सर्वाधिक पढ़ी गईं

Diwali 2020 Post Office Investment: छोटे निवेश से बन जाएगा बड़ा फंड, बिना किसी रिस्क बढ़ेगा आपका पैसा

Diwali 2020 Post Office Investment Schemes: आइए पोस्‍ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं के बारे में जानते हैं. 

Updated: Nov 14, 2020 12:04 AM
Diwali 2020 Post Office Investment small saving schemes RD MIS TD PPF NSC know interest rates featuresआइए पोस्‍ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं के बारे में जानते हैं. 

Diwali 2020 Post Office Investment Schemes: दिवाली का त्योहार है. दिवाली व्यक्ति की जिंदगी में नई खुशियां लेकर आती है. यह दिन नई शुरुआत और निवेश के लिए भी शुभ माना जाता है. ऐसे में आप पोस्ट ऑफिस की सेविंग्स स्कीम्स में निवेश कर सकते हैं. डाक घर की बचत योजनाओं में सुरक्षित और अच्छा रिटर्न मिलता है. पोस्‍ट ऑफिस स्कीम्स में निवेश किए गए पूरे पैसे के 100 फीसदी सेफ रहने की गारंटी होती है. पोस्‍ट ऑफिस में टाइम डिपॉजिट (TD) अकाउंट से लेकर RD, PPF, NSC तक खुलवाए जा सकते हैं. आइए पोस्‍ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं के बारे में जानते हैं.

5 साल वाला रिकरिंग डिपॉजिट (RD)

पोस्‍ट ऑफिस में न्यूनतम 100 रुपये प्रति महीने के इन्‍स्‍टॉलमेंट पर RD खुल जाती है. इसका मैच्योरिटी पीरियड 5 साल है. पोस्‍ट ऑफिस RD पर मौजूदा ब्याज दर 5.8 फीसदी सालाना है. अकाउंट सिंगल या ज्वॉइंट में, 10 साल से ज्यादा उम्र के नाबालिग और दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के नाम खुलवा सकते हैं. अगर इसे महीने की 15 तारीख से पहले खुलवाया है तो हर महीने की 15 तारीख से पहले आपका मंथली इन्‍स्‍टॉलमेंट इसमें डिपॉजिट हो जाना चाहिए.

वहीं अगर 15 तारीख के बाद खुलवाया है तो महीने की आखिरी तारीख तक इसका डिपॉजिट होना जरूरी है. तय तारीख तक मंथली डिपॉजिट जमा न होने पर पोस्‍ट ऑफिस आपसे हर डिफॉल्ट पर, प्रति 100 रुपये पर 1 रुपये डिफॉल्‍ट फीस लेता है. लगातार 4 डिफॉल्‍ट्स के बाद RD अकाउंट डिसकंटीन्‍यू कर दिया जाता है. हालांकि इसे 2 महीने के अंदर रिवाइव कराया जा सकता है. लेकिन अगर इस अवधि में रिवाइव नहीं कराया गया तो आगे इसमें कोई भी डिपॉजिट नहीं होगा. मंथली डिपॉजिट करने से चूकने के बाद आपको पहले पिछला बकाया डिपॉजिट और फीस भरनी होगी, तब आपका मौजूदा मंथली डिपॉजिट मंजूर किया जाएगा.

पोस्‍ट ऑफिस RD को 3 साल बाद प्रीमैच्योरली क्लोज करा सकते हैं. पोस्‍ट ऑफिस RD पर नॉमिनेशन, अकाउंट एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराने की सुविधा, एक पोस्‍ट ऑफिस में कई RD खुलवाने की सुविधा इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग से ऑनलाइन डिपॉजिट की सुविधा, ​इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सेविंग अकाउंट से ऑनलाइन डिपॉजिट की सुविधा, अकाउंट को मैच्योरिटी पीरियड खत्म होने के बाद और 5 साल के लिए एक्सटेंड कराने की सुविधा उपलब्ध है. पोस्‍ट ऑफिस RD पर लोन भी लिया जा सकता है. अकाउंट खुलवाने के 1 साल बाद माजूदा बैलेंस के 50 फीसदी तक का लोन ले सकते हैं.

पोस्‍ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट (TD)

पोस्‍ट ऑफिस में 1 साल से 5 साल तक की TD खुलवा सकते हैं. अकाउंट को मिनिमम 1000 रुपये में खुलवाया जा सकता है, मैक्सिमम लिमिट नहीं है. पोस्‍ट ऑफिस TD पर मौजूदा ब्याज दर 5.5 फीसदी से 6.7 फीसदी सालाना तक है. TD सिंगल या ज्वॉइंट में, 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग या दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के नाम पर कराई जा सकती है.

पोस्‍ट ऑफिस TD कराने के बाद 6 महीने पूरे होने से पहले प्रीमैच्योर इनकैशमेंट नहीं हो सकता है. 6 माह बाद से लेकर अकाउंट के 12 माह पूरे होने तक अगर TD को बंद कराया जाता है तो पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट की ब्याज दर लागू होगी, न कि TD की. 5 साल की पोस्‍ट ऑफिस TD में निवेश को आयकर कानून के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स से छूट प्राप्त है.

पोस्‍ट ऑफिस TD पर नॉमिनेशन सुविधा, अकाउंट एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराने की सुविधा, एक ही पोस्‍ट ऑफिस में कई TD खुलवाने की सुविधा, सिंगल अकाउंट को ज्वॉइंट में या ज्वॉइंट अकाउंट को सिंगल में कन्वर्ट कराने की सुविधा, अकाउंट एक्सटेंड कराने की सुविधा, इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन अकाउंट ओपनिंग सुविधा उपलब्ध है.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को मिनिमम 500 रुपये से शुरू किया जा सकता है. अकाउंट पर मौजूदा सालाना ब्याज दर 7.1 फीसदी है. अकाउंट में एक वित्त वर्ष में मिनिमम 500 रुपये और मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये जमा करना जरूरी है. अगर अकाउंट में मिनिमम सालाना अमाउंट डिपॉजिट न किया गया तो अकाउंट इनएक्टिव हो जाता है और फिर पिछला बकाया, 50 रुपये का चार्ज और एक इंस्टॉलमेंट भरने के बाद ही फिर से एक्टिव होता है. साथ ही अगर आप महीने के पूरे इंट्रेस्‍ट का फायदा लेना चाहते हैं तो हर माह की 5 तारीख तक PPF में डिपॉजिट कर दें. पोस्‍ट ऑफिस PPF पर नॉमिनेशन सुविधा, माइनर के नाम पर दूसरा PPF अकाउंट खुलवाने की सुविधा उपलब्ध है.

पोस्‍ट ऑफिस PPF का मैच्‍योरिटी पीरियड 15 साल है और इससे पहले क्‍लोजर नहीं किया जा सकता. हालांकि चुनिंदा मामलों में 5 साल की अवधि पूरा होने के बाद जरूरत पड़ने पर इसे क्लोज कराया जा सकता है. ये मामले इस तरह हैं-

1. खाताधारक, उसके जीवनसाथी या निर्भर बच्चों को जानलेवा बीमारी होने पर
2. PPF खाताधारक या निर्भर बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए
3. खाताधारक के विदेश में बसने पर.

पोस्‍ट ऑफिस PPF में निवेश, इस पर आने वाले ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाले अमाउंट तीनों को आयकर कानून के तहत टैक्स से छूट प्राप्त है. मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद पोस्‍ट ऑफिस PPF अकाउंट को 5 साल के ब्लॉक में बढ़ाया जा सकता है. इसके लिए मैच्योरिटी डेट से एक साल के अंदर एप्लीकेशन देनी होगी. अकाउंट एक्सटेंड कराने पर इसे आगे नए ​डिपॉजिट के साथ या बिना नए डिपॉजिट किए जारी रखा जा सकता है. मौजूदा बैलेंस पर ब्याज हासिल होता रहेगा.

पोस्‍ट ऑफिस PPF अकांउट के एक साल पूरा होने के बाद और 5 साल पूरे होने से पहले, इस पर लोन लिया जा सकता है. इसके अलावा अकाउंट के 5 साल पूरे होने के बाद इससे विदड्रॉअल भी किया जा सकता है. पोस्‍ट ऑफिस PPF पर इंट्रा ऑपरेबल नेटबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन डिपॉजिट सुविधा, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सेविंग्स अकाउंट से ऑनलाइन डिपॉजिट की सुविधा उपलब्ध है.

Dhanteras 2020: SGB vs ETF; इस धनतरेस सोने में निवेश का बदलें तरीका, मिलेगा ज्यादा रिटर्न

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC)

NSC का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल है. इस पर मौजूदा सालाना ब्याज दर 6.8 फीसदी है. NSC में मिनिमम 1000 रुपये से निवेश शुरू किया जा सकता है. निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है. NSC में सिंगल या ज्वॉइंट में, 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग और दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के नाम पर निवेश किया जा सकता है. इसमें निवेश को आयकर कानून के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स रिबेट प्राप्त है. NSC को, जारी होने से मैच्योरिटी डेट के बीच एक बार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर किया जा सकता है.

पोस्‍ट ऑफिस मंथली इनकम स्‍कीम अकाउंट (MIS)

MIS का मैच्‍योरिटी पीरियड 5 साल है. इस पर मौजूदा ब्याज दर 6.6 फीसदी सालाना है, जो कि हर माह भुगतान किया जाता है. पोस्‍ट ऑफिस MIS में मिनिमम 1000 रुपये से अकाउंट खोला जा सकता है. मैक्सिमम इन्वेस्टमेंट लिमिट सिंगल अकाउंट के लिए 4.5 लाख और ज्वॉइंट अकाउंट के लिए 9 लाख रुपये है. अकाउंट को 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग और दिमागी रूप से कमजोर व्यक्ति के नाम पर भी खुलवा सकते हैं. अगर पोस्‍ट ऑफिस MIS को प्रीमैच्‍यो‍रली क्लोज करना चाहते हैं तो ऐसा 1 साल पूरा होने के बाद ही हो पाएगा.

अकांउट के 3 साल पूरे होने से पहले प्रीमैच्‍योर इनकैशमेंट पर पोस्‍ट ऑफिस डिपॉजिट में से 2 फीसदी काट लेगा. वहीं 3 साल पूरे होने के बाद प्रीमैच्योर इनकैशमेंट पर डिपॉजिट का 1 फीसदी काटा जाता है. पोस्‍ट ऑफिस MIS पर नॉमिनेशन सुविधा, अकाउंट को एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराने की सुविधा, एक ही पोस्‍ट ऑफिस में कई अकाउंट खुलवाने की सुविधा, सिंगल अकाउंट को ज्वॉइंट और ज्वॉइंट अकाउंट को सिंगल में कन्वर्ट कराने की सुविधा उपलब्ध है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. Diwali 2020 Post Office Investment: छोटे निवेश से बन जाएगा बड़ा फंड, बिना किसी रिस्क बढ़ेगा आपका पैसा

Go to Top