मुख्य समाचार:

SBI Home Loan: इन 7 बातों पर तय होती है ब्याज दर और आपकी EMI

SBI Home Loan Interest rate : MCLR रेट, लोन की रकम, लोन टू वैल्यू रेश्यो जैसी बातों पर निर्भर करती है स्टेट बैंक के होम लोन ब्याज दरें.

April 2, 2019 7:47 AM
home loan factors deciding sbi home loan interest ratesSBI Home Loan Interest rate : महिलाओं को सस्ता होम लोन मिलता है.

SBI Home Loan Interest rate : अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) से होम लोन लेने (SBI Home Loan) की सोच रहे हैं तो पहले कुछ बातें जान लीजिए. अलग-अलग जरूरतों के हिसाब से SBI अलग-अलग होम लोन देता है जैसे फ्लैक्सीपे होम लोन , प्रिविलेज होम लोन, शौर्य होम लोन, प्री-अप्रूव्ड होम लोन, रियलटी होम लोन, ब्रिज होम लोन आदि.

अब आपको बताते हैं वो 7 फैक्टर जिनपर स्टेट बैंक के होम लोन ब्याज दरें (SBI Home Loan Interest rate) निर्भर करती हैं :

1. SBI Home Loan Interest rate : MCLR
2. मार्क अप
3. लोन की रकम
4. लोन टू वैल्यू रेश्यो
5. महिला कर्जदार
6. प्रोफेशन
7. रिस्क ग्रुप

1. SBI Home Loan Interest rate : MCLR 

होम लोन लेने से पहले बैंक का MCLR रेट जरूर जानें. SBI बैंक में होम लोन की ब्याज दरें MCLR से जुड़ी होती है. हर 12 महीने में MCLR बदलने की वजह से होम लोन की ब्याज दरें भी बदलती हैं. फिलहाल SBI का MCLR 8.55 फीसदी है.

2. मार्क अप

बैंक का एमसीएलआर रेट वो रेट है जिससे वो होम लोन पर मिलने वाला मिनिमम ब्याज तय करते है. लेकिन असल ब्याज जिसपर कर्जधारक को लोन मिलता है वो एमसीएलआर रेट में मार्क अप जोड़कर तय होता है. एमसीएलआर रेट सभी का समान होता है. किस व्यक्ति को किन दरों पर होम लोन मिल रहा है ये मार्कअप पर निर्भर करता है.

3. लोन की रकम

SBI बैंक में होन लोन की 3 लिमिट है-
30 लाख तक का लोन
30 से 75 लाख तक का लोन
75 लाख से उपर की राशि का लोन

महिलाओं के अलावा अन्य दूसरे ग्राहक के लिए 30 लाख तक के लोन की 8.75 फीसदी ब्याज दर है, 30 से 75 लाख तक के लोन पर 8.95 फीसदी के लोन पर 8.95 फीसदी का ब्याज और 75 लाख से उपर की राशि के लोन पर 9.05 फीसदी का ब्याज देना पड़ता है.

4. लोन टू वैल्यू रेश्यो

प्रॉपर्टी की वैल्यू के मुकाबले जो लोन की रकम है उसे लोन टू वैल्यू रेश्यो कहते हैं. अगर घर की कीमत 1 करोड़ है और लोन की रकम 79 लाख रुपये है तो लोन टू वैल्यू रेश्यो 80 से कम है. लेकिन लोन टू वैल्यू रेश्यो सिर्फ 30 लाख तक के लोन के लिए ही मान्य है.

5. महिला कर्जदार

अगर होम लोन किसी महिला द्वारा लिया जाता है तो उन्हें पुरूषों के मुकाबले सस्ता होम लोन. महिलाओं को 5 बेसिस प्वॉइंट सस्ता होम लोन मिलता है. इसलिए कोशिश कीजिए की होम लोन लेते वक्त पहली एप्लीकेंट महिला हों.

टेबल देखिए :

ये रेट 12 मार्च 2019 से लागू हो चुके हैं.

6. प्रोफेशन

होम लोन की ब्याज दरों पर इस बात से भी फर्क पड़ता है कि होम लोन लेने वाला व्यक्ति को सैलरी मिलती है या नहीं. ज्यादातर केस में नॉन सैलरी वाले लोगों के लिए होम लोन की ब्याज दरें 15 बेसिस प्वॉइंट महंगी होती है.

टेबल देखिए :

ये रेट 12 मार्च 2019 से लागू हो चुके हैं.

7. रिस्क ग्रुप

30 लाख रुपये से ज्यादा कीमत का होम लोन लेने वाले व्यक्तियों के लिए बैंक खुद रिस्क प्रोफाइल को अलग-अलग कैटेगरी में बांटता है. इन ग्रुप की कैटेगरी है RG 1, 2, 3, 4, 5, 6. हालांकि जो RG 1, 2, 3 कैटगरी में आते हैं उनके लिए इंटरेस्ट रेट RG 4, 5, 6 कैटगरी से कम होता है.

टेबल देखिए :

ये रेट 12 मार्च 2019 से लागू हो चुके हैं.

 

(स्टोरी – सुनील धवन)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. SBI Home Loan: इन 7 बातों पर तय होती है ब्याज दर और आपकी EMI

Go to Top