सर्वाधिक पढ़ी गईं

Personal Loan लेने जा रहे हैं तो इन 5 बातों को अच्छी तरह समझ लें, हमेशा फायदे में रहेंगे

होम लोन और कार लोन का एक निश्चित उद्देश्य होता है लेकिन पर्सनल लोन किसी भी तरह के खर्चे को पूरा करने के लिए लिया जाता है.पर्सनल लोन अन-सिक्योर्ड लोन होते हैं. यानी इसके एवज में आपकी कोई चीज गिरवी नहीं रखी जाती.

Updated: Aug 12, 2021 9:09 PM
पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड लोन होते हैं, जिसके एवज में कोई चीज गिरवी नहीं रखी जाती.

Personal Loan Rules : अक्सर अचानक आए खर्च के वक्त जब आपके पास पैसे न हों तो ( Personal Loan) पर्सनल लोन का सहारा लेना पड़ सकता है. पर्सनल लोन से जुड़े नियमों और इसकी दूसरी खासियतों के बारे में अक्सर लोगों को काफी कम जानकारी होती है. ऐसे में इनसे जुड़े खास पहलुओं के बारे में जानना बेहद जरूरी है. पर्सनल लोन अन-सिक्योर्ड लोन होते हैं. यानी इसके एवज में आपकी कोई चीज गिरवी नहीं रखी जाती. होम लोन और कार लोन का एक निश्चित उद्देश्य होता है लेकिन पर्सनल लोन किसी भी तरह के खर्चे को पूरा करने के लिए लिया जाता है.

Smartcoin के को-फाउंडर और सीईओ रोहित गर्ग कहते हैं कि आसानी से और बगैर किसी चीज गिरवी रखे मिल जाने की वजह से पर्सनल लोन के बारे में कई गलत धारणाएं प्रचलित हैं. अमूमन कई बार पर्सनल लोन के अप्लाई करने के वक्त लोग आशंका और अविश्वास से घिरे होते हैं. लिहाजा पर्सनल लोन से जुड़ी इन धारणाओं को स्पष्ट करना जरूरी है. आइए जानते हैं कि सही स्थिति क्या है.

1. पर्सनल लोन की दरें बहुत ज्यादा नहीं होती

अक्सर लोगों में यह धारणा देखने को मिलती है कि पर्सनल लोन की दरें बहुत ज्यादा होती हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन, बैंक या लोन देने वाली दूसरी कंपनियां ब्याज की दरें आपके CIBIL स्कोर पर तय करती हैं. अगर आपका यह स्कोर अच्छा है और आपकी रीपेमेंट क्षमता मजबूत है तो आपको कम दर पर लोन मिलता है.

2. सिर्फ सैलरी वाले नहीं कोई भी कमाने वाला ले सकता है पर्सनल लोन

यह आम धारणा है कि सिर्फ सैलरी पाने वाले लोग ही पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. कोई भी स्वरोजगार करने वाला या अपना बिजनेस चलाने वाला व्यक्ति पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकता है. उसका लोन अप्रूवल उसकी क्रेडिट हिस्ट्री पर निर्भर करता है.

3. पर्सनल लोन समय से पहले भी चुका सकते हैं

पर्सनल लोन की अवधि खत्म होने से पहले इसे चुका नहीं सकते. यह गलत धारणा है. पर्सनल लोन में प्री-पेमेंट का ऑप्शन होता है. एक छोटा foreclosure charge देकर पर्सनल लोन का प्री-पेमेंट किया जा सकता है. वैसे भी लोन जितनी जल्दी चुका दें अच्छा है. इससे आपका ईएमआई बोझ खत्म हो जाता है.

Loan Repayment Tips: लोन का बोझ घटाना चाहते हैं तो आजमाएं ये 5 तरीके, जिंदगी हो जाएगी आसान

4. बैंक के अलावा एनबीएफसी, फाइनेंस कंपनियां भी देती हैं लोन

कई लोगों का मानना है कि पर्सनल लोन सिर्फ बैंकों से ही मिल सकता है. लेकिन यह सही नहीं है. तमाम एनबीएफसी कंपनियां और डिजिटल फाइनेंस कंपनियां पर्सनल लोन देती हैं. डिजिटल लोन प्रोवाइडर कंपनियां कम कागजी कार्यवाहियों के लोन देती हैं. इनकी शर्तें भी आसान होती हैं.

5. पर्सनल लोन की प्रोसेसिंग फीस ज्यादा नहीं होती

एक आम धारणा है कि पर्सनल लोन की प्रोसेसिंग फीस ज्यादा होती है. लेकिन यह सही नहीं है. प्रोसेसिंग फीस बैंकों में दिए जाने वाले आम लोन की तरह ही सामान्य होती है. पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड लोन होते हैं. यानी इसके बदले आपकी कोई चीज गिरवी नहीं रखी जाती . अमूमन अप्लाई करने के दो से सात कामकाजी दिनों में आपका लोन मंजूर हो जाता है. हालांकि लोन लेने से पहले अलग-अलग बैंकों और कंपनियों के इंटरेस्ट रेट की तुलना जरूर कर लेनी चाहिए.

(Article : Priyadarshini Maji)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Personal Loan लेने जा रहे हैं तो इन 5 बातों को अच्छी तरह समझ लें, हमेशा फायदे में रहेंगे

Go to Top