मुख्य समाचार:

कोरोना संकट में EPFO ने बदला नियम! PF खाते से निकाल सकते हैं 3 महीने की सैलरी एडवांस

EPFO ने संकट के इस समय में वेतन पाने वाले कर्मचारियों को राहत दी है.

April 2, 2020 1:37 PM
EPFO changes rule in coronavirus crisis employee can withdraw now three month salary from pf accountEPFO ने संकट के इस समय में वेतन पाने वाले कर्मचारियों को राहत दी है.

EPFO Coronavirus outbreak Relief: देश में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है और इसके मामलों की संख्या 2000 को छूने वाली है. ऐसे में EPFO ने संकट के इस समय में वेतन पाने वाले कर्मचारियों को राहत दी है. यह अधिकतर कर्मचारियों के लिए सैलरी आने का समय है. ऐसे में अब EPFO ने कर्मचारियों को 3 महीने की सैलरी की इजाजत दी है. इसके लिए EPFO ने कर्मचारियों के लिए पेंडेमिक एडवांस फैसिल्टी शुरू की है. इसके तहत कर्मचारियों को अपने पीएफ अकाउंट में क्रेडिट से 75 फीसदी तक का नॉन-रिफंडेबल एडवांस या 3 महीने की बेसिक सैलरी और DA निकालने की इजाजत है. इनमें से जो भी कम है, वह निकाल सकते हैं.

4.8 करोड़ वर्कर्स को फायदा

EPFO ने ट्विटर पर इसके बारे में जानकारी दी है. इसके मुताबिक कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए EPF के सदस्यों को नॉन-रिफंडेबल एडवांस देने के लिए एंप्लॉय प्रोविडेंट फंड स्कीम, 1952 में संशोधन किया गया है. इससे ईपीएफओ के साथ रजिस्टर्ड सभी वर्कर्स को फायदा होगा. इस बारे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 26 मार्च को राहत पैकेज के साथ एलान किया था. सीतारमण ने बताया था कि इस फैसले से करीब 4.8 करोड़ वर्कर्स को फायदा होगा.

SSY: ये सरकारी स्कीम रिटर्न देने में अब भी अव्वल! 1.5 लाख सालाना निवेश पर 64 लाख मिलने की गारंटी

सरकार EPF योगदान भी देगी

इसके अलावा सरकार अगले तीन महीने तक नियोक्ता और कर्मचारी दोनों का एंप्लॉय प्रोविडेंट फंड (EPF) योगदान देगी, जो कुल मिलाकर 24 फीसदी (12%+12%) होगा. यह उन संस्थाओं के लिए है, जिनके पास 100 कर्मचारी तक मौजूद हैं जो इनमें से 90 फीसदी 15 हजार रुपये से कम महीने में कमाते हैं. इससे 80 लाख से ज्यादा इंप्लॉई और 4 लाख से ज्यादा संस्थानों/प्रतिष्ठानों को फायदा होगा. भारत सरकार इसके लिए लगभग 5 हजार करोड़ रुपये का खर्च करेगी.

EPFO) अपने सब्सक्राइबर्स/मेंबर इंप्लॉइज को जीवन बीमा की सुविधा भी देता है. EPFO के सभी सब्सक्राइबर इंश्योरेंस स्कीम 1976 (EDLI) के ​तहत कवर होते हैं. इंश्योरेंस कवर की धनराशि EPFO मेंबर इंप्लॉई के वेज का 20 गुना है, जो कि मैक्सिमम 6 लाख रुपये तक है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. कोरोना संकट में EPFO ने बदला नियम! PF खाते से निकाल सकते हैं 3 महीने की सैलरी एडवांस
Tags:EPFO

Go to Top