मुख्य समाचार:

तीन अंकों का क्रेडिट स्कोर कैसे रखें बेहतर? ध्यान रखें ये 6 बातें

आमतौर पर लोगों का मानना है कि क्रेडिट स्कोर सैलरी और बैंक बैलेंस पर निर्भर करता है जबकि यह पूरी तरह सच नहीं है.

May 5, 2019 8:31 AM
क्रेडिट स्कोर, CRDEIT SCORE, HOW TO INCREASE CREDIT SCORE, क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाएं CRDEIT card, crdeit line, credit utilisation ration, cur, credit applications, repayment history, credit card, crdeit balance, क्रेडिट कार्ड, क्रेडिट बैलेंस, 750+ से अधिक का क्रेडिट स्कोर बेहतर माना जाता है.

तीन अंकों का Credit Score न सिर्फ आपके लोन अमाउंट को बढ़ाने के फैसले में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है बल्कि इसके जरिए आपके लिए लोन रिपेमेंट की शर्तें भी तय की जाती हैं. आसान शब्दों में कहा जाए तो 750+ से अधिक का क्रेडिट स्कोर न सिर्फ आपके क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन, होम लोन, कार लोन जैसे क्रेडिट एप्लीकेशन के स्वीकृत होने की संभावना बढ़ा सकता है बल्कि आपको कम ब्याज दर जैसे फेवरेबल रिपेमेंट टर्म्स भी मिल सकते हैं. आमतौर पर लोगों का मानना है कि क्रेडिट स्कोर सैलरी और बैंक बैलेंस पर निर्भर करता है जबकि यह पूरी तरह सच नहीं है. आइए क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करने वाले 6 प्रमुख कारकों को समझते हैं.

Credit Score को प्रभावित करने वाले 6 प्रमुख कारक

रिपेमेंट हिस्ट्री

आपकी रिपेमेंट हिस्ट्री क्रेडिट स्कोर में बहुत महत्त्वपूर्ण भूमिका में होती है. अगर आप अपने लोन को तय समय पर चुकता करते रहे हैं और कभी भी कोई पेमेंट डेडलाइन चूके नहीं हैं तो यह क्रेडिट स्कोर को बेहतर करता है. लोन डिफॉल्ट, बैंकरप्सी और लेट पेमेंट पेनाल्टी से क्रेडिट स्कोर कम होता है. क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने के लिए यह सलाह दी जाती है कि अपने लोन को रिपेमेंट को समय पर चुकता करें और यह सुनिश्चित करें कि होम लोन जैसे किसी मेजर लोन के लिए आवेदन करने से एक साल पहले से ही आप लोन रिपेमेंट को लेकर अनुशासित हो गए हैं.

क्रेडिट लाइन

रिपेमेंट हिस्ट्री के बाद आपके वर्तमान क्रेडिट लाइन की उम्र का नंबर आता है. आप कितने लंबे समय तक लोन रिपेमेंट के लिए अनुशासित रहे हैं, यह आपको क्रेडिट स्कोर के लिए अच्छा है. अगर आपका कोई क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है तो आपके लिए बेहतर क्रेडिट हिस्ट्री होनी जरूरी नहीं है. इसकी बजाय आप सबसे पहले एक क्रेडिट लाइन शुरू करें और इसके रिपेमेंट के लिए अनुशासित बने रहें मतलब कि समय पर रिपेमेंट करते रहें. इससे आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर होगा.

क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो (CUR)

कुल क्रेडिट लिमिट की तुलना में आपका कुल आउटस्टैंडिंग क्रेडिट बैलेंस कितना फीसदी है, इसे ही क्रेडिट यूटिलाइजेशन कहते हैं. अगर यह 30 फीसदी से कम है तो आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर है. इसे समझने के लिए मान लेते हैं कि आपके पास दो क्रेडिट कार्ड है जिसमें एक का आउटस्टैंडिंग बैलेंस 10 हजार रुपये और दूसरे पर 20 हजार रुपये है.

मान लेते हैं कि दोनों कार्ड की लिमिट 1-1 लाख रुपये है तो आपका सीयूआर 15 फीसदी (30000/200000 x 100) होगा. यह आपके क्रेडिट स्कोर को बेहतर करेगा. अब मान लेते हैं कि आपके दोनों कार्ड पर 1-1 लाख रुपये का आउटस्टैंडिंग बैलेंस है तो आपका सीयूआर 50 फीसदी हुआ जो आपके क्रेडिट स्कोर को बहुत कम करेगा. ऐसी परिस्थिति से बचने के लिए कभी भी अपना सीयूआर 30 फीसदी से अधिक न होने दें.

क्रेडिट मिक्स

अगर आपका क्रेडिट प्रोफाइल डाइवर्सिफाइड है तो इससे क्रेडिट स्कोर बेहतर होता है. इसका अर्थ यह हुआ कि अगर आपने कई प्रकार के क्रेडिट लाइन्स जैसे कि क्रेडिट कार्ड अकाउंट के साथ पर्सनल लोन और कार लोन को बेहतर तरीके से मेंटेन किया हो और पूरी तरह चुकता किया हो तो इससे आपकी बेहतर हैंडलिंग क्षमता का पता लगता है.

क्रेडिट एप्लीकेशंस की संख्या

हममें से कई लोग क्रेडिट कार्ड और पर्सनल लोन जैसे कई क्रेडिट लाइन के लिए एक साथ अप्लाई करने की गलती कर देते हैं. इससे क्रेडिट स्कोर डाउन होता है. मल्टीपल क्रेडिट एप्लीकेशन आपकी क्रेडिट डेस्पेरेशन को दिखाता है.

गलतियां

अपना क्रेडिट स्कोर चेक करने के दौरान अपना पैन डिटेल्स सावधानीपूर्वक एकदम सही-सही भरें. इसमें थोड़ी-सी भी गलती स्कोर खराब कर सकती है. सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण यह है कि आपके पास्ट रिपेमेंट्स, इंटरेस्ट पेमेंट्स, पेनाल्टी जैसे क्रेडिट-लिंक्ड ट्रांजैक्शंस के बारे में आपके लेंडर ने सही-सही जानकारी दी हो. अगर बैंक ने इनमें थोड़ी-सी भी मिस्टेक की होगी तो यह आपके क्रेडिट स्कोर को खराब कर सकता है.

 

By- आदिल शेट्टी, सीईओ, बैंकबाजारडॉटकॉम

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. निवेश-बचत
  3. तीन अंकों का क्रेडिट स्कोर कैसे रखें बेहतर? ध्यान रखें ये 6 बातें

Go to Top