मुख्य समाचार:

PF पर 8.5% ब्याज देने के लिए EPFO बेच सकता है ETF होल्डिंग, 2700 करोड़ कमाई का अनुमान

EPF Latest News Updates: कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) जल्द ही एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) में 6,000 करोड़ रुपये के अपने निवेश का हिस्सा बेच सकता है.

September 8, 2020 3:14 PM
EPFO, CBDT, PF, retirement fund body, EPFO to sell part of ETF Holding, exchange-traded fund, 8.5% interest on PF, EPFO investment pattern, invest stock market through ETF, Debt Investment, Central Board of TrusteesEPF Latest News Updates: कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) जल्द ही एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) में 6,000 करोड़ रुपये के अपने निवेश का हिस्सा बेच सकता है.

EPF Latest News Updates: कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) जल्द ही एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) में 6,000 करोड़ रुपये के अपने निवेश का हिस्सा बेच सकता है. इस कदम से रिटायरमेंट फंड बॉडी को 2700 करोड़ रुपये की आय होगी. CBDT ने इस साल EPF पर 8.50 फीसदी ब्याज देने का एलान किया था. इसे पूरा करने के लिए CBDT कल बुधवार यानी 9 सितंबर को एक बैठक करने वाली है. इस बैठक में पुराने ETF होल्डिंग्स बेचने के अलावा कुछ अहम बातों पर विचार हो सकता है.

क्यों बेचना पड़ सकता है ETF

PF पर 8.15 फीसदी रिटर्न के लिए ऑर्गेनाइजेशन के पास फंड है लेकिन बाकी के 0.35 फीसदी के लिए CBDT को अपना ETF बेचना होगा. ईपीएफओ के एक अधिकारी के अनुसार CBT ने हमें उचित समय पर निवेश बेचने की अनुमति भी दी थी. हम 9 सितंबर को होने वाली मीटिंग में इस प्लान के साथ आगे जा सकते हैं. पहले CBDT मार्च में ही ETF होल्डिंग्स बेचना चाहती थी लेकिन तब बाजार क्रैश होने के कारण कंपनी अपना प्लान कैंसिल करना पड़ा. यह प्रपोजल जून तक वैलिड था, लेकिन इसे दोबारा रिन्यू कराया गया.

EPFO के निवेश का पैटर्न

EPFO साल 2015 से ही ईटीएफ के माध्यम से शेयर बाजार में निवेश कर रहा है. मौजूदा निवेश पैटर्न के अनुसार, ईपीएफओ इक्विटी में अपनी एनुअल इंक्रीमेंटल रीसीप्ट का 15 फीसदी निवेश करता है, बाकी डेट में. ईपीएफओ निफ्टी 50, सेंसेक्स, सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज (सीपीएसई) और भारत 22 इंडेक्स पर आधारित ईटीएफ में निवेश करता है. ईपीएफओ व्यक्तिगत कंपनियों के शेयरों और इक्विटी में निवेश नहीं करता है. ईपीएफओ द्वारा सितंबर, 2019 तक ईपीएफओ द्वारा निवेश की गई कुल राशि 86,966 करोड़ रुपये है.

बैठक में अहम फैसला संभव

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की बुधवार को होने वाली बैठक में कुछ अहम फैसले हो सकते हैं. सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (CBT) ने इस साल मार्च में EPF पर 8.50 फीसदी ब्याज देने का एलान किया था. मीटिंग में कर्मचारी भविष्य निधि पर साल 2019-20 के लिए 8.5 फीसदी ब्याज दिए जाने का मामला भी उठाया जा सकता है. ईपीएफओ के केंद्रीय न्यासी मंडल ने 5 मार्च की बैठक में ईपीएफ पर 2019-20 के लिए ब्याज दर 8.50 फीसदी रखने की सिफारिश की थी जो पहले से 0.15 फीसदी कम है. ईपीएफ की यह प्रस्तावित दर 7 साल की न्यूनतम दर होगी.

7 साल की न्यूनतम दर

बता दें कि वित्त मंत्रालय की सहमति से ही ईपीएफ पर वार्षिक ब्याज दर में संशोधन का फैसला लागू होता है. केंद्रीय न्यासी मंडल इस बारे में निर्णय मार्च में ही कर चुका है. इससे पहले वित्त वर्ष 2018—19 के लिए ईपीएफ खाताधारकों को अपने जमा धन पर 8.65 फीसदी की दर से ब्याज मिला था.

इतनी रही पिछले दिनों ब्याज दर

ईपीएफओ ने वित्त वर्ष 2016-17 में भविष्य निधि पर 8.65 फीसदी, वित्त वर्ष 2017-18 में 8.55 फीसदी का ब्याज दिया था. जबकि वित्त वर्ष 2015-16 में यह 8.8 फीसदी सालाना था. इससे पहले 2013-14 और 2014-15 में भविष्य निधि पर 8.75 फीसदी और 2012-13 में 8.5 फीसदी ब्याज दिया गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. PF पर 8.5% ब्याज देने के लिए EPFO बेच सकता है ETF होल्डिंग, 2700 करोड़ कमाई का अनुमान

Go to Top