सर्वाधिक पढ़ी गईं

EMI Vs SIP: कर्ज का रास्ता चुनें या निवेश पर लगाएं दांव, जानें नफा-नुकसान

SIP (Systematic Investment Plan) के जरिए किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में निवेश कर दें, तो आप अच्छा रिटर्न हासिल कर सकते हैं.

Updated: Oct 28, 2019 8:17 AM
emi, sip, mutual funds, best investment option, invest, shopping, loan, credit card emi, निवेश, ईएमआई, how to invest in mutual funda, how to start sipEMI Vs SIP

देश में खरीदारी सीजन लगभग हमेशा ही देखने को मिलता है. खासकर जब से ई-कॉमर्स कंपनियों एंट्री हुई है, देश में शॉपिंग का कल्चर ही बदल गया है. हालांकि अभी रिटेल स्टोर की शॉपिंग का क्रेज बना हुआ है. आमतौर पर हम ऑफर्स के लिए क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की ईएमआई का इस्तेमाल करते हैं, फिर भले ही हमारे अकाउंट में पर्याप्त कैश न मौजूद हो. बड़ी खरीदारी करने के लिए क्रेडिट या डेबिट कार्ड की फाइनेंस स्कीम्स का सहारा लेना परेशानी दे सकता है. बैंक इसके लिए आक्रामक मार्केटिंग को अपनाते हैं और कस्टमर्स खासकर युवाओं को ये आसानी से उपलब्ध कराते हैं.

बैंक को भारी ब्याज चुका बैठते हैं

जब आप बैंक या क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की ईएमआई के जरिए कंज्यूमर डयूरेबल लोन लेने का तय करते हैं, तो आप बैंक द्वारा तय की गई ब्याज दर के मुताबिक हर महीने किश्त का भुगतान करने के लिए राजी हो जाते हैं. ऐसा करके एक लंबे समय तक बैंक को भारी ब्याज का भुगतान कर बैठते हैं.

SIP में निवेश करने से फायदा मिलेगा

दूसरी तरफ, अगर आप इसके विपरीत सोचें और उतनी ही राशि को SIP (Systematic Investment Plan) के जरिए किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में निवेश कर दें, तो आप अच्छा रिटर्न हासिल कर सकते हैं. SIP इक्विटी मार्केट में प्रवेश करने का सबसे बेहतरीन तरीका है और इससे कई फायदे भी मिलते हैं. आइए EMI और SIP के बीच तुलना को उदाहरण से समझते हैं.

मान लीजिए आप बाजार में मौजूद लेटेस्ट I-Phone को खरीदना चाहते हैं, जिसकी कीमत लगभग 1.2 लाख रुपये है. आप इसके लिए बैंक की फाइनेंस स्कीम का इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर आप 3 साल की ईएमआई लेते हैं, तो आप कुल मिलाकर 1.5 लाख का भुगतान करेंगे जिसमें 30,000 रुपये ब्याज होगी.

दूसरी ओर, अगर आप I-Phone के बजाए, उसी राशि को SIPs के जरिए किसी अच्छे म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो आपको 36 महीनों में लगभग 1.75 लाख रुपये मिलेंगे जिसमें सालाना 12 फीसदी को हम ब्याज मान रहे हैं.

हालांकि, सभी तरह के कर्ज बुरे नहीं होते. उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति प्रॉपर्टी खरीदने के लिए होम लोन लेता है, तो ये अच्छा एसेट ही है.

संवत 2076 में ये शेयर दिला सकते हैं अच्छा रिटर्न, अगली दिवाली तक भरती रहेगी जेब

By: Vishwajeet Parashar

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. EMI Vs SIP: कर्ज का रास्ता चुनें या निवेश पर लगाएं दांव, जानें नफा-नुकसान

Go to Top