मुख्य समाचार:

Google Pay पर NPCI: अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है गूगल पे, भ्रामक खबरों का न बनें शिकार

सोशल मीडिया पर ऐसी भ्रामक खबर चल रही है कि गूगल पे के जरिए पैसे ट्रांसफर करना कानूनी रूप से सुरक्षित नहीं है क्योंकि ऐप अनाधिकृत है.

Updated: Jun 25, 2020 9:06 PM
Gpay: NPCI clarified that Google Pay is classified as Third Party App Provider and operating under the UPI framework of National Payments Corporation of Indiaसभी अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स की लिस्ट NPCI वेबसाइट पर उपलब्ध है.

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने स्पष्ट किया है कि गूगल पे वर्गीकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है और NPCI के UPI फ्रेमवर्क के तहत ऑपरेट करता है. NPCI ने कहा है कि गूगल पे जैसे थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स पर ट्रांजेक्शन से जुड़े इश्यू RBI और NPCI के दिशानिर्देशों के तहत दूर किए जा सकते हैं.

NPCI ने बयान में कहा है कि सोशल मीडिया पर ऐसी भ्रामक खबर चल रही है कि गूगल पे के जरिए पैसे ट्रांसफर करना कानूनी रूप से सुरक्षित नहीं है क्योंकि ऐप अनाधिकृत है. लेकिन सच यह है कि यह एक वर्गीकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है. NPCI ने यह भी कहा है कि सभी अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स की लिस्ट NPCI वेबसाइट पर उपलब्ध है.

NPCI ने कहा है कि किसी भी अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर का इस्तेमाल कर किया गया लेन-देन रिड्रेसल प्रक्रियाओं द्वारा पूरी तरह सुरक्षित होता है. ये प्रक्रियाएं NPCI/RBI के दिशानिर्देशों द्वारा लागू होती हैं और ग्राहकों के पास पहले से इनकी पूरी एक्सेस है. बयान में आगे क​हा गया कि सभी अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स के लिए भारत में लागू सभी नियमों व कानूनों का पालन करना अनिवार्य है.

SBI में मेच्योरिटी से पहले बंद करनी है FD, घर बैठे हो जाएगा काम; ये है ऑनलाइन प्रॉसेस

क्यों हुआ बवाल?

RBI ने इस माह की शुरुआत में दिल्ली हाईकोर्ट को बताया था कि गूगल पे एक थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है और किसी भी भुगतान प्रणाली को संचालित नहीं करता है. गूगल के प्रवक्ता का कहना है कि सोशल मीडिया पर कुछ कोट्स ने RBI के कहे का गलत मतलब निकालते हुए यह दावा किया कि गूगल पे से पैसे ट्रांसफर करना कानून द्वारा सुरक्षित नहीं है क्योंकि ऐप अनाधिकृत है. प्रवक्ता ने कहा है कि यह गलत है और ऐप अधिकृत है, यह NPCI की वेबसाइट से वेरिफाई कर सकते हैं. आगे कहा कि RBI ने दिल्ली कोर्ट में सुनवाई के दौरान या अपनी लिखित प्रतिक्रिया में यह नहीं कहा है कि गूगल पे ऐप अनाधिकृत है या कानून का पालन नहीं करता है. गूगल पे प्लेटफॉर्म से होने वाले सभी लेनदेन RBI और NPCI के निर्देशों के तहत लागू रिड्रेसल प्रक्रियाओं द्वारा पूरी तरह सुरक्षित हैं.

भ्रामक खबरों का न बनें शिकार

NPCI ने कहा है कि यूपीआई इकोसिस्टम पूरी तरह सुरक्षित है. हम नागरिकों से अपील करते हैं कि भ्रामक खबरों का शिकार न बनें. साथ ही यूपीआई ग्राहकों से अपील है कि वे अपना UPI पिन और ओटीपी किसी के साथ शेयर न करें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Google Pay पर NPCI: अधिकृत थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर है गूगल पे, भ्रामक खबरों का न बनें शिकार

Go to Top