सर्वाधिक पढ़ी गईं

सरकारी योजनाएं: 100 से 500 रुपये में शुरू कर सकते हैं निवेश, छोटी बचत से बनेगा बड़ा फंड

Best Government Savings Schemes: आइए आपको बताते हैं ऐसी सरकारी स्कीम्स के बारे में जिनमें आप केवल 100 से 500 रुपये के निवेश से शुरू कर सकते हैं.

December 17, 2020 4:27 PM
government schemes which you can start with 100 to 500 rupees investment will have big fund from small savingsआइए आपको बताते हैं ऐसी सरकारी स्कीम्स के बारे में जिनमें आप केवल 100 से 500 रुपये के निवेश से शुरू कर सकते हैं.

Best Government Savings Schemes: कोरोनावायरस महामारी (COVID-19 Pandemic) के दौर में व्यक्ति को हर बचत का महत्व समझ में आ रहा है. खासकर ऐसे निवेशकों जो महीने में अधिक से अधिक 10 हजार तक की बचत कर पाते हैं. इनके लिए सबसे जरूरी है कि वो ऐसी जगह पैसा लगाएं जहां एक निश्चित समय में गारंटीड रिटर्न मिले और कम से कम पैसे में ज्यादा से ज्यादा रिटर्न मिलेगा. आइए आपको बताते हैं ऐसी सरकारी स्कीम्स के बारे में जिनमें आप केवल 100 से 500 रुपये के निवेश से शुरू कर सकते हैं.

पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट (RD)

डाक घर की रिकरिंग डिपॉजिट (RD) ऐसी ही स्कीम है, जो छोटी बचत को बढ़ावा देती है. वैसे तो इसकी मेच्योरिटी 5 साल की है, लेकिन आप आवेदन देकर इसे 5-5 साल के लिए आगे भी बढ़ा सकते हैं. डाक घर की RD में हर महीने न्यूनतम 100 रुपये जमा करना होता है. जमा 10 रुपये के गुणक में होना चाहिए. इसमें निवेश की अधिकतम सीमा नहीं होती है. डाक घर की आरडी पर मौजूदा समय में 5.8 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. ब्याज की कम्पाउंडिंग तिमाही आधार पर की जाती है.

स्कीम के फीचर्स

डाक घर की RD में सिंगल अकाउंट और ज्वॉइंट अकाउंट दोनों की सुविधा है. ज्वॉइंट अकाउंट में अधिकतम 3 बालिग के नाम हो सकते हैं.
10 साल से ज्यादा उम्र के बच्चे के नाम भी खाता अभिभावक अपनी देख रेख में खोल सकते हैं.
RD की मेच्योरिटी 5 साल की होती है, लेकिन मेच्योरिटी के पहले आवेदन देकर इसे अगले 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं.
आरडी अकाउंट में कम से कम 100 रुपये महीना और 10 के गुणक में अधिकतम कितनी भी रकम जमा कर सकते हैं.
खाता खोलने की तारीख से 3 साल के बाद प्री-मैच्योर क्लोजर की सुविधा रहेगी. ब्याज दरों में तिमाही आधार पर बदलाव होता है.
अकाउंट को एक डाक घर से दूसरे में ट्रांसफर किया जा सकता है.
​निश्चित समय पर जमा नहीं करने पर पेनल्टी देनी पड़ती है. यह प्रत्येक 100 रुपये पर 1 रुपये होगी.
एक साल के बाद जमा रकम का 50 फीसदी तक एक बार लोन लेने की भी सुविधा है. जिसे ब्याज के साथ एकमुश्त रिपेमेंट किया जा सकता है.
IPPB सेविंग अकाउंट के जरिए ऑनलाइन जमा कराने की भी सुविधा है.

पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट

पोस्‍ट ऑफिस में 500 रुपये में सेविंग्‍स अकाउंट खुल जाता है. एक पोस्‍ट ऑफिस में एक ही बचत खाता खुलवा सकते हैं. इस समय पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट पर सालाना ब्याज दर 4 फीसदी है. इसे सिंगल या ज्वॉइंट में, 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग बच्चे के नाम पर, दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के लिए खुलवा सकते हैं.

बैंकों की तरह पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट में भी मिनिमम मंथली बैलेंस मेंटेन करना होता है. अकांउट के लिए मिनिमम बैलेंस 500 रुपये रखना तय है. मिनिमम बैलेंस बरकरार न रखने पर अकाउंट से 100 रुपये की मेंटीनेंस फीस काट ली जाएगी. फीस काटने के बाद अगर खाते में बैलेंस निल हो गया तो यह अपने आप बंद हो जाएगा.

पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट पर चेक/एटीएम सुविधा, नॉमिनेशन सुविधा, अकाउंट एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराने की सुविधा, इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग की सुविधा, पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट्स के बीच ऑनलाइन फंड ट्रांसफर की सुविधा उपलब्ध है. अकाउंट को एक्टिव रखने के लिए 3 वित्त वर्षों के अंदर कम से कम एक बार डिपॉजिट या विदड्रॉल करना जरूरी है.

पोस्ट ऑफिस पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को मिनिमम 500 रुपये से शुरू किया जा सकता है. अकाउंट पर मौजूदा सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. अकाउंट में एक वित्त वर्ष में मिनिमम 500 रुपये और मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये जमा करना जरूरी है. अगर अकाउंट में मिनिमम सालाना अमाउंट डिपॉजिट न किया गया तो अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है और फिर पिछला बकाया, 50 रुपये का चार्ज और एक इंस्टॉलमेंट भरने के बाद ही फिर से एक्टिव होता है. साथ ही अगर आप महीने के पूरे इंट्रेस्‍ट का फायदा लेना चाहते हैं तो हर माह की 5 तारीख तक PPF में डिपॉजिट कर दें. पोस्‍ट ऑफिस PPF पर नॉमिनेशन सुविधा, माइनर के नाम पर दूसरा PPF अकाउंट खुलवाने की सुविधा उपलब्ध है.

पोस्‍ट ऑफिस PPF का मैच्‍योरिटी पीरियड 15 साल है और इससे पहले क्‍लोजर नहीं किया जा सकता. हालांकि चुनिंदा मामलों में 5 साल की अवधि पूरा होने के बाद जरूरत पड़ने पर इसे क्लोज कराया जा सकता है. ये मामले इस तरह हैं-

1. खाताधारक, उसके जीवनसाथी या निर्भर बच्चों को जानलेवा बीमारी होने पर
2. PPF खाताधारक या निर्भर बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए
3. खाताधारक के विदेश में बसने पर.

पोस्‍ट ऑफिस PPF में निवेश, इस पर आने वाले ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाले अमाउंट तीनों को आयकर कानून के तहत टैक्स से छूट प्राप्त है. मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को 5 साल के ब्लॉक में बढ़ाया जा सकता है. इसके लिए मैच्योरिटी डेट से एक साल के अंदर एप्लीकेशन देनी होगी. अकाउंट एक्सटेंड कराने पर इसे आगे नए ​डिपॉजिट के साथ या बिना नए डिपॉजिट किए जारी रखा जा सकता है. मौजूदा बैलेंस पर ब्याज हासिल होता रहेगा.

पोस्‍ट ऑफिस PPF अकांउट के एक साल पूरा होने के बाद और 5 साल पूरे होने से पहले, इस पर लोन लिया जा सकता है. इसके अलावा अकाउंट के 5 साल पूरे होने के बाद इससे विदड्रॉअल भी किया जा सकता है. पोस्‍ट ऑफिस PPF पर इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन डिपॉजिट सुविधा, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सेविंग्स अकाउंट से ऑनलाइन डिपॉजिट की सुविधा उपलब्ध है.

मुथूट फाइनेंस NCD: 5 साल के निवेश पर मिल रहा है 7.75% ब्याज, 5 जनवरी तक निवेश का मौका

सुकन्‍या समृद्धि योजना (SSY)

SSY अकाउंट को मिनिमम 250 रुपये से शुरू कर सकते हैं. इसमें एक वित्त वर्ष में न्यूनतम जमा 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तय की गई है. इस स्‍कीम के तहत अपनी बच्‍ची के फ्यूचर को सिक्योर करने के लिए अकाउंट खुलवा सकते हैं. SSY में माता-पिता 10 वर्ष तक की आयु की बच्ची के नाम पर खाता खोल सकते हैं. एक बच्ची के नाम पर एक ही खाता खुलेगा. ब्याज दर की बात करें तो इस समय पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर सालाना 7.6 फीसदी का ब्याज मिल रहा है. सुकन्या समृद्धि स्कीम में अधिकतम 15 साल तक निवेश किया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि अकाउंट को लड़की के 21 साल का होने के बाद ही बंद किया जा सकता है. हालांकि बच्‍ची के 18 साल की होने पर उसकी शादी होने पर नॉर्मल प्रीमैच्‍योर क्‍लोजर की अनुमति है. 18 साल की उम्र के बाद बच्‍ची SSY अकाउंट से आंशिक तौर पर कैश निकासी कर सकती है. निकासी की सीमा पिछला वित्त वर्ष खत्‍म होने पर अकाउंट में मौजूद बैलेंस का 50 फीसदी तक है SSY में जमा की जाने वाली रकम पर सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक का टैक्स डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है. इसके अलावा जमा रकम पर आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला पैसा भी टैक्स फ्री है. इस तरह SSY ‘EEE’ कैटेगरी की टैक्स सेविंग स्कीम है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. सरकारी योजनाएं: 100 से 500 रुपये में शुरू कर सकते हैं निवेश, छोटी बचत से बनेगा बड़ा फंड

Go to Top