मुख्य समाचार:

अब 15 मई तक रिन्यू करा सकेंगे स्वास्थ्य व मोटर बीमा, लॉकडाउन बढ़ने से वित्त मंत्रालय ने आगे बढ़ाई तारीख

इसके बारे में नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है.

April 16, 2020 1:34 PM

Date for renewal of health, motor insurance policies extended up to May 15 due to lockdown extension, finance ministry

 

वित्त मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को ऐसी स्वास्थ्य बीमा और थर्ड पार्टी मोटर बीमा पॉलिसियों के रिन्युअल की तारीख को आगे बढ़ा दिया है, ​जो लॉकडाउन के दौरान एक्सपायर हो रही थीं. 25 मार्च से 3 मई के बीच एक्सपायर होने वाली स्वास्थ्य बीमा व मोटर बीमा पॉलिसियों को अब 15 मई तक रिन्यू कराया जा सकेगा.

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा कि एक्सपायर होने वाली पॉलिसियों के पॉलिसीधारकों को हो रही दिक्कतों को देखते हुए सरकार ने रिन्युअल डेट को आगे बढ़ाकर 15 मई 2020 कर दिया है. लॉकडाउन के चलते अगर स्वास्थ्य बीमा या थर्ड पार्टी बीमा के पॉलिसीधारक वक्त पर अपना रिन्युअल प्रीमियम नहीं भर पाते हैं तो वे 15 मई तक यह भुगतान कर सकते हैं. इसके बारे में नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है.

 

पहले 21 अप्रैल तक था मौका

इससे पहले घोषित 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान सरकार ने 25 मार्च 2020 से 14 अप्रैल 2020 के बीच एक्सपायर होने वाली स्वास्थ्य बीमा व मोटर बीमा पॉलिसियों के रिन्युअल की समयसीमा बढ़ाकर 21 अप्रैल 2020 कर दी थी. अब इसे बढ़ाकर 15 मई कर दिया गया है. नोटिफिकेशन में यह भी विश्वास दिलाया गया है कि पॉलिसी की कंटीन्युइटी बरकरार रहेगी और लॉकडाउन के दौरान किसी भी वैलिड क्लेम का भुगतान होगा.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल को देश में लागू लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया ताकि कोविड19 के फैलाव को रोका जा सके. पहले घोषित 21 दिन का लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म हो रहा था.

लॉकडाउन: रेलवे को देना होगा 94 लाख टिकटों का रिफंड, 1,490 करोड़ की लगेगी चपत

स्वास्थ्य बीमा: रिन्युअल के लिए ग्रेस पीरियड का प्रावधान

स्वास्थ्य बीमा के मामले में अगर पॉलिसीधारक रिन्युअल की तारीख तक रिन्युअल प्रीमियम का भुगतान नहीं कर पाता है तो उसे कुछ अतिरिक्त मोहलत दी जाती है. इस अतिरिक्त समय में वह रिन्युअल प्रीमियम भरकर पॉलिसी रिन्यु करा सकता है. हालांकि इस अतिरिक्त समय में पॉलिसीधारक कवर नहीं होता है और न ही वह मेडिकल या स्वास्थ्य से जुड़ी किसी घटना जैसे एक्सीडेंट या बीमारी के इलाज आदि में क्लेम दाखिल कर सकता है.

थर्ड पार्टी बीमा न होना है जुर्म

वाहन के मामले में थर्ड पार्टी मोटर बीमा के बिना गाड़ी चलाना जुर्म है और ऐसा करने पर मोटर व्हीकल्स (अमेंडमेंट) एक्ट के तहत जुर्माना लग सकता है. अगर गाड़ी चलाते वक्त किसी अन्य व्यक्ति या प्रॉपर्टी को कोई नुकसान पहुंचता है या गाड़ी से किसी की मौत हो जाती है तो गाड़ी के मालिक को मुआवजे का भुगतान उस व्यक्ति या उसके परिवार को करना होता है. इसीलिए थर्ड पार्टी बीमा होता है.

Input: PTI

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. अब 15 मई तक रिन्यू करा सकेंगे स्वास्थ्य व मोटर बीमा, लॉकडाउन बढ़ने से वित्त मंत्रालय ने आगे बढ़ाई तारीख

Go to Top