सर्वाधिक पढ़ी गईं

ESIC ने सब्सक्राइबर्स को दी बड़ी राहत, इमरजेंसी हुई तो निजी अस्पताल में भी करा सकेंगे इलाज

ईएसआईसी ने सभी सब्सक्राइबर्स और उनके संबंधी (जो योजना के तहत लाभार्थी हैं) को आपातस्थिति में अपने नजदीक में स्थित किसी भी निजी अस्पताल में इलाज कराने की मंजूरी दे दी है.

December 8, 2020 10:23 AM
ESIC relaxed norms for availing health services in private hospitals in emergency cases

एंप्लाईज स्टेट इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (ESIC) ने अपने सभी सब्सक्राइबर्स को बड़ी राहत दी है. ईएसआईसी ने सभी सब्सक्राइबर्स और उनके संबंधी (जो योजना के तहत लाभार्थी हैं) को आपातस्थिति में अपने नजदीक में स्थित किसी भी निजी अस्पताल में इलाज कराने की मंजूरी दे दी है. इससे पहले उन्हें किसी ईएसआईसी डिस्पेंसरी या हॉस्पिटल जाना होता था और किसी निजी अस्पताल में जाने के लिए रिफरल हासिल कहना होता था.

ट्रेड यूनियन कोऑर्डिनेशन कमेटी (TUCC) के आम सचिव एसपी तिवारी ने बताया कि बोर्ड की बैठक में आपात स्थिति में ईएसआईसी डिस्पेंसरी या हॉस्पिटल में जाकर रिफरल लेने का अनिवार्यता खत्म करने का फैसला लिया गया. तिवारी ईएसआईसी के बोर्ड में भी हैं. तिवारी के मुताबिक यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि हॉर्ट अटैक या कार्डियाक अरेस्ट जैसी आपात परिस्थितियों में तुरंत अस्पताल में भर्ती होने की नौबत आ जाती है.

यह भी पढ़ें- आज किसानों का ‘भारत बंद’, 10 प्वॉइंट में समझें आम आदमी पर क्या होंगे असर

Empanneled Hospital में कैशलेस इलाज

ईएसआईसी सब्सक्राइबर्स आपात स्थिति में अब किसी भी इंपैनल्ड या नॉन-इंपैनस्ड किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल में जा सकेंगे. इन दोनों अस्पतालों में इलाज कराने में फर्क यह रहेगा कि एंपैनल्ड हॉस्पिटल्स में इलाज कैशलेस होगा जबकि नॉन-एंपैनल्ड हॉस्पिटल्स में इलाज कराने पर सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ सर्विसेज रेट पर रिइंबर्समेंट मिलेगा. हालांकि सब्सक्राइबर्स नॉन-एंपैन्लड हॉस्पिटल में तभी इलाज करा सकेंगे जब उनके आसपास करीब 10 किमी तक कोई ईएसआईसी या एंपैनल्ड हॉस्पिटल नहीं होगा.

ESIC करेगी अस्पतालों का संचालन

टीयूसीसी के आम सचिव ने यह भी कहा कि अब ईएसआईसी अब जिन भी अस्पतालों के तहत स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएगी, उसे वह खुद चलाएगी यानी कि इसे अब राज्यों को नहीं सौंपा जाएगा. ईएसआईसी ने यह फैसला स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए लिया है. ईएसआईसी के 26 अस्पतालों का निर्माण कार्य जारी हो चुका है और 16 अस्पतालों की रूपरेखा तैयार हो रही है यानी कि कागजी तैयारी चल रही है. वर्तमान में राज्य ईएसआईसी के 110 अस्पताल चलाते हैं जिसके लिए ईएसआईसी सर्विस चार्जेज का भुगतान करती है.

बेरोजगारी लाभ मिलेगी अगले साल जून तक

ईएसआईसी के बोर्ड की बैठक में अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के तहत बेरोजगारी लाभ लेने की डेडलाइन इस साल के अंत यानी 31 दिसंबर 2020 से बढ़ाकर अगले साल 30 जून 2021 तक करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. इस साल अगस्त में ईएसआईसी के बोर्ड ने कोरोना महामारी के कारण 24 मार्च के बाद रोजगार गंवाने वाले लोगों को बड़ी राहत दी थी. बोर्ड ने फैसला किया था कि जिनकी 24 मार्च के बाद रोजगार गया है, उन्हें सरकार की तरफ से तीन महीने के औसत वेतन के 50 फीसदी के बराबर राहत दी जाएगी. अगस्त में यह राहत पाने के लिए डेडलाइन दिसंबर फिक्स की गई थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. ESIC ने सब्सक्राइबर्स को दी बड़ी राहत, इमरजेंसी हुई तो निजी अस्पताल में भी करा सकेंगे इलाज

Go to Top