मुख्य समाचार:

घट गए GST रेट : जानिए क्या हुआ सस्ता, क्या हुआ महंगा

जीएसटी परिषद ने 20 गुड्स और 12 सर्विसेज पर टैक्स रेट में बदलाव किया है.

September 21, 2019 4:19 PM
GST Council hikes tax on caffeinated beverages cuts rates on hotel tariffsयह सभी रेट्स 1 अक्टूबर से लागू किए जाएंगे.

37 वीं GST काउंसिल की मीटिंग में कई अहम फैसले लिए गए. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई प्रोडक्ट्स पर जीएसटी कम करने की जानकारी दी. जबकि कई प्रोडक्ट्स पर GST में छूट भी दी गई है. सीतारमण ने हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री को बड़ी राहत दी है. वहीं बिस्किट और ऑटो सेक्टर के गुड्स पर GST घटाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया है. कई प्रोडक्ट्स पर तो GST को बढ़ाया भी गया है. जीएसटी परिषद ने 20 गुड्स और 12 सर्विसेज पर टैक्स रेट में बदलाव किया है. यह सभी रेट्स 1 अक्टूबर से लागू किए जाएंगे. GST एक इन्डायरेक्ट टैक्स है जिसका मतलब है कि अंतिम बोझ आम आदमी की जेब पर ही पड़ता है. GST काउंसिल में लिए गए इन फैसलो से अब आपके लिए कुछ चीजें सस्ती और कुछ चीजें महंगी हो जाएंगी. जानिए 1 अक्टूबर से क्या होगा सस्ता और क्या होगा महंगा

यह चीजें होंगी सस्ती

1,001 से 7500 रुपये तक के होटल कमरों पर जीएसटी रेट को 18 फीसदी से घटाकर 12 फीसदी कर दिया है. वहीं, 7,500 रुपये से अधिक के होटल कमरों पर 28 फीसदी की जगह पर 18 फीसदी का जीएसटी लगेगा. एक हजार रुपये से कम के होटल कमरों पर कोई जीएसटी नहीं है. निर्मला सीतारमण ने कहा कि, “जीएसटी दर में कमी की पेशकश की जा रही है, होटल सेवाओं पर जीएसटी में कमी का उद्देश्य होटल कारोबार को बढ़ावा देना है. नतीजतन, होटल सेवाएं अब केवल जीएसटी की तीन श्रेणी के तहत रह गई हैं.” उन्होंने बताया कि जीएसटी परिषद ने 1,500 सीसी के डीजल वाहनों और 1200 सीसी तक के पेट्रोल इंजन वाहनों पर 28 फीसदी जीएसटी के साथ लगने वाले सेस की दर को घटाकर क्रमश: एक और तीन फीसदी किया है. इसके साथ शर्त यह है कि इन वाहनों की लंबाई चार मीटर से अधिक न हो और इनमें 9 व्यक्तियों की बैठने की जगह हो. नीचे दिए गए अन्य प्रोडक्ट्स पर भी GST घटाया गया

  • स्लाइड फास्टनरों के हिस्सों पर 18 फीसदी से 12 फीसदी
  • मरीन फ्यूल 0.5 फीसदी (FO) पर 18 फीसदी से 5 फीसदी
  • गीले ग्राइंडर ((ग्राइंडर के रूप में पत्थर मिलाकर) पर 12 फीसदी से 5 फीसदी
  • नीचे दिए गए प्रोडक्ट्रस पर GST रेट्स को घटाकर 5 फीसदी से निल कर दिया गया है
    (i) सूखे इमली
    (ii) पत्तियाँ / फूल / छाल से बने प्लेट और कप
  • कट और पॉलिश अर्द्ध-कीमती पत्थरों पर 3 फीसदी से 0.25 फीसदी. हीरा, रूबी, पन्ना या नीलम को छोड़कर अन्य तराशे और पॉलिश किए गए अर्ध मूल्यवान रत्नों पर कर को तीन से घटाकर 0.25 फीसदी कर दिया गया है.
  • पेट्रोलियम ऑपरेशन्स के लिए हाइड्रोकार्बन लाइसेंसिग पॉलिसी के तहत बताए गए सामान पर 5 फीसदी की दर से GST वसूला जाएगा.
  • जीएसटी / आईजीएसटी से छूट:
    (i) जिन बताए गए डिफेंस प्रोडक्ट्स का प्रोडक्शन देश में नहीं किया जा रहा, उन गुड्स को इम्पोर्ट करने पर छूट दी गई
    (ii) फीफा और भारत में होने वाले अंडर -17 महिला फुटबॉल विश्व कप का आयोजन करने वाले स्पेसिफाइड व्यक्तियों को गुड्स एंड सर्विसेज सप्लाई करने पर छूट
    (iii) स्पेसिफाइड प्रोजेक्ट्स के लिए फूड और एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन को गुड्स एंड सर्विसेज सप्लाई करने पर

यह भी पढ़ें…त्योहारों पर जमकर करिए खरीदारी, बैंक ‘शामियाना’ लगाकर बांटेंगे कर्ज

ये चीजें होंगी महंगी

GST काउंसिल ने रेल गाड़ी के सवारी डिब्बे और वैगन पर जीएसटी की दर को 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी किया है. कैफीन वाली ड्रिंक्स पर जीएसटी की वर्तमान 18 फीसदी के रेट को बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है. इसके अलावा 12 फीसदी का अतिरिक्त सेस लगाया जाएगा. सीतारमण ने कहा कि बुने/बिना बुने पॉलीएथिलीन थैलियों पर एकसमान 12 फीसदी की दर से जीएसटी लगेगा.

(इनपुट्स: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. घट गए GST रेट : जानिए क्या हुआ सस्ता, क्या हुआ महंगा

Go to Top