मुख्य समाचार:

Health Insurance: सही हेल्थ इंश्योरेंस कैसे चुनें? इमरजेंसी में अस्तपाल का खर्च चुकाना होगा आसान

भारत में मुख्य तौर पर अभी दो तरह की पॉलिसी ही मौजूद हैं. पहली इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी दूसरी फैमिली फ्लोटर पॉलिसी.

July 20, 2019 8:05 AM
Health Insurance alert tips to pick the right health coverअपनी जरूरत के हिसाब से ही हेल्थ इंश्योरेंस चुनें.

बीमारी कभी बताकर नहीं आती, लेकिन जब आती है तब पूरा बजट हिला देती है. खासकर कि अब जब हर साल नई-नई टेक्नोलॉजी आ रही हैं तब कई लोगों के लिए इलाज कराना उनकी जेब से बाहर हो गया है. ऐसे में हेल्थ इंश्योरेंस की अहमियत आज के समय में और बढ़ गई है. हेल्थ इंश्योरेंस से न सिर्फ जेब पर पड़ने वाला बोझ कम होता है साथ ही आप बिना पैसे की चिंता करे अच्छा इलाज करा सकते हैं.

कई कंपनियां अपने इंप्लोइज का मेडिकल इंश्योरेंस कराती हैं ऐसे में ये लोग मार्केट में उपलब्ध अलग-अलग तरह के हेल्थ इंश्योरेंस के फायदों के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं. मार्केट में अलग-अलग उम्र के लोगों के लिए अलग-अलग हेल्थ इंश्योरेंस मौजूद हैं. मेडिकल इंश्योरेंस लेने से मेडिकल इमरजेंसी के दौरान फाइनेंशियल बोझ आप पर नहीं पड़ेगा क्योंकि आपके इलाज का सारा खर्चा इंश्योरेंस में दी गई तय रकम तक वह इंश्योरेंस कंपनी उठाएगी. हालांकि आपको हर तरह की पॉलिसी के बारे में पता होना चाहिए और उसके बाद यह तय करना चाहिए कि आपको किस हेल्थ कंडिशन के हिसाब से कौन सी पॉलिसी चुननी चाहिए.

भारत में मुख्य तौर पर अभी दो तरह की पॉलिसी ही मौजूद हैं. पहली इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी दूसरी फैमिली फ्लोटर पॉलिसी.

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी

इस इंश्योरेंस प्लान में केवल उसी व्यक्ति के इलाज का खर्चा उठाया जाता है जिसने वह हेल्थ इंश्योरेंस लिया है. इस प्लान में हर व्यक्ति अपना अलग-अलग हेल्थ इंश्योरेंस ले सकता है. इस प्लान में हॉस्पिटल का खर्चा, डॉक्टर की फीस, इलाज का खर्चा, भर्ती होने से पहले और उसके बाद के सभी खर्चें शामिल किए जाते हैं. इंश्योरेंस की सम इंश्योर्ड वैल्यू के हिसाब से प्रीमियम तय होता है. ये प्लान आपके लिए तब सही है जब आप सिर्फ अपना इंश्योरेंस करा रहे हैं और आपके माता-पिता या किसी अन्य सदस्य का पहले ही एक अलग हेल्थ इंश्योरेंस है.

फैमिली फ्लोटर पॉलिसी

इस प्लान में पूरी फैमिली के लिए एक ही हेल्थ इंश्योरेंस कवर होता है. पूरे परिवार के लिए एक ही हेल्थ इंश्योरेंस लेने से आप अलग-अलग प्रीमियम भरने के झंझट से बच जाते हैं. इस प्लान में आपके माता-पिता, पति/पत्नि और बच्चों के इलाज का खर्चा एक हेल्थ इंश्योरेंस के अंदर कवर हो जाता है.

सीनियर सिटीजन पॉलिसी

ये कवर 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए ठीक रहेगा. बढ़ती उम्र के साथ अपनी सेहत का ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है. ये इंश्योरेंस 60 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों के लिए है इसलिए इस प्लान इसी उम्र को ध्यान में रखकर सभी सुविधाएं मिलती है. सीनियर सिटीजन द्वारा हेल्थ इंश्योरेंस लेने पर उन्हें टैक्स में डिडक्शन भी मिलता है.

इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस चुनते वक्त सभी तरह की बातों में ध्यान में रखना जरूरी है. अपनी जरूरत के हिसाब से ही हेल्थ इंश्योरेंस चुनें.

 

By: Sasikumar Adidamu, Chief Technical Officer, Bajaj Allianz General Insurance

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Health Insurance: सही हेल्थ इंश्योरेंस कैसे चुनें? इमरजेंसी में अस्तपाल का खर्च चुकाना होगा आसान

Go to Top