Harsha Engineers IPO : 14 सितंबर से खुलेगा 755 करोड़ का इश्यू, 314-330 रुपये रहेगा प्राइस बैंड | The Financial Express

Harsha Engineers IPO : 14 सितंबर से खुलेगा 755 करोड़ का इश्यू, 314-330 रुपये रहेगा प्राइस बैंड

ऑटोमोटिव, एविएशन और एयरोस्पेस, रेलवे, कंस्ट्रक्शन माइनिंग समेत कई अन्‍य इंडस्ट्रियल सेक्टर्स के लिए इंजीनियरिंग प्रोडक्‍ट्स बनाने वाली कंपनी है हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल

Harsha Engineers IPO : 14 सितंबर से खुलेगा 755 करोड़ का इश्यू, 314-330 रुपये रहेगा प्राइस बैंड
आईपीओ के जरिए जुटाए गए पैसों में से कंपनी 270 करोड़ रुपए से कर्ज का भुगतान करेगी

Harsha Engineer IPO: अगर आप आईपीओ में पैसा निवेश करना चाहते हैं तो हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल कंपनी के इश्यू आप के लिए मुनाफा कमाने का बेहतरीन विकल्प हो सकते हैं. कंपनी द्वारा 14 सिंतबर को 755 करोड़ के इश्यू लॉन्च किये जा रहे है. कंपनी की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक इन इश्यू के लिए 314-330 रुपए प्राइस बैंड फिक्स किया है. हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल कंपनी ऑटोमोटिव, एविएशन और एयरोस्पेस, रेलवे, कंस्ट्रक्शन माइनिंग समेत कई अन्‍य इंडस्ट्रियल सेक्टर्स के लिए इंजीनियरिंग प्रोडक्‍ट्स बनाती है. निवेशक 14 से 16 सितंबर के बीच में इन इश्यू में निवेश कर सकेंगे.

शेयर मार्केट की जानकार इसे निवेशकों के लिए कमाई का एक शानदार मौका बता रहे हैं. इस आईपीओ में 455 करोड़ रुपये के नए इश्यू जारी होंगे, जबकि शेयर होल्डर्स व प्रमोटर्स द्वारा 300 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल लाया जा रहा है.

कंपनी 270 करोड़ रुपए से कर्ज का भुगतान करेगी

कंपनी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, आईपीओ के जरिए जुटाए गए पैसों में से कंपनी 270 करोड़ रुपए से कर्ज का भुगतान करेगी. इसके साथ ही कंपनी द्वारा वर्किंग कैपिटल फंड के लिए 76 करोड़ रुपए का इस्तेमाल किया जाएगा. इंफ्रास्ट्रक्चर रिपेयर व मौजूदा फैसिलिटीज के रेनोवेशन में 7.12 करोड़ रुपए खर्च किये जाएंगे. कंपनी इन पब्लिक इश्यू का आधा हिस्सा यानी 50 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (QIBs) के लिए रिजर्व में रखेगी. जबकि 35 फीसदी हिस्सा रिटेल इन्वेस्टर्स और 15 फीसदी हिस्सा नॉन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के लिए सुरक्षित रखा जाएगा.

कंपनी प्रोफाइल

1986 में राजेंद्र शाह और हरीश रंगवाला ने हर्ष इंजीनियर्स इंटरनेशनल कंपनी की स्‍थापना  की थी. कंपनी की गुजरात में तीन और चीन व रोमानिया में एक-एक प्रोडेक्शन यूनिट्स हैं. कंपनी की 99.7 फीसदी हिस्सेदारी प्रमोटर्स के पास है. बीते फाइनेंशियल ईयर में कंपनी ने 91.94 करोड़ रुपये का प्रॉफिट के साथ कुल 1,321.48 करोड़ रुपये का रेवेन्यू हासिल किया था, जो बीते साल की तुलना में 45.44 प्रतिशत ज्यादा है. हालांकि इस दौरान कंपनी का कर्ज 322.08 करोड़ रुपये से बढ़कर 356.59 करोड़ रुपये हो गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News