मुख्य समाचार:

EPFO की ब्याज दर 2017-18 के लिए 8.65 फीसदी रह सकती है

आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2016-17 में 8.65 फीसदी ब्याज थी जबकि 2015-16 वित्तीय वर्ष में यह 8.8 फीसदी थी.

February 21, 2018 11:22 AM
epfo, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन, कर्मचारी भविष्य निधि, pf interest rate, ईपीएफओ ब्याज दरआपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2016-17 में 8.65 फीसदी ब्याज थी जबकि 2015-16 वित्तीय वर्ष में यह 8.8 फीसदी थी. (Reuters)

ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) अगले वित्तीय वर्ष के लिए भी PF (प्रॉविडेंट फंड) पर ब्याज दर 8.65 फीसदी को बरकरार रख सकता है. इससे ईपीएफओ से जुड़े करीब 5 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा. आज न्यास बोर्ड की बैठक है जिसमें यह निर्णय लिया जाएगा कि PF के ब्याज को कम करना है या बढ़ाना है या फिर बरकरार रखना है.

EPFO को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं हैं कि PF के ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा. आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2016-17 में 8.65 फीसदी ब्याज थी जबकि 2015-16 वित्तीय वर्ष में यह 8.8 फीसदी थी. EPFO 2015 के अगस्त से ईटीएफ में निवेश कर रहा है और उसने अब तक उसने इसमें प्रॉफिट बुकिंग नहीं की है. EPFO ने अब तक ईटीएफ में लगभग 44,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है जिस पर उसे लगभग 16 प्रतिशत रिटर्न मिला है. हालांकि, जबतक EPFO अपने निवेश को बेच नहीं देता तब तक यह रिटर्न अनुमानित ही है.

EPFO पर ब्‍याज दरें PF के निवेश से मिलने वाले रिटर्न के आधार पर तय की जाती है. बीते कुछ सालों के दौरान सरकारी प्रतिभूतियों पर रिटर्न लगातार घटता जा रहा है. सरकार 2015 में खरीदे गए EPFO के कुछ शेयर्स को भी बेचने की योजना बना रही है ताकि ब्‍याज दर को 8.65 प्रतिशत पर बरकरार रखा जा सके.

EPFO को पेपरलेस बनाने की तयारी चल रही है. उमंग ऐप के जरिए PF खाते की जानकारी रखना अब आसान हो गया है. इस साल EPFO पूरी तरह से पेपरलेस बनाने का लक्ष्य रखा गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. EPFO की ब्याज दर 2017-18 के लिए 8.65 फीसदी रह सकती है

Go to Top