मुख्य समाचार:

RBI रेट कट के बाद भी अभी तुरंत नहीं घटेगी आपकी EMI, इन जगहों पर फंसा है पेंच!

यह बात रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने कही है.

April 4, 2019 4:45 PM
external benchmarking rule will not effective from april 2019दिसंबर 2018 में RBI ने घोषणा की थी कि वह अप्रैल 2019-20 से पॉलिसी रेट कट में एक्सटर्नल बेंचमार्किंग का नियम लागू करेगा. (PTI)

External Bench-marking : RBI ने दिसंबर 2018 में घोषणा की थी कि वह अप्रैल 2019 से पॉलिसी रेट कट में एक्सटर्नल बेंचमार्किंग का नियम लागू करेगा. इसका फायदा यह होता कि RBI के रेपो रेट घटाते ही आम उपभोक्ता के लोन की EMI घट जाती. लेकिन फिलहाल यह नियम लागू नहीं होने जा रहा है. रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने गुरुवार को चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली मौद्रिक समीक्षा पेश करते हुए कहा कि एक्सटर्नल बेंचमार्किंग नियम अप्रैल 2019 से लागू नहीं होगा.

RBI गवर्नर दास ने कहा कि एक्सटर्नल बेंचमार्किंग नियम से जुड़े स्टेकहोल्डर्स के साथ विचार-विमर्श किया गया. इसमें ब्याज दर जोखिम और IT प्रणाली को उन्नत बनाने जैसे विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई.  इन मोर्चों पर अभी तैयारी पूरी नहीं है. अभी सिस्टम इस नियम को लागू करने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं है.

RBI ने सस्ता किया कर्ज, लगातार दूसरी बार रेपो रेट 0.25% घटाया; जानिए महंगाई और ग्रोथ रेट पर क्या रहा रुख

फिर से होगा विचार-विमर्श

एक्सटर्नल बेंचमार्किंग को लेकर दास ने कहा कि संबद्ध पक्षों के साथ और विचार-विमर्श करने व दरों में कटौती का लाभ प्रभावी तरीके से ग्राहकों को देने के लिए चीजों पर काम करने का निर्णय किया गया है. उसके बाद एक्सटर्नल बेंचमार्किंग का नियम लागू किया जाएगा. हालांकि, RBI गवर्नर ने यह साफ नहीं किया कि एक्सटर्नल बेंचमार्किंग नियम कब से लागू हो जाएगा.

 

कैसे काम करती है एक्सटर्नल बेंचमार्किंग नियम?

एक्सटर्नल बेंचमार्किंग नियम के तहत लोन्स में ‘फ्लोटिंग’ (परिवर्तनीय) ब्याज दरें रेपो रेट या गवर्मेंट सिक्योरिटी में निवेश पर यील्ड जैसे बाहरी मानकों से संबद्ध की जाएंगी. इसका फायदा यह होगा कि RBI द्वारा पॉलिसी रेट कम किए जाते ही कस्टमर्स के लिए लोन भी तुंरत सस्ते हो जाएंगे. फिलहाल बैंक अपने कर्ज पर दरों को प्रिंसिपल लेंडिंग रेट (PLR), बेंचमार्क प्रिन्सिपल लेंडिंग रेट (BPLR), बेस रेट और मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) जैसे आंतरिक मानकों के आधार पर तय करते हैं.

RBI Repo Rate Cut: आपकी Home Loan और Auto Loan की EMI कितनी हो सकती है कम, समझें कैलकुलेशन

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. RBI रेट कट के बाद भी अभी तुरंत नहीं घटेगी आपकी EMI, इन जगहों पर फंसा है पेंच!

Go to Top