JAY लाभार्थी को कैशलेस हेल्थ केयर सर्विस उपलब्ध कराती है. लाभार्थी योजना का लाभ देने के लिए योजना में निर्धारित किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में जाकर कैशलेस इलाज करा सकता है. इस स्कीम की सर्विसेज में लगभग 1393 प्रोसिजर शामिल हैं. इनमें इलाज से संबंधित पूरा खर्च कवर होता है. इसमें दवा, सप्लाई, डायग्नोस्टिक सर्विसेज, डॉक्टर की फीस, रूम चार्ज, सर्जन चार्ज, ओटी व आईसीयू चार्ज आदि शामिल है लेकिन स्कीम की सर्विस केवल यहीं तक सीमित नहीं है.

कौन से खर्चे होते हैं कवर?

PM-JAY में पहले ही दिन से पुरानी बीमारियों को भी कवर की किया जाता है. किसी बीमारी की स्थिति में अस्पताल में एडमिट होने से पहले के 3 दिन तक के और हॉस्पिटल से बाहर आने के बाद के 15 दिन तक के खर्च भी कवर किये जा रहे हैं. PM-JAY में ट्रांसपोर्ट पर होने वाला खर्च भी शामिल है. कवर होने वाली कुछ चीजें इस तरह हैं…

  • मेडिकल एग्जामिनेशन, इलाज, परामर्श
  • हॉस्पिटल में भर्ती होने से पहले के खर्च
  • दवा व मेडिकल कंज्यूमेबल्स
  • नॉन इंटेंसिव व इंटेंसिव केयर सर्विसेज
  • डायग्नोस्टिक व लैबोरेटरी जांच
  • मेडिकल इंप्लांटेशन सर्विसेज (जहां जरूरी हो)
  • एकोमोडेशन बेनिफिट्स
  • फूड सर्विसेज
  • इलाज के दौरान आने वाली कॉम्प्लिकेशंस
  • हॉस्पिटल से बाहर आने के बाद 15 दिन तक की फॉलो अप केयर

COVID-19: कोरोना से अगर हो जाती है मौत, क्या मिलेगी जीवन बीमा की रकम?

ABY में किसे मिल रहा है कवरेज?

आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होने के लिए परिवार के आकार, लिंग और उम्र का कोई बंधन नहीं है. हालांकि ग्रामीण व शहरी इलाकों के लिए क्राइटेरिया निर्धारित किया गया है.

ग्रामीण इलाके के लिए ABY की योग्यता

आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं, इनमें से किसी एक को भी पूरा करने पर उस ग्रामीण परिवार को आयुष्मान भारत स्कीम का लाभ मिलेगा:

  • ग्रामीण इलाके में एक कमरे का कच्चा मकान
  • परिवार में किसी व्यस्क (16-59 साल) का नहीं होना
  • परिवार में 16-59 साल का कोई पुरुष सदस्य न हो
  • परिवार में कोई दिव्यांग हो और कोई सक्षम वयस्क सदस्य न हो
  • परिवार अनुसूचित जाति/जनजाति से हो
  • भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर

इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और कानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि खुद ब खुद आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल हो जायेंगे.

शहरी इलाके के लिए ABY की योग्यता

शहरी क्षेत्र में आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं:

  • भिखारी, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, हॉकर, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति
  • कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति
  • स्वीपर, सफाई कर्मी, माली
  • घरेलू काम करने वाले, शिल्पकार, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग, टेलर, ड्राइवर, ट्रांसपोर्ट वर्कर, रिक्शा चालक, कंडक्टर, ड्राइवर व कंडक्टर के हेल्पर, गाड़ी खींचने वाले
  • दुकान पर काम करने वाले लोग, असिस्टेंट, छोटी जगहों पर चपरासी, हेल्पर, डिलीवरी असिस्टेंट, अटेंडेंट, वेटर
  • इलेक्ट्रिशियन, मैकेनिक, असेंबलर, रिपयेर वर्कर, वाशरमैन, चौकीदार आदि

स्कीम में कवर होने वाली कुछ गंभीर बीमारियां

  • प्रोस्टेट कैंसर
  • कोरोनरी आर्टरी बाईपास ग्राफ्टिंग
  • डबल वाल्व रिप्लेसमेंट
  • स्टेंट के साथ कैरोटिड एंजियोप्लास्टी
  • पल्मनरी वाल्व रिप्लेसमेंट
  • स्कल बेस सर्जरी
  • गैस्ट्रिक पुलअप के साथ Laryngopharyngectomy
  • एंटीरियर स्पाइन फिक्सेशन
  • टिश्यू एक्सपेंडर

कवर न होने वाली चीजें

– OPD
– ड्रग रिहैबिलिटेशन प्रोग्राम
– कॉस्मेटिक रिलेटेड प्रोसिजर
– फर्टिलिटी रिलेटेड प्रोसिजर्स
– अंग प्रत्यारोपण
– इंडीविजुअल डायग्नोस्टिक्स

कोरोना संकट: कैसे खरीदें अपने लिए पर्याप्त हेल्थ इंश्योरेंस, सिर्फ इन तीन बातों का रखें ध्यान

रजिस्ट्रेशन

आयुष्मान भारत योजना में सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना (SECC) 2011 के डेटाबेस में सूचीबद्ध प्रत्येक व्यक्ति स्वत: नामांकित हो जाएगा. यानी इसके लिए कोई विशेष रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया नहीं है. कोई व्यक्ति इस योजना का लाभ ले सकता है या नहीं, उसे जांचने के लिए ये स्टेप फॉलो करें-

  • https://www.pmjay.gov.in/ पर जाकर दाईं और सबसे ऊपर Am I eligible विकल्प पर जाएं.
  • नए खुले पेज पर मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड डालकर ओटीपी जनरेट करें.
  • फोन पर आए ओटीपी को दर्ज करें. इसके बाद डेटा पॉलिसी पर चेक करना होगा.
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा. यहां अपना राज्य चुनें.
  • उसके बाद वह कैटिगरी चुननी होगी, जिसके आधार पर आप अपना स्टेटस जानना चाहते हैं. इनमें नाम, HHD नंबर, राशन कार्ड नंबर और मोबाइल नंबर के विकल्प होंगे.
अगर आप योजना के तहत कवर हैं तो इसका लाभ लेने के लिए गोल्डन कार्ड बनवाना होगा. इसके लिए HHD कोड लगेगा. गोल्डन कार्ड कॉमन सर्विस सेंटर पर बनवाया जा सकता है.

पैकेज रेट्स

आयुष्मान भारत-PMJAYके तहत स्पेशियलिटीज/इलाज को लेकर पैकेजेस की रेट्स की पूरी लिस्ट यहां मौजूद है…https://pmjay.gov.in/sites/default/files/2020-01/HBP_2.0-For_Website_V2.pdf

ABY में अस्पताल में भर्ती की प्रक्रिया

आयुष्मान भारत योजना (ABY) का लाभार्थी अस्पताल में एडमिट होने के लिए कोई चार्ज नहीं चुकाएगा. अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज तक का सारा खर्च इस योजना में कवर किया जायेगा. पैनल में शामिल हर अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र होगा. वह मरीज की मदद करेगा और उसे अस्पताल की सुविधाएं दिलाने में मदद करेगा. अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होगा जो दस्तावेज चेक करने, स्कीम में नामांकन के लिए वेरिफिकेशन में मदद करेगा.

आयुष्मान भारत योजना का लाभ किस राज्य के किस अस्पताल में लिया जा सकता है, उसकी लिस्ट आपको https://hospitals.pmjay.gov.in/Search/empnlWorkFlow.htm?actionFlag=ViewRegisteredHosptlsNew पर मिलेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. आयुष्मान भारत: सं​गठित और असं​गठित क्षेत्र के कामगारों के लिए कैसे लाभकारी है ये स्कीम, क्या कोरोना संकट में भी मिलेगी मदद

Go to Top