सर्वाधिक पढ़ी गईं

म्यूचुअल फंड में करने जा रहे हैं निवेश, न करें 5 गलतियां

किसी भी फाइनेंशियल इंस्ट्रूमेंट में निवेश से पहले उसके जोखिमों और अनजाने में होने वाली ग​लतियों के बारे में जान लेना जरूरी है.

Updated: Oct 17, 2018 11:41 AM
do not do these mistakes while investing in mutual fundsवर्तमान में म्यूचुअल फंड निवेश के पसंदीदा विकल्पों में से एक बन कर उभर रहा है.

Mutual Fund निवेश के पसंदीदा विकल्पों में से एक बन कर उभर रहा है. इसके इन्वेस्टर्स की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है और ज्यादातर लोग सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए निवेश कर रहे हैं. लेकिन किसी भी फाइनेंशियल इंस्ट्रूमेंट में निवेश से पहले उसके जोखिमों और अनजाने में होने वाली ग​लतियों के बारे में जान लेना जरूरी है. म्यूचुअल फंड पर भी यह बात लागू होती है. आज हम आपको बता रहे हैं, ऐसी ही कुछ गलतियों के बारे में, जिनके चलते आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है और जिनसे आपको बचना चाहिए—

1. बिना लक्ष्य के निवेश

म्यूचुअल फंड के तहत निवेश करने से पहले आपके लक्ष्य स्पष्ट होने चाहिए. तभी आप सही फंड को चुन सकेंगे. अगर लक्ष्य स्पष्ट नहीं है तो आपके गलत फंड में निवेश करने की संभावना ज्यादा होती है. कई निवेशक प्रोडक्ट के काम करने के तरीके की गहराई को समझने से पहले ही निवेश करने की गलती भी करते हैं. आपको यह जानना होगा कि म्यूचुअल फंड में निवेश में
जोखिम रहता है. यहां रिटर्न की गारंटी नहीं है. सुनिश्चित करें कि फंड का उद्देश्य और निवेश का दर्शन आपके लक्ष्यों के अनुरूप हैं. इस प्रकार, आपको सभी इन और आउट से गुजरने के बाद एक विकल्प चुनना होगा.

2. बाजार के गिरने पर SIP रोक देना

ऐसे कई निवेशक हैं जो बाजार की टाइमिंग को देखकर निवेश करते हैं. बाजार नीचे आने पर वे एसआईपी रोक देते हैं और बाजार बढ़ते समय निवेश शुरू करते हैं. यह निवेश के बुनियादी सिद्धांत बाय लो एंड सेल हाई के बिल्कुल विपरीत है. इस तरह, वे अपने सभी लाभ एक ही झटके में गंवा देते हैं, जिन्हें उन्होंने अपने पूरी निवेश अवधि में अर्जित किया था. आप
अपना निवेश जारी रख इस गलती से बच सकते हैं. बाजार की चाल का आकलन करने के बजाय, निवेश अवधि के साथ मेल खाते फंड्स की कैटेगरी में निवेश करना चाहिए. इस तरह, आप निवेश की गई पूंजी को खोए बिना सही फंड चुन सकते हैं.

do not do these mistakes while investing in mutual fundsImage: IE

3. कई सारे फंड्स के साथ भीड़भरा पोर्टफोलियो

आपको हमेशा म्यूचुअल फंड निवेश में विविधता रखनी चाहिए. लेकिन यदि आप अपने पोर्टफोलियो में बहुत सारे फंड्स को शामिल करते हैं तो यह नुकसानदायक रहता है. प्रत्येक योजना के फंड मैनेजर फंड के उद्देश्य के अनुसार सिक्योरिटी के एक निश्चित सेट में निवेश करते हैं. ऐसे में संभव है कि आपके पोर्टफोलियो में समान स्टॉक होल्डिंग वाले दो बड़े-कैप इक्विटी फंड शामिल हों. इस तरह के परिदृश्य में विविधीकरण के नाम पर बहुत से बड़े-कैप
इक्विटी फंड आपके पास होंगे और वे मिलकर इसके सकारात्मक प्रभाव को
कम कर देंगे.

4. पोर्टफोलियो में बार-बार संतुलन बिठाने की कोशिश करना

हर नई घटना स्टॉक मार्केट्स में भावनात्मक उतार-चढ़ाव लाती है. इसकी वजह से कई निवेशक अपने लक्ष्य को दरकिनार कर लगातार पोर्टफोलियो एडजस्ट करने लगते हैं. कई लोग दूसरों की देखा-देखी शेयर्स की खरीद-बिक्री करने लगते हैं. ऐसा नुकसानदायक भी रह सकता है क्योंकि हर किसी के वित्तीय लक्ष्य और स्थितियां एक सी नहीं होतीं. ऐसे में जो एक के लिए सही हो, वह दूसरे के पोर्टफोलियो पर भी लागू हो यह जरूरी नहीं. इसलिए सोच-समझकर पूरी जानकारी लेने के बाद ही कोई फैसला लें.

do not do these mistakes while investing in mutual fundsImage: Reuters

5. पिछले प्रदर्शन पर निर्भरता

कुछ लोग किसी फंड के पिछले प्रदर्शन को देखकर उसमें निवेश कर देते हैं. वे इस तथ्य को भूल जाते हैं कि रिटर्न बदलता रहता है. पिछले प्रदर्शन पर पूरी तरह से निर्भर करने से आप उम्मीद करने लगते हैं कि भविष्य में भी वह फंड वैसा ही रिटर्न देगा. लेकिन ऐसा हमेशा हो, यह जरूरी नहीं. फंड का मूल्य हर तिमाही में बदलता है, साथ ही फंड रेटिंग भी. फंड्स को चुनने से पहले आपको अन्य गुणात्मक और मात्रात्मक मानकों का संदर्भ भी लेना चाहिए.

(इसके लेखक अर्चित गुप्ता क्लियरटैक्स के फाउंडर व सीईओ हैं.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. म्यूचुअल फंड में करने जा रहे हैं निवेश, न करें 5 गलतियां

Go to Top