scorecardresearch

Dhanteras 2022: धरतेरस के मौके पर खरीद सकते हैं डिजिटल गोल्ड, समझिए Gold ETF में निवेश के क्या हैं फायदे

Gold ETF: पेपर गोल्ड में निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका गोल्ड ईटीएफ है, जो बहुत ज्यादा कॉस्ट-इफेक्टिव होता है. गोल्ड ईटीएफ की खरीद और बिक्री शेयर की ही तरह बीएसई और एनएसई पर की जा सकती है.

Dhanteras 2022: धरतेरस के मौके पर खरीद सकते हैं डिजिटल गोल्ड, समझिए Gold ETF में निवेश के क्या हैं फायदे
भारत में धनतेरस के मौके पर सोना खरीदना बेहद शुभ माना जाता है.

Dhanteras 2022: भारत में धनतेरस के मौके पर सोना खरीदना बेहद शुभ माना जाता है. आज के दिन ज्यादातर भारतीय सोने में निवेश करना पसंद करते हैं. ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोना खरीदने से समृद्धि बढ़ती है और अधिक धन की प्राप्ति होती है. आज के समय में सोना ऑनलाइन (डिजिटल सोना) माध्यम से खरीदना संभव है. गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ETF) पिछले कुछ सालों से निवेश का सुरक्षित विकल्प बन गया है. यह एक ओपन एंडेड म्यूचुअल फंड होता है, जो सोने की गिरते चढ़ते भावों पर आधारित होता है.पेपर गोल्ड में निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका गोल्ड ईटीएफ है, जो बहुत ज्यादा कॉस्ट-इफेक्टिव होता है. यह गोल्ड में इन्वेस्टमेंट के साथ स्टॉक में इन्वेस्टमेंट की फ्लेक्सिबिलिटी देता है. गोल्ड ईटीएफ की खरीद और बिक्री शेयर की ही तरह बीएसई और एनएसई पर की जा सकती है. इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में होने की वजह से गोल्ड ETF में प्योरिटी को लेकर कोई दिक्कत नहीं होती.

क्या है Gold ETF?

गोल्ड ईटीएफ केवल फिजिकल गोल्ड का रिप्रेजेंट करने वाली यूनिट्स हैं जिन्हें डीमैट रूप में खरीदा जा सकता है. जब आप गोल्ड ईटीएफ में निवेश करते हैं, तो आपके पास वास्तव में फिजिकल सोना नहीं होता है, बल्कि आप सोने की कीमत के बराबर नकद रखते हैं. इसी तरह, जब आप गोल्ड ईटीएफ बेचते हैं, तो आपको फिजिकल गोल्ड नहीं मिलता है, बल्कि उस समय सोने की कीमत के बराबर कैश मिल जाता है. यह एक ओपन एंडेड म्यूचुअल फंड होता है, जो सोने की गिरते चढ़ते भावों पर आधारित होता है.

Ind vs Pak in T20 World Cup 2022: मेलबर्न में होगी भारत-पाक की टक्कर, क्या दुबई की हार का हिसाब चुका पाएगी टीम इंडिया?

Gold ETF कैसे खरीदें और कैसे बेचें?

आप डीमैट अकाउंट का उपयोग करके बीएसई या एनएसई पर गोल्ड ईटीएफ का कम से कम एक यूनिट खरीद और बेच सकते हैं. जिन निवेशकों के लिए जिनके पास डीमैट अकाउंट नहीं है, उनके पास गोल्ड फंड ऑफ फंड्स का उपयोग करके गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने का विकल्प है. गोल्ड ईटीएफ में गोल्ड फंड ऑफ फंड निवेश करता है. इस तरह की पेशकश के माध्यम से निवेशक एसआईपी या एकमुश्त के माध्यम से सोने में निवेश करने का विकल्प चुन सकते हैं.

Gold ETF में निवेश के फायदे

  • पहला फायदा तो यह है कि गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने से आपको न तो भंडारण की परेशानी का सामना करना पड़ता है और न ही चोरी की चिंता होती है. चूंकि गोल्ड ईटीएफ यूनिट्स डीमैट रूप में होती हैं, इसलिए आपकी होल्डिंग को सुरक्षित रखने के लिए लॉकर की कोई जरूरत नहीं है. इस तरह, आप लॉकर शुल्क पर भी बचत कर सकते हैं.
  • चूंकि गोल्ड ईटीएफ रेगुलेटेड एंटिटी हैं, इसलिए निवेशक को होल्डिंग्स की शुद्धता को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है. आप इसमें निश्चिंत हो सकते हैं कि प्योरिटी का लेवल हमेशा 99.5 प्रतिशत या उससे अधिक रहेगा.
  • तीसरा, गोल्ड ईटीएफ यूनिट खरीदते समय कोई प्रीमियम, मेकिंग चार्ज या कोई अन्य लागत शामिल नहीं होती है.
  • गोल्ड ईटीएफ के रूप में खरीदते या बेचते समय सोने के मूल्य निर्धारण में पूरी पारदर्शिता होती है.
  • इसकी लागत बहुत कम है. आभूषण के रूप में सोना खरीदते समय, निवेशकों को खरीदारी करने के लिए एक निश्चित राशि जमा करनी होती है. जब गोल्ड ईटीएफ की बात आती है, तो निवेशक कम से कम 45 रुपये में निवेश करना शुरू कर सकते हैं, जो कि ICICI प्रूडेंशियल गोल्ड ईटीएफ की 1 यूनिट की कीमत है. (20 अक्टूबर, 2022 तक).

Top 5 Electric Scooters: फेस्टिव सीजन में नया इलेक्ट्रिक स्कूटर लेने का है प्लान? ये हैं टॉप 5 विकल्प

पोर्टफोलियो डायवर्सिफिकेशन में मिलती है मदद

गोल्ड ईटीएफ भंडारण, सुरक्षा या शुद्धता संबंधी परेशानियों के बारे में चिंता किए बिना भौतिक सोने में निवेश करने का एक प्रभावी तरीका है. गोल्ड ईटीएफ रखने का एक अन्य लाभ यह है कि यह एक पोर्टफोलियो डायवर्सिफायर है और अन्य एसेट क्लास में महंगाई और उतार-चढ़ाव के खिलाफ बचाव प्रदान करता है. इसलिए, अगर आपके निवेश पोर्टफोलियो में गोल्ड ईटीएफ है, तो आपको न केवल पूंजी की वृद्धि से लाभ होता है, बल्कि बाजार के उतार-चढ़ाव को से भी आप कम प्रभावित हो सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 22-10-2022 at 10:31:59 am

TRENDING NOW

Business News